• Home  /  
  • Learn  /  
  • नवरात्र के 9 दिन 9 देवियां और उनसे जुड़े 9 रंगों का महत्व
नवरात्र के 9 दिन 9 देवियां और उनसे जुड़े 9 रंगों का महत्व

नवरात्र के 9 दिन 9 देवियां और उनसे जुड़े 9 रंगों का महत्व

6 Apr 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

नवरात्र दुर्गा माँ के सम्मान में व अच्छाई की बुराई पर विजय होने के कारण उत्सव के रूप में मनाया जाता है। नवरात्र में देवी माँ के 9 रूपों की पूजा की जाती है। भारत के विभिन्न राज्यों में नवरात्र राज्यनुसार ढंग व रीति रिवाज़ों के साथ मनाया जाता है।


बंगाली दुर्गा पूजा को बड़ी श्रद्धा और धूम धाम के साथ मनाते हैं, शहर भर में दुर्गा माँ के पंडाल सजाये जाते हैं और हर मोहल्ले की रौनक देखने लायक होती है। महाराष्ट्र व गुजरात के लोग नवरात्र गरबा और डांडिया खेल कर मनाते हैं। एक बात जो सभी राज्यों को जोड़े रखती है वो है उन सबका देवी माँ पर अटूट विश्वास, श्रद्धा और मान्यता रखना है।


देश भर में महिलाएं और लड़कियाँ प्रत्येक दिन विभिन्न रंग के वस्त्र धारण करके दुर्गा माँ का त्यौहार मनाती हैं। हर दिन अलग-अलग रंग के कपड़े देवी माँ के अलग अलग रूपों को दर्शाते हैं। हर रूप में एक न एक विशेष खासियत होती है। हमें उन अच्छी आदतों को खुद में लाने का प्रयास करना चाहिए।

नवरात्र के 9 दिन एक-एक देवी व रंग का प्रतीक होते हैं। इस लेख में हम आपको उसी बारे में अधिक जानकारी देंगे। चलिए आगे पढ़ें रंग और उनके साथ जुड़ी देवी माँ का रूप और उसका महत्व पढ़ें।

21 सितम्बर 2017 – नवरात्र का पहला दिन


किस देवी को समर्पित: शैलपुत्री, इस दिन से जुड़ा रंग: ग्रे

इस दिन पारवती माँ का दूसरा अवतार, शैलपुत्री की आराधना की जाती है। शैलपुत्री पवित्रता और प्रकृति का प्रतीक मानी जाती हैं।

22 सितम्बर 2017 – नवरात्र का दूसरा दिन


किस देवी को समर्पित: ब्रह्माचारिणी, इस दिन से जुड़ा रंग: पीला

ब्रह्माचारिणी माँ पारवती का कुंवारा रूप है। इस अवतार में वे पूर्ण रूप से अक्षत और अनछुई मानी जाती हैं। उनकी पवित्रता दर्शाने के लिए पीले रंग के वस्त्र पहने जाते हैं।

23 सितम्बर 2017 – नवरात्र का तीसरा दिन


किस देवी को समर्पित: गायत्री, इस दिन से जुड़ा रंग: लाल

तीसरे दिन माँ गायत्री की अर्चना में मनाया जाता है। पारवती माँ का यह अवतार शेरनी की सवारी करता है और यह अवतार न केवल माँ बल्कि सम्पूर्ण स्त्री जाति के साहस और बल को दर्शाता है। इस कारण लाल रंग को इस दिन ग्रहण किया जाता है।

24 सितम्बर 2017 – नवरात्र का चौथा दिन


किस देवी को समर्पित: अन्नपूर्णा, इस दिन से जुड़ा रंग: हल्का नीला

अन्नपूर्णा माता को अन्नपूर्णेश्वरी के नाम से भी बुलाया जाता है। यह पारवती माँ अवतार है और अनाज/खाने की देवी मानी जाती हैं। खाने की बर्बादी करना इन्हे रुष्ट/क्रोधित कर देता है। अन्नपूर्णा माता को उपजाऊता और उर्वरता का प्रतीक माना जाता है। उन्हें खेतीबाड़ी से भी जोड़ा जाता है। इसीलिए इनकी ख्याति, सुप्रसिद्धता और प्रतिष्ठा गांवों में अधिक दिखाई देती है। नीले रंग के कपड़े पहनना इस दिन के लिए शुभ माना जाता है।

25 सितम्बर 2017 – नवरात्र का पांचवा दिन


किस देवी को समर्पित: ललिता, इस दिन से जुड़ा रंग: नारंगी

ललिता माँ का जन्म बनासुर नामक राक्षस के विनाश के लिए हुआ था। इन्हें शक्ति और शौर्य की देवी माना जाता है। नारंगी रंग के कपड़े इस दिन पहने जाते हैं जिनसे माँ प्रसन्न होती हैं।

26 सितम्बर 2017 – नवरात्र का छठा दिन


किस देवी को समर्पित: कात्यायनी, इस दिन से जुड़ा रंग: गहरा लाल

कात्यायनी माँ का अवतार तब प्रकट हुआ था जब महिषासुर दानव का विनाश करना था। कात्यायनी माँ भी पारवती माँ का ही अवतार है। यह माँ का यौद्धा वाला अवतार होता है जिसे निडरता और विश्वास का संकेत माना जाता है।

27 सितम्बर 2017 – नवरात्र का सातवां दिन


किस देवी को समर्पित: कालरात्रि, इस दिन से जुड़ा रंग: रॉयल ब्लू

सरस्वती माँ को कालरात्रि देवी के रूप में भी पूजा जाता है। माँ दुर्गाजी की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। कालरात्रि माँ ने कई राक्षसों और असुरों का विनाश किया था जब उनका युद्ध महिशासुर के खिलाफ हुआ था। कालरात्रि माँ का सबसे भीषण रूप होता है और गहरा नीला रंग धारण करना माँ का मन मोहने के लिए पहना जाता है।

28 सितम्बर 2017 – नवरात्र का आठवां दिन


किस देवी को समर्पित: दुर्गा, इस दिन से जुड़ा रंग: बैगनी

नवरात्र का आठवां दिन दुर्गा अष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

29 सितम्बर 2017 – नवरात्र का नवां दिन


किस देवी को समर्पित: महिशासुरमरधानी, इस दिन से जुड़ा रंग: हरा

महिशासुरमरधानी माँ ने असुर महिषासुर का नाश किया था। इस दिन हरे रंग के कपड़े पहनना मंगल भाग्य लाता है।

30 सितम्बर 2017 – दशहरा – नवरात्र का दसवां दिन


किस देवी को समर्पित: विजया दुर्गा, इस दिन से जुड़ा रंग: हल्का नारंगी

दसवे दिन बुराई की हार और अच्छाई की जीत के जश्न के रूप में मनाया जाता है। इस दिन हलके नारंगी रंग के कपड़े पहने जाते हैं।

इस पोस्ट को सभी लोगों के साथ शेयर करें और नवरात्र की शुभकामनाएं बाँटे। माँ की कृपा आपके और आपके परिवारजनों पर बनी रहे।

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop