Rewards
प्राकृतिक और सामान्य प्रसव के लिए 8 बेहतरीन टिप्स Best 10 Tips for Natural & Delivery in Hindi

1. एक चिकित्सक से परामर्श करें;Consult a Physician

एक अच्छे Obstetrician / Gynecologist से संपर्क करें और बिच-बिच में check up करवाएं। ऐसे डॉक्टर से संपर्क करें जो normal delivery को ज्यादा;प्राथमिकता देते हो ना की;c-section सिजेरियन। अगर आपको लगता है की वह आपकी मदद सही तरीके से नहीं कर रहे हैं तो दूसरा कोई डॉक्टर चुनने के लिए देर ना करें।

एक अच्छा डॉक्टर हमेशा आपकी हर बात को सुनता है, आपकी परेशानियों का हल निकालता है और साथ ही नियम अनुसार आपके सभी टेस्ट और रिपोर्ट्स को ध्यान से देखता है।

2. बच्चे के जन्म और प्रसव के विषय में पूरी जानकारी रखें;Get Prenatal and Pre-Delivery information

गर्भावस्था के दौरान ज्यादा से ज्यादा प्रसव और;शिशु के जन्म;से जुडी जानकारियाँ प्राप्त करें। जानें प्रसव के दर्द और उससे सहने कि ताकत के बारे में। इससे आपको हिम्मत मिलेगी और ज्ञान भी।

यह सब जरूरी इसलिए है इसलिए इन्टरनेट पर रिसर्च करें, अच्छी किताबें पढ़ें, और गर्भावस्था के बारे में पूरी जानकारी रखें। इससे एक सुरक्षित और आसान प्रसव के लिए आपको मदद मिलेगी।

3. नियमित रूप से व्यायाम करें Do Regular Exercises

गर्भावस्था के समय ज्यादातर महिलाएं आराम बहुत करती है। आराम करना बुरा तो नहीं है परन्तु ज्यादा आराम करना भी सही नहीं है। गर्भावस्था के दौरान छोटे मोटे व्यायाम करना और घर का छोटा मोटा काम करना शरीर के लिए लाभदायक होता है।

छोटे मोटे व्यायाम से पेट के नीचले हिस्से के मांशपेशियों को मजबूती मिलती है। साथ ही;जांघ की मांसपेशियों को ताकत मिलता है जिससे ;प्रसव पीड़ा (labor pain) कम होता है।

आप चाहें तो कुछ Prenatal Exercises/Yoga भी कर सकते हैं। इससे मन को शांति और चिंता मुक्त होता है।

हमेशा याद रखें किसी भी प्रकार का व्यायाम करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें और सही प्रकार से करें।

4. तनाव से बचें Stay Away from Stress

तनाव और चिंता से पूरी तरीके से दूर रहें। शांति और सुविचारों से जुड़े रहें। जितना हो सके अच्छी किताबें पढ़ें और;अच्छे माता-पिता बनने;और बच्चे कि देखभाल से जुड़े टॉपिक्स को चुनें।

ऐसी जगह और बातों से दूर रहे जिनसे आपका चिंता या तनाव बढ़ता हो।

5. सही खाना खाएं Eat Proper Food

अच्छा और सही भोजन करना बहुत आवश्यक है। अच्छा और पौष्टिक आहार मात्र आपके स्वास्थ्य के लिएनहीं बल्कि पेट में पल रहे बच्चे के सही विकास के लिए भी जरूरी है। पौष्टिक आहार से शरीर तंदरुस्त रहता है और प्रसव के समय और उसके बाद भी मदद करता है।

गर्भावस्था में शरीर को पानी की आवश्यकता बहुत होती है इसलिए जितना ज्यादा हो सके उतना पानी पियें और हरी सब्जियां खाएं। ज्यादा चर्बी युक्त भोजन खाने से मोटापा बढ़ सकता है जो सामान्य प्रसव में;बाधा डाल सकता है।

6.;सही श्वास तकनीक का अभ्यास करें Practice Proper Breathing Techniques

अनुलोम विलोम प्राणायाम विधि व लाभ Anulom Vilom Pranayam Steps Benefits in Hindi

गर्भावस्था में श्वास से जुड़े व्यायाम भी बहुत लाभदायक होता हैं।प्रसव के समय साँस कप समय-समय पर रोकना पड़ता है इसलिए यह व्यायाम करना बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। बच्चे को विकास के लिए ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन कि आवश्यकता होती है।

इसलिए ध्यान (meditation) और सही श्वास तकनीक का अभ्यास और लम्बी साँस भरने के व्यायाम करना बहुत ही अच्छा होता है। यह व्यायाम सामान्य प्रसव के संभावना को और भी बढ़ा देते हैं।

7. अच्छी सकारात्मक विषय की किताबें पढ़ें Read Positive thoughts Book

माना जाता है जन्म होने से पहले भी बच्चे को माँ से बहुत कुछ genetically मिलता है। अच्छी सकारात्मक विषयों से जुड़े किताबें और ज्ञानवर्धक कहानियाँ पढने से बच्चों के दिमाग का विकास भी अच्छे से होता है।

अच्छी कहानियाँ पढ़ें साथ ही बच्चे कि;देखभाल;से जुड़े किताबों को पढ़ें। उनसे आपके गर्भावस्था के समय और बाद में भी बहुत मदद मिलेगी और मन भी खुश रहेगा।

कभी भी डरावनी कहानियाँ, या नकारात्मक विचारों की किताबें बिलकुल ना पढ़ें इससे बच्चे के दिमाग को बुरा असर पड़ता है।

8. Sleep More अच्छी नींद सोयें

अच्छी नींद और आराम करने से बच्चे का विकास अच्छे से होता है। रात के समय ज्यादा देर तक टीवी ना देखें और समय पर सोयें। प्रेगनेंसी रात के समय 7-8 घंटा कम से कम सोना बहुत आवश्यक होता है।

चाय, कॉफ़ी और शराब का सेवन बिलकुल ना करें। जितना ज्यादा हो सके उबाला हुआ पानी पियें।


Thanks for sharing... Bahut Achi Jankari hai

Very informative, thanks


Suggestions offered by doctors on BabyChakra are of advisory nature i.e., for educational and informational purposes only. Content posted on, created for, or compiled by BabyChakra is not intended or designed to replace your doctor's independent judgment about any symptom, condition, or the appropriateness or risks of a procedure or treatment for a given person.
Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/98710