हां अकेली हूं मैं

हमकदम बन कर भी ,अकेली हूँ मैं

अर्धांगिनी बन कर भी अधूरी हूँ मैं,;

जब जब कभी अकेले खिलाई है;

बुखार में तपते बच्चों को दवाइयां;

और जब आधी रात को जाग कर;

सुलाया है उन्हें देकर थपकियाँ

तब लगा ....

बगल में होकर भी नही थे तुम;

तब लगा हां अकेली हूँ मैं;

जब बिगड़ती तबियत पर उसको;

ले जाना था अस्पताल;

और तुमने कड़ी आवाज में;

सुनाया था अपना व्यस्त हाल;

तो रास्ते से लेकर घर लौटने तक

यही लगा हां अकेली हूँ मैं

जब कभी मसाले नमक और;

मिर्च के संतुलन में खटाती थी खुद को

तय बजट में दक्षता के कौशल दिखाती थी तुमको;

और मितव्ययिता के गुर बताती थी तुमको;

तुमने सदैव किया उसको नजरअंदाज

बोलकर, इसमे क्या है नया और खास

उस प्रत्युत्तर पर ठहरा देते थे तुम मुझे;

पराई और बेवकूफ

तब तब लगता कि हां अकेली हूं मैं;

जब कभी ताने और आरोपों के भंवर में;

अकेली झेलती रही सब कुछ;

और जब मुंह फेरते कर दिखता था

;सात फेरों वाला राजकुमार ...

तब भी लगा अकेली ही तो हूं मैं;

आज भी ,इन अनजान लोगों के बीच

जन्म जन्म के रिश्तों की देते हैं दुहाई;

जबकि एक पल में सामने आ जाती है सच्चायी

तब लगा हाँ अकेली हूँ मैं ..

जब मन की भड़ास को;

निकाल न पाने की घुटन ने

;खोजे चार हमदर्दी के शब्द;

और पाया एक नया आरोप;

घरवालों के खिलाफ भड़काने का;

मैं तब तुम्हारी घरवाली नही थी ?;

तब लगा हां अकेली हूं मैं;

जब पीहर की गलियां

;मन हल्का करने का माध्यम नही लगती;

जब माँ के खाने और पिता स्नेह से भी

मन की अकुलाहट नही मिटती

तब लगता है हां अकेली हूँ मैं

जब मन की व्यथा तन की व्यथा बन;

नसों में पीड़ा और देह में ज्वर बन उतरने लगती थी

तो करवट बदल कर सो जाने वाले उस;

कामुक प्रेमी की खीझ देखकर लगता था

कि हां अकेली हूं मैं;

क्या तुम समझ सकते हो इस अवसाद को ?

खुद को सबका बनाने के अथक प्रयास को ?

आज आदी हूं मैं तुम्हारे तर्कों और आरोपो की

और अनुग्रहीत हूँ अकेलेपन के एहसास को;

आज खुद को समझा लिया है कि ,;

हां अकेली हूं मैं ";

-कविता जयन्त


Bahut acha h

बहुत ही अच्छी और सच्ची पंक्तियां हैं।

Very nice jiii

kya khub likha he dear

Rona nikal gaya.jaise Meri he story ho😭😭😭

Really aasu aa gye pd k it's reality.... very awesome

Sach me aisa hi hota hai

Bahut achi likha hai aapne

हार्ट टचिंग

Bhot shi likha h aapne sabke dil ka yhi haal rhta h


Suggestions offered by doctors on BabyChakra are of advisory nature i.e., for educational and informational purposes only. Content posted on, created for, or compiled by BabyChakra is not intended or designed to replace your doctor's independent judgment about any symptom, condition, or the appropriateness or risks of a procedure or treatment for a given person.
Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/132783