• Home  /  
  • Learn  /  
  • World Laughter Day – प्रसव के बाद माँ का हंसते-मुस्कुराते रहना क्यों है जरूरी?
World Laughter Day – प्रसव के बाद माँ का हंसते-मुस्कुराते रहना क्यों है जरूरी?

World Laughter Day – प्रसव के बाद माँ का हंसते-मुस्कुराते रहना क्यों है जरूरी?

29 Apr 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 421 Articles

हंसते-मुस्कुराते रहना जीवन का अहम हिस्सा है। अच्छी सेहत का राज भी इसे ही माना जाता है। आजकल डॉक्टर भी चेकअप के दौरान 20 से 30 मिनट तक हंसने की सलाह देते हैं। अब हंसना इतना जरूरी है, तो प्रसव के बाद हंसने के फायदे भी यकीनन कई होंगे। इन्हीं की चर्चा आगे हम इस लेख में कर रहे हैं।

प्रसव के बाद माँ का हंसते-मुस्कुराते रहने के फायदे 

प्रसव के बाद माँ को हंसने और मुस्कुराने की सलाह दी जाती है। आखिर प्रसव के बाद हंसने के फायदे क्या हैं, यह आगे जानिए

पोस्टपार्टम डिप्रेशन से बचाए

हंसते-मुस्कुराते रहना पोस्टपार्टम डिप्रेशन से बचाव करता है। दरअसल, हंसने और मुस्कुराने से सेरोटोनिन हार्मोन बनता है। इसे अवसादरोधी हार्मोन माना जाता है। बस तो प्रेंग्नेंसी के बाद होने वाले पोस्टपार्टम डिप्रेशन से बचाने के लिए हंसते-मुस्कुराते रहें।

स्ट्रेस को कम करे

जब आप मुस्कुराते हैं, तो आपका मस्तिष्क तनाव से लड़ने में मदद करने वाला न्यूरोपैप्टाइड्स नामक छोटे अणु (Molecules) छोड़ता है। इनके साथ ही डोपामाइन, सेरोटोनिन और एंडोर्फिन जैसे अन्य न्यूरोट्रांसमीटर भी स्ट्रेस से लड़ने में सहायता करते हैं। मुस्कुराहट और हंसी स्ट्रेस हार्मोन को तेजी से कम करते हैं। 

बेहतर मूड

डोपामाइन, एंडोर्फिन और सेरोटोनिन नामक तीनों हार्मोन तब शरीर रिलीज करता है, जब आप मुस्कुराते हैं। ये तीनों हार्मोन आपको खुश रखता है और मूड को बेहतर कर सकता है। आप मूड बेहतर करने के लिए फोन पर पसंदीदा फोटो देखना या कोई फनी वीडियो देख सकते हैं। 

मुस्कुराती महिला / स्रोत – पिक्साबे

स्वस्थ और लंबा जीवन

जब आप मुस्कुराते हैं या हंसते हैं, तो मस्तिष्क में अच्छी रासायनिक प्रतिक्रिया (Chemical reaction) होती है। इसके चलते न्यूरोपैप्टाइड्स नामक छोटे प्रोटीन रिलीज होते हैं। ये  प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाए रखते हैं और संभावित गंभीर बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। परिणाम स्वरूप स्वस्थ और लंबा जीवन जीने में मदद मिलती है।

आकर्षण का केंद्र

यूं ही नहीं कहा जाता कि मुस्कान इंसान का गहना है। मुस्कुराने से महिलाएं और भी आकर्षित दिखती हैं। मुस्कुराना न केवल आपको अधिक आकर्षक बनाता है, बल्कि यह आपको अधिक युवा भी बना सकता है। बस तो प्रसव के बाद अपनी मुस्कान को बिखरते रहें और आकर्षण का केंद्र बने रहें।

दर्द कम करे

अध्ययनों से पता चलता है कि मुस्कुराने से एंडोर्फिन और सेरोटोनिन नामक हार्मोन रिलीज होते हैं। इन दोनों ही हार्मोन को दर्द निवारक माना जाता है। साथ ही बॉडी को रिलैक्स भी करता है। यह तो जाहिर है कि प्रेगनेंसी के बाद महिला के शरीर में काफी दर्द बना देता है। ऐसे में हंसने और मुस्कुराने से इसमें फायदा हो सकता है। 

सकारात्मकता

प्रसव के बाद महिला के मन में बहुत नकारात्मक ख्याल आते हैं। इनसे बचने में भी स्माइल से मदद मिल सकती है। दरअसल, मुस्कुराने से सकारात्मक ख्याल आते हैं। इतना तक कहा जाता है कि भले ही मुस्कान सच्ची न हो, लेकिन मुस्कुराने से दिमाग को यह संदेश जाता है कि सबकुछ अच्छा है और सकारात्मक ख्याल आते हैं।

हंसना-मुस्कुराना शरीर में नेचुरल ड्रग्स की तरह काम करता है। हंसने के फायदे इतने हैं कि हर छोटी बात में  इसलिए लाइफ में इसका होना महत्वपूर्ण है। छोटी-छोटी बातों को मुस्कुराने की वजह बनाएं। साथ ही किसी भी बात पर अटके रहकर दुखों को बुलावा न दें।

like

11

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop