kya aapka smartphone aapke bacchon ke saath aapke rishtey ko prbhavit kar raha hai

kya aapka smartphone aapke bacchon ke saath aapke rishtey ko prbhavit kar raha hai

9 May 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

हम ऐसे समय में रहते हैं जहाँ स्मार्टफोन का घर पर छोड़कर, बाहर निकलने की  सोच ही नहीं सकते| हम सुबह उठते हैं, तो फ़ोन देखते हैं, काम  पर जाते हैं तो फ़ोन का इस्तेमाल करते हैं| काम करते समय, लोगों  से बात करते समय, हमारा हाथ अपने फ़ोन पर चला ही जाता है|

यहाँ हम कुछ बुरे  प्रभावो का जिक्र कर रहें है जो हमारे जीवन पर बुरा असर छोड़ रहें है :

1. याददाश्त !

हम अपने फ़ोन पर किसी को कॉल और सन्देश भेजने के लिए बहुत ज़्यादा  निर्भर हैं| हमारे फ़ोन् ने कैलेंडर, डायरेक्टरी, कैलकुलेटर आदि की जगह ले ली है| हमे किसी का जन्मदिन, फ़ोन नंबर, आदि के बार में  याद रखने की ज़रुरत नहीं पड़ती क्योंकि फ़ोन यह सब जानकारी दे देता है| इससे हमारी याददाश्त पर बुरा असर पड़ता है और हम अपनी स्वाभाविक त्रीवता खोने  लगतें हैं |

2. डोपामाइन

ऐसा क्यों है कि सब अपना फ़ोन बहुत ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं? इसका जवाब है डोपामाइन| डोपामाइन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो मस्तिष्क के प्रेरक पहलुओं से जुड़ा हुआ है।  यह खुशी और दर्द की  प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर  कर सकता है| इसी कारण सोशल मीडिया और उसपर होने वाली चीज़ें हमे खुश या दुखी करती है| डोपामाइन का शरीर में सक्रिय होने के वजह से हमे अपने आस-पास के लोगों से वो  समर्थन मिलता  है जो हम सब ढूँढ़ते हैं और यहइस तरह हमें इसकी बुरी लत लग जाती है |

3. मल्टीप्लायर इफ़ेक्ट

आप अपने बच्चे के साथ एक पूरा दिन बैठे रहे होंगे| लेकिन बार-बार अपना फ़ोन को देखना आपके लिए बुरा साबित हो सकता है| यह आपके बच्चे के साथ आपके रिश्ते को बिगाड़ सकता है| यह संभव है कि आपका बच्चा बड़ा होकर यही करेगा| अनुसंधान में पता चला  है कि आपके फ़ोन का इस्तेमाल करने से ,आपके पास के लोगों को जलन महसूस होती है क्योंकि आपका ध्यान फ़ोन पर  लगा रहता है, और यह पर  प्यार के रिश्तों पर प्रभाव डाल सकता है|

4. रोज़-रोज़ की बातें

अपने फ़ोन का ज़रुरत से ज़्यादा इस्तेमाल करने से आपको आपके आस-पास के लोगों से बात करने  में मुश्किल होगी| यह मुश्किल आपके बच्चे के अध्यापक से या जन्मदिन के पार्टी में लोगों से बात करने जैसी सामान्य चीज़ो  में भी हो सकती है| फ़ोन से दूर रहना आपको अजीब लग सकता है| यह प्रभाव  इस हद तक जा सकता है कि आप लोगों से मिलना बंद कर दे और इंटरनेट  पर  ही सबसे बात करें|

5. अलगाव

इंटरनेट का ज़्यादा इस्तेमाल करने से, आप अपने असली ज़िन्दगी से अलग हो सकते हैं| कुछ लोगों के लिए, ख़बरों को बार-बार देखना अपने बच्चे को मदद करने से ज़्यादा महत्वपूर्ण लगता है| अगर ज़्यादा ज़रूरी नहीं, तो उतना ही ज़रूरी|  यह  आपके ज़रूरी रिश्तों जैसे आपका आपके बच्चे से रिश्ते या पति पत्नी के रिश्ते  में दरार डाल सकता है,|  

6)  ध्यान अवधि

आप देखेंगे किआप अपने बच्चे को उसकी बातों को दोहराने को कहेंगे|  इसका कारण यह है कि या तो आप अपने फ़ोन पर बहुत देर से लगी हुई हैं या फिर आपकी ध्यान अवधि इतनी कम हो गयी है कि जो आपको बोला जाता है आप उसे जल्दी समझ नहीं  पाती हैं| इसके कारण आपका बच्चा अपने अनुभवों और बातें आपसे शेयर करना बंद कर देगा|

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop