Rewards
पूतना प्रेम- बच्चो के भावनाओंके साथ खिलवाड़

■■■■■■■■■■■■■■■■■■■◆◆◆◆

कनिका को नए मुहल्ले में शिफ्ट हुए अभी ज्यादा दिन नहीं हुआ था।इसलिए नये मुहल्ले में किसी को वो ज्यादा जानती नही थी। पुरे दिन घर को सेट करने के बाद वो शाम की चाय लेकर अक्सर अपनी बालकनी से खड़े होकर मुहल्ले में खेलते हुए बच्चो को देखती । शहर के भीड़ भाड़ वाले इलाके से हटकर ये मुहल्ला काफी शांत था।;

एक शाम वो चाय लेकर अपनी बालकनी से मुहल्ले में खेलते हुए बच्चो को देख रही थी। आज ज्यादा बच्चे थे नही। तभी दो बच्चे ,जिनकी उम्र लगभग पांच साल की होगी । खेलते हुए आपस में लड़ने लगे।एक बच्चे का शायद वो पापा ही थे ,आते हुए दिखे ।वो प्यार से अपने बेटे को गोद में ले लिए और उससे कुछ बाते करने लगे। दूसरा बच्चा जो वही खड़ा था को अपने बच्चे के हाथों एक दो थप्पड़ लगवाए । जो बच्चा थप्पड़ खाया वो रोते रोते अपने घर के अंदर चला गया ।कनिका को ये सब देखकर काफी बुरा लगा । कनिका शाम को दीपक (कनिका का पति) के ऑफिस आने के बाद ये सब बाते बताई । दीपक भी ये सब सुनकर कनिका को हिदायत दी की वो अपने डेढ़ साल के बेटू को किसी के भरोसे न छोड़े या अकेले बाहर न जाने दे। कनिका भी थोड़ी सतर्क हो गयी अपने बच्चे को लेकर ।

कुछ दिनों बाद उसके घर दो लेडीज आई ,साथ में वही उस दिन वाले बच्चे भी उनके साथ थे। कनिका उन्हें बैठाई और नाश्ता करवाने लगी। ये लेडीज सुनीता और रमा थी। दोनों बच्चो की माँ थी ,और आपस में सहेलियां। दोनों बच्चों का नाम टुकु और मुनमुन था। मुनमुन,जो सुनीता का बेटा था ने ही उस दिन अपने पापा के गोद से टुकु को मार रहा था। लेकिन अभी ऐसा लग रहा था कि सुनीता ही टुकु की असली माँ है, वो दोनों बच्चो को साथ में बैठा कर खेल रही थी ।

ये देख कर कनिका पास बैठी रमा से बोली - "एक दिन मैंने अपनी बालकनी से दोनों को आपस में लड़ते हुए देख रही थी । "

तभी सुनीता ने बात काटते हुए कहा - "हा हम अक्सर एक दूसरे के घर अपने बच्चे को छोड़ देते है , बच्चे साथ खेलते रहते है ।आप भी अपने बेटे को हमारे पास छोड़ सकती है। " फिर रमा बोली - "हा कनिका वैसे भी मेरा टुकु इनका ही दत्तक पुत्र है ।"

कनिका ने आश्चर्य से सुनीता के तरफ देखी - "अरे नही ये बस मजाक कर रही थी । दरअसल में ज्यादातर समय टुकु मेरे घर रहता है इसलिए ये ऐसा बोल रही है।"

कनिका की नजरों के सामने उस दिन की घटना दौर गयी। लेकिन वो अब चुप रहना ही बेहतर समझी। सुनीता अब अक्सर कनिका के घर आती , कनिका का बेटू भी उसे थोड़ा बहुत पहचानने लगा था। इसी बीच एक मजेदार वाकया हुआ। सुनीता बेटू के प्रति भी अपने अथाह प्रेम को दिखाती थी ,एक दिन वो अकेले ही कनिका के घर आई। कनिका को कुछ काम था ,वो सुनीता को बोली की थोड़ी देर वो बेटू को सम्हाले वो छत से कपडे लेकर आ रही है। सुनीता बोली - "आप चिंता नहीं करो, आप आराम से अपना काम करो।"

;कनिका कभी बच्चे को उसके हवाले नही करती थी ।लेकिन आज मजबूरी थी तो वो छत पर चली गयी। तभी थोड़ी देर में बच्चे के रोने की आवाज आई और साथ में सुनीता के भनाभनाने की। कनिका उल्टे पैर छत से भागी । तो देखती है कि सुनीता ने बेटू को नीचे सुलाई हुई है और अपना वो हाथ धो रही है ।क्योंकि बेटू ने पॉटी कर दी थी।

सुनीता कनिका को देख बोली-" देखो न तुम्हारे बेटू को गोद में लिया ही था कि उसने पॉटी कर दी ।"

मैं जल्दी से गोद से उतारी तो इसी में ये थोड़ा गिर गया और रोने लगा। कनिका की आखो के सामने उस दिन की घटना याद आ गई। वो चुपचाप बेटू को गोद में लेकर उसे साफ की और चुप कराने लगी। क्यूंकी सुनीता से वो क्या उम्मीद कर सकती थी जी सिर्फ प्रेम का दिखावा ही करती है । सुनीता भी थोड़ी देर बाद वहाँ से चली गयी।

कनिका को सुनीता का ये प्रेम पूतना के उस प्रेम की तरह ही लगने लगा,जिसमे वो कृष्ण को सिर्फ दिखावा के लिए दुलार करती है ।लेकिन उनका मकसद कुछ और होता है।

