नवजात शिशु के लिए सरसों के तेल की मालिश क्यों फायदेमंद है

cover-image
नवजात शिशु के लिए सरसों के तेल की मालिश क्यों फायदेमंद है

नवजात शिशु के लिए मालिश बहुत ही लाभदायक होती है। खास तौर से सर्दियों के दिनों में सरसों के तेल की मालिश करना शिशु के लिए बहुत अच्छा होता है।

सरसों के तेल की मालिश की सलाह हमेशा एक नई मां को दादी नानी से मिलती रहती है। क्योंकि सरसों का तेल प्राकृतिक गुणों से भरपूर होता है।

ठंड के मौसम में सरसों का तेल शिशु के शरीर को गर्म रखने में मदद करता है।

शिशु की मांसपेशियों के अच्छे विकास के लिए सरसों का तेल बहुत ही फायदेमंद है।

सर्दियों के मौसम में अक्सर शिशुओं को सर्दी जुकाम हो जाता है। सर्दी को दूर करने के लिए आप सरसों के तेल में अजवाइन, लहसुन, हींग मिलाकर गर्म किया जाए। और शिशु के सीने में लगाया जाए तो यह बहुत ही फायदेमंद होगा।

नवजात शिशु को इंफेक्शन का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। त्वचा संबंधी इंफेक्शन को दूर करने के लिए सरसों का तेल बहुत लाभकारी है। क्योंकि सरसों के तेल में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते है।

सर्दियों के मौसम में मच्छर बहुत ज्यादा पनप जाते हैं। नवजात शिशु को अक्सर मच्छर काटने की वजह से लाल दाने हो जाते है। अगर शिशु को सुलाने से पहले आप सरसों के तेल से मालिश करेंगे। तो मच्छर शिशु के आस-पास नहीं रहेगें।

सरसों के तेल से मालिश करते समय किन बातों का ध्यान रखें

सरसों के तेल में मिलावट नहीं हो।

शिशु की त्वचा में सरसों का तेल लगाने से पहले अपनी स्किन में भी इस्तेमाल करे। क्योंकि अक्सर सरसों का तेल इस्तेमाल करने से स्किन में जलन होने लगती है।

सरसों के तेल को बहुत ज्यादा मात्रा में नहीं ले।

शिशु के लिए किसी भी तेल का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।

#shishukidekhbhal #babymassage
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!