Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!

स्वस्थ गर्भावस्था और भ्रूण के वजन के लिए जरूरी है पोषण

cover-image
स्वस्थ गर्भावस्था और भ्रूण के वजन के लिए जरूरी है पोषण

हर साल में जन्म लेने वाले बच्चों में से तकरीबन 30 लाख बच्चे (कुल जन्म लेने वाले बच्चों का 23.8%) औसत से कम वजन के पैदा होते हैं। ज्यादातर बच्चों को छोटी बीमारियों के अलावा मधुमेह और हृदय रोग जैसी गंभीर और लंबी चलने वाली बीमारी का सामना करना पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान कम पोषण वाले और कम मात्रा में पोषक तत्वों का सेवन करने का परिणाम न केवल महिलाओं के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, बल्कि जन्म के समय बच्चे के वजन और शुरुआती विकास पर भी असर कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान मां को पोषक आहार का सेवन करना चाहिए ये बच्चे के जन्म के समय और उसके बाद के स्वास्थ के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

पहली तिमाही

 पहला और दूसरा महीना:

गर्भावस्था के महत्वपूर्ण महीनों में से एक होने के नाते, यह वह समय भी है जब माँ को गर्भावस्था का एहसास होना शुरू होता है। इस समय माँओं को उल्टी होने और सुबह के समय मितली हो सकती है जो उनके खान-पान को प्रभावित कर सकता है। अपनी गर्भावस्था के दौरान आप आयरन, कैल्शियम और विटामिन वाले आहार लेना शुरू करें और सुनिश्चित करें कि आपके खाने में पौष्टिक तत्व अधिक हों।

 तीसरा महीना

गर्भावस्था के तीसरे महीने में भ्रूण, प्लेसेंटा और एमनियोटिक थैली का विकास होना शुरू जाता है। इस समय आप और आपके बच्चे को पर्याप्त वजन बढ़ाने में मदद करने के लिए एक संतुलित आहार वाले एक साप्ताहिक मेनू की आवश्यकता होती है। उल्टी और जी मिचलाने के कारण शरीर में पानी की कमी को रोकने के लिए हाइड्रेटेड रहें ( यानी पानी ज्यादा पिएं ) जो आपके और आपके बच्चे के वजन को प्रभावित कर सकता है।

 

 दूसरी तिमाही

 चौथा महीना

यह चरण आपके बच्चे की अच्छी वृद्धि और विकास का गवाह होगा। गर्भावस्था में तंत्रिका तंत्र इस बिंदु पर कार्य करना शुरू कर देता है।  आपका बच्चा अपना अंगूठा चूसने लगेगा, जंभाई लेगा, हाथ-पैर खींच सकता है और चेहरा बना सकता है। बीन्स जैसे ज़िंक से भरपूर भोजन करें। इसके सेवन से लंबे समय तक चलने वाली प्रसव-पीड़ा से बचाव है और यह बच्चे के कम वजन के खतरे को कम करने में सहायक होता है।

पाँचवा महीना

अपने प्रसव पूर्व विटामिन को कभी न छोड़ें। गर्भावस्था के दौरान अधिकतम भ्रूण वजन बढ़ाने के लिए नियमित रूप से इन विटामिनों का सेवन करें। पौष्टिक खाने की आदतों के साथ हल्के व्यायाम वाली दिनचर्या बच्चे के विकास के लिए सहायक होती है। अब आपके बच्चे के सिर पर बाल उगने लगेंगे और नरम महीन बालों की एक परत, उसके कंधों, पीठ और बाकी अंगों को ढंक लेगी।

छठा महीना

छठे महीने के अंत तक, बच्चे की उंगली और पैर की अंगुली के निशान दिखाई देने लगते हैं। शिशु पलकें झपकाना शुरू कर देता है और उसकी आँखें खुल जाती हैं। मां को अपनी हड्डी और दांतों को स्वस्थ बनाए रखने के अलावा, अपने आहार में कैल्शियम की अच्छी मात्रा को शामिल करने से कम वजन वाले शिशुओं और समय से पहले पैदा होने की संभावनाओं को कम किया जा सकता है।

 

तीसरी तिमाही

सातवाँ महीना

आपके शिशु के अंगों को विकसित होना जारी रहता है और उसकी त्वचा के नीचे वसा का भंडारण होने लगता है।  200 से 500 मिलीलीटर दूध का दैनिक सेवन बच्चे के वजन को बढ़ाने में चमत्कार कर सकता है। जबकि इस समय आपको गर्भावस्था के दर्द बढ़ने लगते हैं। आप संतुलित आहार के साथ सही मात्रा में प्रोटीन और आयरन ले कर इस दर्द को कम कर सकती हैं और ऊर्जावान बनी रह सकती हैं।

 आठवाँ महीना

इस महीने बच्चे का मस्तिष्क विकास करने लगता है और हर तरह के अनुभव करना शुरू कर देता है। अपने दैनिक आहार में अंडे लेना जारी रखें। अंडे फॉलिक एसिड और आयरन से भरपूर होने के कारण, बच्चे में जन्म दोष और कम वजन के पैदा होने के कारणों को रोकने और एम्नियोटिक झिल्ली को मजबूत करने में मदद करते हैं।

 नौवाँ महीना

आप अपनी डिलीवरी की तारीख के करीब पहुंचते ही अधिक चिंतित और बेचैन महसूस कर सकती हैं। शिशु के फेफड़ों का विकास इस महीने का मुख्य अंग है। इस महीने के अंत तक शिशु का वजन बहुत अधिक नहीं बढ़ेगा क्योंकि वह प्रसव के लिए तैयार होता है। स्तनपान और प्रसव के बाद के चरण के लिए अच्छी तरह से तैयार रहने के लिए स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन करें।

 

 

गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ, पौष्टिक आहार लेने के अलावा, तनाव से बचना, अच्छी नींद लेना और अपने और अपने बच्चे के लिए सही मात्रा में वजन बढ़ाने के लिए फिट रहना भी महत्वपूर्ण है। आखिरकार, एक स्वस्थ माँ ही एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देती है!

सूचना: खुराक और पोषण की सामग्री के सेवन करने का निर्णय लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लेना महत्वपूर्ण है।

इस आलेख में व्यक्त विचार, राय और सिफारिशें केवल लेखक की हैं और एक शैक्षिक सहायता के रूप में दिया गया है।