दोस्तों, आज के युग में एकल परिवार के बढ़ते प्रचलन ने हम सबकुछ अकेले करने के आदि हो रहे है,उसमे कोई जान पहचान या किसी की मदद मिल जाती है तो हमें उस पर अथाह विश्वास होने लगता है ,लेकिन हमें इस बात का पूरा ध्यान रखना चाहिए की हमारा ये अथाह विश्वास हमारे बच्चे के लिए कही गलत ना साबित हो। क्यूंकी बच्चो का मन बहुत नाजुक होता है,उनके साथ ऐसा दोगला व्यवहार उनके मन पँर काफी बुरा असर डाल सकता है।

मेरे इस ब्लॉग के सम्बन्ध में आपका क्या विचार है? अपने सुझाव और विचार साझा करे। मेरे दूसरे ब्लॉग को पढ़ने के लिए कृप्या मुझे फॉलो करे।

धन्यवाद

आपकी दोस्त;

पम्मी राजन

#merasafar #kolkatamoms

#hindiblogger

#babychakraapp


meghana kiran Madhavi Cholera Madhuri Dr. AMRITA MALLIK Sweta (@cloudandsunshine.com) Nilofer shaikh@mommyingandmore Sathya Kalaiselven Mahima Atishaya Saumya Pillai Sapna Senthil Kumar sreekanna Upasana Sai Rajeswari Sulbha Bathwal Priyanka Maheshwari Hemalatha Arunkumar Sonam patel Soma Sur Srishti Biltoria Akanksha and Ida (ida_tales) Rashmi Choudhury Mariyum Aaquib ( inas_and_mamas ) revauthi rajamani Dr Sweta Bajaj Archana Bhosale Kuljeet kaur Shridevi Pawan Shilwant Dr. Farah Adam Mrs. Shweta Kalyankar Rebecca Prakash Parul_Tiwari@a_magical_voice Vipra Naik Akanksha Bhuri Renuka Pillai Samidha Mathur Shristhy thapa Anisha Agarwal Amritha Srinath Sowmya Prithvi Priti Raghuvanshi Anjali Naik Farheen Khan Abhilasha Jaiswal Sania Bhushan Garima Singla Sunita Pawar Charu Gujjal @themomsagas Dhara Popat Saman Khan Akansha Bansal @BuddingStar Kavita Sahany Bhargavi Goswami Foram KModi (Slimpossiblediet) Kinshoo (momlearningwithbaby) Priya Sharma Nancy Singh Hema Gayatri Saria Nazneen Iqbal Avin Kohli Nikita Bhawsinka Arulmozhi Nandakumar Mansee Nisar Gayatri Deshmukh Pria Aithal Shreya Sonam Jauhri Misba Khan Mayuri Kacha Sindhu Vinod Narayan Rucha Tembe Salma Mehajabeen Shajahan Alizeh Tarotforu Shambhavi Satarupa B Kaur Priyanka Arora Nisha pais Godhuli Dube Kapila@evrylitlthing.happiness Sonal Shende sunaina sharma Sapna bansal Dt Sarika Nair Sneha Khandait Deepti Arora durga salvi Vidya Shashank Priyanka Jaiswal Reshma R Rakhi Puri (beautyofmommying) anjna gautam ROOPTARA Varsha Rao Himani Sharma Varshha Sagar Tolani Revati Narayanswamy Prajakta Marati Ankita Panigrahi MeenalSonal Priyanka Ahire saumya Nair rajesh Bhrukuti Mistry Razina Bolim garima Sunainaa Chadha Aaisha Sarwar Lichhma & Kailash babies_ musthave Akansha Sharma Neha bhalla(mommytomyson_neha) Vani Leena Jha Neha bhalla(mommytomyson_neha) poorvi khare Dr. Payal M Himali Parikh Shipra Trivedi Smita Saksena Ankita Chopra mansi kapoor Reetika Gupta poorvi khare Antima Singh Pooja Jain Geetika Bajaj Pooja Singh Jayshree Bhagat Shruti Shah Preet @mylittlemuffin_mom Aditi Dr. Priyanka Dhargalkar Pavit Nanda Fareha Nousheen Moupali Ray Ritu rathore Shwetha Mihir( chweetbmyworld) Preethi Pattabiraman nimmi rathore Tamizh muhil Prakasam Pooja Patil Madhavi & Yuvaan Deepa Deepa Manikyam Cherthedath Sheeba Rizvi rupal jain resMOMsibility By Samriddhi Anushka Dave Pammy Rajan Rajashree Ghosh Mumtaz Surani Preethi Pattabiraman Ruchi Saxena Shweta Vyas Chetna Sharma Swapnil Dwivedi Sandhya Vivek Min.

Acha likhte ho ap,, sach hai ye hote h log aise dusro k bcho ko yu hi smjhte h

Thank you Himani Sharma

Aise logo se bacho ko door hi rakhna chahiye jo muh par kuch aur hote hain n peeth piche kuch aur.Logo ke dilo main insaaniyat bilkul khatam ho chuki hain

We should be very careful with our kids

Thank you very much to all


Suggestions offered by doctors on BabyChakra are of advisory nature i.e., for educational and informational purposes only. Content posted on, created for, or compiled by BabyChakra is not intended or designed to replace your doctor's independent judgment about any symptom, condition, or the appropriateness or risks of a procedure or treatment for a given person.

Recommended Articles

Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/134995