#hindibabychakra #diaperissues #babycare
डायपर रैश से बचाव -
नीचे बताए कुछ सरल तरीके आपके बच्चे की त्वचा पर होने वाले डायपर रैश की संभावनाओं को कम करने में मदद कर सकते हैं -
डायपर को समय-समय पर बदलें –
बच्चों के गंदे डायपर को तुरंत बदलें। अगर आपने बच्चे की देखभाल के लिए किसी को काम पर रखा हुआ है तो उसे अपने बच्चे के गंदे डायपर को नियमित रूप से बदलने के लिए कहें।
डायपर को बदलने के बाद बच्चों के कूल्हों और गुदा क्षेत्र को अच्छी तरह साफ करें –
गंदे डायपर को बदलने के बाद बच्चे के कूल्हों और गुदा क्षेत्र को पानी से साफ करें। इसके लिए आप पानी में भीगे साफ कपड़े को भी इस्तेमाल कर सकती हैं। कूल्हे को साफ करने के लिए बाजार में मिलने वाले वाइप (wipes) का उपयोग न करें, क्योंकि इनमें कई तरह के कैमिकल मिलें होते हैं।
बच्चे को सूखाने के लिए साफ तौलिये का उपयोग करें –
बच्चे के निचले हिस्से को रगड़े नहीं, रगड़ने से बच्चे की त्वचा पर जलन हो सकती है।
बच्चे को ज्यादा टाइट डायपर न पहनाएं –
ज्यादा टाइट डायपर के कारण बच्चे के निचले हिस्से की त्वचा को हवा नहीं लग पाती है और ऐसे में नमी बनी रहने के कारण डायपर रैश हो सकते हैं। टाइट डायपर से कमर और जांघ की त्वचा पर रगड़ लगने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है।
हर समय बच्चे को डायपर न पहनाएं –
अगर संभव हो तो बच्चे को हर समय डायपर न पहनाएं। खुले रहने से आपके बच्चे का निचला हिस्सा प्राकृतिक तरह से नमी मुक्त होता है। जब बच्चे ने डायपर न पहना हो तो आप उसके नीचे किसी बड़े तौलिये को बिछा सकती हैं।
कपड़े से बने डायपर को सावधानिपूर्वक धोएं –
कपड़े से बने गंदे डायपर को कुछ समय के लिए पानी में भिगोकर रखें और इनको गर्म पानी से ही धोएं। अगर आपके बच्चे को डायपर रैश हो या उनके होने की संभावना हो, तो आपको उनके डायपर दो बार धोने चाहिए।
मरहम का नियमित उपयोग करें –
अगर आपके बच्चे को डायपर रैश अकसर होते हों, तो आपको इनकी संभावनाओं को कम करने के लिए डायपर बदलते समय हर बार मरहम का उपयोग करना चाहिए। पैट्रोलियम जैली और जिंक ऑकसाइड से कई तरह के मरहम बनाए जाते हैं और इससे त्वचा की कई समस्याओं को दूर किया जाता है।
गंदे डायपर को बदलने के बाद हाथों को जरूर धोएं –
गंदे डायपर को बदलने के बाद हाथों को धोने से आपके बच्चे की त्वचा में बैक्टीरिया और यीस्ट होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं। साथ ही हाथों के साफ होने से घर के अन्य बच्चों को संक्रमण का खतरा नहीं रहता है।
एक साइज बड़ा डायपर लें –
डायपर रैश होने पर आप सामान्य साइज से बड़ा डायपर ले।


Varsha Rao

Thanks durga salvi

anjna gautam

Informative

Recommended Articles

Get the BabyChakra app
Ask an expert or a peer mom and find nearby childcare services on the go!
Phone
Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/111187