Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!

बढ़ती उम्र से बचाते हैं ये आसान प्राकृतिक उपाय

cover-image
बढ़ती उम्र से बचाते हैं ये आसान प्राकृतिक उपाय

 

आजकल सिर्फ उम्रदराज ही नहीं, बल्कि कम उम्र के लोगों की भी एंटी एजिंग और चेहरे का चमक छिनने की शिकायत हो रही है। हालांकि, इसके पीछे प्रदूषण के साथ साथ खराब खानपान और तनावपूर्ण जीवनशैली भी है। पुरुषों से ज्यादा महिलाएं अपनी स्किन को लेकर सेंसटिव होती हैं। इसके अलावा महिलाओं के शरीर में समय समय पर हॉर्मोन्स में बदलाव भी आता है। जिसका सीधा असर महिलाओं के चेहरे पर पड़ता है। एंटी एजिंग और झुर्रियों से बचने के लिए दवाओं और कैमिकल्स लेने के बजाय अच्छे लाइफस्टाइल और घरेलू नुस्खों पर जोर देना चाहिए। आज हम आपको एंटी एजिंग से बचने के लिए कुछ आसान और कारगार घरेलू उपाय बता रहे हैं।

 

बढ़ती उम्र के लिए प्राकृतिक उपाय

 

तैलीय त्वचा वालों को चेहरे पर अण्डे का सफेद भाग लगाना चाहिए। इससे एंटी एजिंग से तो छुटकारा मिलता ही है साथ ही चेरा ग्लो भी करता है। शुष्क त्वचा वालों को अण्डे का पीला भाग लगाना चाहिए। त्वचा के रोम छिद्रों को संकुचित करने के लिए अण्डे बहुत महत्वपूर्ण हैं और इनसे झुर्रियों से भी बचाव हो सकता है।

 

फ्री रेडिकल्स त्वचा पर झुर्रियां और स्किन एजिंग की अन्‍य समस्‍याओं को जन्‍म देते हैं। ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से त्‍वचा की रक्षा करते हैं।

 

अनफर्मैंटेड पत्तियों से बनने वाली ग्रीन टी में सबसे पावरफुल एंटी  ऑक्सीडेंट कैटेचिन की मात्रा ज्यादा होती है, जो शरीर को लंबे समय तक स्वस्थ बनाए रखती है।

 

खूबसूरत त्वचा पाने के लिए अपनी त्वचा के अनुरूप क्रीम चुनें। दो से तीन बड़े चम्मच से क्रीम लें और उससे चेहरे पर अपवर्ड सर्कुलर मूवमेंट में मसाज़ करें और जादू देखें। इससे ना केवल आपकी त्वचा दमकेगी, बल्कि चेहरे की शुष्कि भी खत्म हो जायेगी।

 

क्लीजिंग चेहरे से धूल और गंदगी हटा कर त्‍वचा को साफ और ताजा बनाए रखती है। एस्ट्रिंजेंट के साथ त्‍वचा की टोनिंग प्राकृतिक संतुलन को बनाए रखती है और त्‍वचा को हाइड्रेटेड भी करती है। साथ ही मॉइस्चराइजर त्‍वचा की प्राकृतिक नमी को बनाए रखता है और त्‍वचा को मुलायम और चमकदार बनाता है।

 

नीबू का रस, सेब का रस और अनानास के रस दमकती त्वचा के लिए सबसे अच्छे घरेलू नुस्खे हैं। जूस के मिश्रण को चेहरे पर लगाकर 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें और फिर चेहरा धो लें। फलों में एस्ट्रिन्जेन्ट और ब्‍लीचिंग के गुण होते हैं जिससे आपकी त्वचा पर प्राकृतिक निखार आयेगा।

 

सूर्य की‍ किरणों से त्‍वचा पर असमय झुर्रियां आने लगती हैं। इसलिए धूप में जाने से पहले अपनी त्‍वचा पर सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल अवश्‍य करें। सनस्‍क्रीन का नियमित इस्‍तेमाल आपकी त्‍वचा की सूर्य के यूवीए और यूवीबी के हानिकारक प्रभावों से रक्षा करता है। साथ ही यह आपको टेनिंग और त्‍वचा कैंसर से भी बचाता है।

 

तरबूज का सेवन भी त्‍वचा और स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है। इसके नियमित सेवन से चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती है। तरबूज में एंटीऑक्‍सीडेंट, विटामिन सी, लाइकोपीन और पौटेशियम होता है जो कोशिकाओं में पानी और पोषक तत्वों के संतुलन को नियंत्रित करता है।

 

बहुत ज्‍यादा मेकअप भी कई बार झुर्रियों का कारण बनता है इसलिए झुर्रियों से बचने के लिए मेकअप कम से कम करना चाहिए और अपने रूटीन में मॉइस्चराइजर और लिप बाम को शामिल करना चाहिए। झुर्रियों से बचने के लिए यह भी कहा जाता है कि नियमित फ‍ेशियल से बचना चाहिए और कुछ दिनों के अन्‍तर में क्‍लीनअप करवाना चाहिए।

 

आपके चेहरे की खूबसूरती को अकसर ब्लैकहैड्स चार चांद नहीं लगने देते। लेकिन हमारे पास इसका इलाज है। पिसी हुई काली मिर्च और दही का पेस्ट चेहरे पर लगायें। इसे 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें और पानी से त्वचा धो लें और फर्क देखें।

 

यह भी पढ़ें: स्वस्थ जीवन के लिए अपनाएं यह ४ स्वस्थ आदतें

 

 

#babychakrahindi