babychakra-rewards
#newmomtips

स्तनपान करवाती महिलाओं के लिए अजवाइन का पानी..

आयुर्वेद के मुताबिक, अजवाइन पानी गर्भवती और नवप्रसूता महिलाओं की पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने और इम्युनिटी बढ़ाने के लिहाज से काफी मददगार होता है। साथ ही, इसके सेवन से स्तनपान कराने वाली महिलाओं को दूध भी अधिक बनता है। इतना ही नहीं, प्रसव के बाद तीन दिनों तक सादा पानी पीने के बजाय केवल अजवाइन वाला पानी पीने से शरीर के अंदर जमी गंदगी दूर होती है।

आयुर्वेद के अनुसार, प्रसव के बाद अजवाइन महिलाओं के लिए इसलिये फायदेमंद है, क्योंकि यह बेहतरीन क्लींजर का काम करता है। यह भूख को बढ़ाने और पाचन को सही रखने में मदद करता है।

अजवाइन पानी के फायदे

अजवाइन पानी गर्भाशय को साफ करता है।

1. प्रसव के बाद आमतौर पर होने वाली गैस, कब्ज़ और एसिडिटी नहीं होने देता।

यह मूत्राशय को साफ रखता है।

अजवाइन पानी पेट फूलने का इलाज करता है।

यह प्रसव के बाद दर्द को कम करने में मदद करता है।

जोड़ों संबंधी दर्द को भी कम करने में मददगार है।

प्रसव के बाद अजवाइन पानी का इस्तेमाल वजन कम करने के लिए भी फायदेमंद है।

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के दूध में अजवाइन की मौजूदगी से शिशुओं को पेट दर्द और मरोड़ या गैस की दिकक्त कम होती है।

कितने समय तक इस्तेमाल करें

2. प्रसव के बाद, महिलाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर हो जाती है। ऐसे में आयुर्वेद के मुताबिक अजवाइन को एक से डेढ महीने तक इस्तेमाल करना चाहिए।

3. ऐसे करें इस्तेमाल

अजवाइन के बीज़ों को भूनकर खा सकते हैं या कच्चा भी चबा सकते हैं। वहीं इसके बीजों को पानी में पाउडर बनाकर मिलाने या भिगोकर इस्तेमाल करने के भी अनेक फायदे हैं।

अजवाइन पानी बनाने की सामग्री

1. 25 ग्राम अजवाइन

2. एक गिलास पानी

3. एक चम्मच शहद

4. सूखा अदरक पाउडर यानी 5. 5. सौंठ (एक चम्मच)

6. काला नमक (एक चुटकी)

अजवाइन पानी (सुबह में पीने के लिए) बनाने का तरीका

इसे बनाने की विधि काफी सरल है। सबसे पहले 25-30 ग्राम अजवायन को एक गिलास गुनगुने पानी में रात भर भिगो दें। सुबह इसे हिलाएं और छान लें। इसे हल्का गुनगुना कर लें और इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर पी लें।

5. अजवाइन पानी (दिन में पीने के लिए) बनाने का तरीका

एक गिलास पानी गर्म कर लें। इसमें एक चम्मच अजवाइन का पाउडर डालें। एक छोटा चम्मच सूखा अदरक पाउडर (सौंठ), और एक चुटकी काला नमक डालकर अच्छी तरह मिला लें। इसे गुनगुना कर पिएं। इससे पेट की गैस और गैस्ट्राइटिस से राहत मिलती है। साथ ही, गर्भाशय की गंदगी भी साफ होती है।

6. सादे पानी की जगह लें अजवाइन पानी

गर्भाशय को साफ करने के लिए अजवाइन बीज के 2 चम्मच लेकर उन्हें भून लें। अब इन भूने हुए बीजों को पीस लें और एक गिलास यानी 200 मिली पानी में मिलाकर उबाल लें। दिन में प्यास लगने पर किसी भी समय इस पानी की पीती रहें। शुरू के तीन दिन सादे पानी की जगह उबाले हुए अजवाइन पानी का इस्तेमाल करें।


Bahut Achi Jankari hai


Get the BabyChakra app
Ask an expert or a peer mom and find nearby childcare services on the go!
Phone
Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/95834