अस्पताल ले जाने वाले बैग (मैटरनिटी बैग) में क्या सामान रखें ?

cover-image
अस्पताल ले जाने वाले बैग (मैटरनिटी बैग) में क्या सामान रखें ?

आप अपनी गर्भावस्था के अंतिम चरण में हैं, और आपकी प्रसव की नियत तिथि केवल कुछ ही हफ्तों दूर है। अब समय है कि आप प्रसव और शिशु के जन्म;के बाद की जरुरतों के लिए सारा सामान इकट्ठा करना शुरु कर दें।बेहतर है कि आप करीब 36 सप्ताह की गर्भावस्था के समय से अपना अस्पताल ले जाने वाला बैग तैयार कर लें। इस तरह यदि आपको अचानक अस्पताल जाना भी पड़े, तो आपका सामान तैयार होगा।

 

घर से सामान लाने को लेकर अस्पतालों की अलग-अलग नीतियां होती हैं। अपने अस्पताल से यह पता कर लें कि आपको कौन सी चीज वहां से मिलेगी और कौन सी आपको खुद लानी है। मगर, यह बात भी ध्यान में रखें कि अस्पताल के कमरे हमेशा ज्यादा बड़े नहीं होते हैं। आपको अपने कमरे की छोटी अलमारी में ही सारा सामान रखना होगा।

 

अगर आप चाहें, तो दो बैग तैयार कर सकती हैं: एक तो प्रसव और शिशु के जन्म के तुरंत बाद के लिए और दूसरा अस्पताल में रहने के समय के लिए।आप बैग में रखने वाले जरुरी सामान की सूची के लिए हमारी चेकलिस्ट का प्रिंटआउट भी ले सकती हैं।

 

प्रसव के लिए आपको क्या सामान रखना चाहिए ?

 

अपनी चिकित्सकीय रिकॉर्ड की प्रतियां

चप्पलें

सूती जुराबें (यदि ठंड का मौसम है तो)

मालिश का तेल या लोशन, यदि आपको;प्रसव के दौरान;मालिश करवानी है तो।

होठों पर लगाने वाली बाम

स्नैक्स और पेय पदार्थ, यदि अस्पताल इनकी इजाजत दे तो।

आपके मनोरंजन, आराम और समय गुजारने में मदद के लिए किताबें, मैगजीन, गेम्स आदि।

मोबाइल फोन और उसका चार्जर। सुनिश्चित करें कि आपके फोन में इतना बैलेंस हो कि आप शिशु के जन्म के बारे में अपने निकट संबंधियों और दोस्तों को सूचना दे सकें।

नहाने-धोने का सामान (टॉयलेटरीज़)

हेयरबैंड :आप शायद अपने बालों को बांधना या उन्हें पीछे की तरफ रखना चाहेंगी।

तरोताजा महसूस करने के लिए वाटर स्प्रे बॉटल और गीले टिश्यू (वेट वाइप्स)।

पसंदीदा गानों की सीडी। कुछ अस्पताल सीडी प्लेयर उपलब्ध करा सकते हैं।

अधिक आरामदेह रहने के लिए तकिये और कुशन। शिशु के जन्म के बाद उसे;स्तनपान;करवाते समय भी ये काफी काम आएंगे।

 

अस्पताल में साथ रहने वाले साथी या बर्थ पार्टनर को क्या सामान रखना चाहिए?


बदलने के लिए कपड़े और नहाने-धोने के लिए सामान

हल्का-फुल्का नाश्ता (यदि अस्पताल में कैंटीन नहीं है तो)

जरुरत के समय के लिए एटीएम या क्रेडिट कार्ड

कुछ नकद व छुट्टे पैसे। हो सकता है अस्पताल में सभी जगह कार्ड से भुगतान करने का विकल्प नहीं हो, जैसे कि पार्किंग और कैंटीन आदि में।

मेडिकल इंश्योरेंस के कागजात (यदि कोई हों तो)

मोबाइल फोन और चार्जर

आरामदेह जूते , अस्पताल में आपके साथ रहने वाले व्यक्ति को बहुत दौड़-भाग करनी पड़ सकती है

घड़ी या टाइमर, ताकि;संकुचनों के समय पर नजर रखी जा सके

डिजिटल कैमरा या कैमकॉर्डर (यदि अस्पताल इजाज़त दे तो)

 

डिलीवरी के बाद के लिए क्या सामान रखना चाहिए?

 

वापिस घर जाते समय पहनकर जाने वाले कपड़े। अस्पताल में पहनने के लिए आपको ढीले आरामदेह कपड़े चाहिए होंगे और घर जाते समय भी ऐसे ही कपड़े सही रहेंगे। आपके पेट को अंदर होने में थोड़ा समय लगेगा, तो घर आने के बाद शुरुआती कुछ हफ्तों तक आपको मेटरनिटी कपड़ों की ही जरुरत पड़ेगी।

शिशु को स्तनपान;करवाने के लिए आने वाली विशेष ब्रा (नर्सिंग ब्रा)। एक या दो रख लें।

ब्रेस्ट पैड।

मैटरनिटी/सैनिटरी पैड। दो या तीन पैकेट रख लें।

रात को पहनने के लिए कपड़े या टॉप। स्तनपान करवाने के शुरुआती दिनों में सामने से खुलने वाले कपड़े ही सही रहते हैं।

शॉल, स्टोल या दुपट्टा, ताकि;स्तनपान;करवाते समय आप खुद को ढक सकें।

नहाने-धोने और मेक-अप का सामान

आरामदेह पैंटी : अपनी ज़्यादा महंगी पैंटी न लेकर आएं, क्योंकि वे गंदी हो जाएंगी। अगर आपका;सीजेरियन ऑपरेशनहोता है, तो घाव की जगह पर असहजता से बचने के लिए लचीली पैंटी पहनना ज्यादा आरामदेह रहेगा।

उचित आधार वाले जूते या सैंडल।

 

अपने नवजात शिशु के लिए क्या सामान पैक करना चाहिए?

 

मौसम को देखते हुए कपड़ों के चार सेट। रॉम्पर, स्लीप सूट, सूती झबले, टी-शर्ट, शॉट्र्स या लैगिंग्स, सभी सही रहेंगे।

अंदर पहनने के लिए तीन बनियान या वनज़ी। गर्मियों के मौसम में कपड़ों की एक परत ही काफी होगी।

सर्दियों में पैदा होने वाले शिशुओं के लिए दो स्वैटर, एक जोड़ी जुराब या बूटी ,एक टोपी।

शिशु के बिस्तर पर बिछाने के लिए दो सूती चादरें।

शिशु के मुंह से दूध निकलने पर, उल्टी या पेशाब करने पर या फिर स्तनपान के समय दूध गिरने से बिस्तर ​गीला हो सकता है। इसलिए हर तरह का गीलापन सोखने के लिए वाटरप्रूफ शीट प्रोटेक्टर या चादर के नीचे बिछाने के लिए प्लास्टिक की शीट।

शिशु के ओढ़नें के लिए एक बच्चों का कंबल। अगर सर्दी का मौसम हो तो गर्म और मुलायम कंबल लें। गर्मियों में तो हल्की सूती चादर ही शायद पर्याप्त रहेगी।

प्रतिदिन के हिसाब से 12 नैपी, नैपी पैड या डायपर।

गीले टिश्यू या वाइप्स और चेंजिंग मैट। ये;शिशु की नैपी बदलने;के लिए काम आ सकती हैंं।

एक मुलायम तौलिया

बाथरूम के लिए सामान (बेबी क्लींजर, शैम्पू, मालिश का तेल, हेयरब्रश, नाखून काटने का कटर)

शिशु के मुंह से दूध ​या उल्टी निकल जाने पर या फिर;स्तनपानकरते समय थोड़ा दूध निकल जाने पर मुंह पौंछने के लिए मुलायम सू​ती चौकोर कपड़े या हाथ पौंछने वाले तौलिये।

अस्पताल ले जाने वाला बैग तैयार हो जाने के बाद ,प्रसव के शुरुआती संकेतों के बारे में याद रखें ताकि आप प्रसव शुरु होने पर उसके लक्षणों को पहचान सकें।

 

यह भी पढ़ें: अपने अस्पताल बैग में पैक करने वाली आवश्यक वस्तुऐं!

 

#babychakrahindi
logo

Select Language

down - arrow
Rewards
0 shopping - cart
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!