उन दो पिंक लाईनों की कहानी :--

लोगों की वो बातें... भई गुड न्यूज कब सुना रही हो...उन चार सालों का लंबा सा वो इंतजार ...और फिर वो खूबसूरत दिन भी आया जब मैंने प्रेगान्यूज प्रैग्नैंसी किट खरीदा और वो दिन था हमारी एनीवर्सरी का ...टैस्ट किया और फिर उन दो पिंक लाईनों ने जिंदगी ही बदल दी मानो..दिन और भी खूबसूरत हो गया था जिस दिन हम एक से दो हुए थे उसी दिन दो से तीन होने की खुशखबरी मिली थी...इतनी खुशी कि ना मन में रखी जा पा रही थी और ना किसी को बताते बन रहा था बस यूँ समझिये कि मन सँभाले नहीं सँभल रहा था। और फिर वो गुलाबी लाईनें क्या देखीं हम दोनों ही अचानक से बड़े जिम्मेदार से महसूस करने लगे, हर काम सँभलकर करने लगे। कल तक तो हम दोनों जो चाहते, जहाँ चाहते उठकर चल देते थे... और बड़े खुश भी रहते थे पर प्रेगान्यूज की बदौलत दिखी उन दो पिंक लाईनों की दी खुशियों की सौगात के आगे हर दूसरी खुशी फीकी ही थी।

हम दोनों नाम सोचने लगे, सब बड़े हमें तरह तरह की सलाह देते ऐसे करना,वैसे बिल्कुल मत करना...ये खाना बहुत फायदा करता है और ये चीजें मत खाना नुकसान होगा तुमको और बच्चे को... और बच्चे को कैसे कोई अपने नुकसान पहुँचा सकता है वो भी तब जब लंबे इंतजार के बाद उसके आने की आहट मिली हो तो बस हर कदम फूँक फूँक कर धीरे- धीरे खने लगी अपनी आने वाली नन्ही सी जान की सलामती के लिये।

सच क्या दिन थे वो भी एकदम सुनहरे से, हर पल यादगार है और शायद ताजिंदगी रहेगा... बिल्कुल रानी जैसा महसूस होता था सब कितना ख्याल रखते थे उफ्फ..सपनों सा सुंदर था वो सब कुछ पर था तो सच ही।

और वो दिन भी आ ही गया जब उन पिंक लाईनों का दिखाया ख्वाब यानि कि मेरी बेटी ,मेरी गोद में आ गई। वो पंद्रह घंटों का दर्द तो भूल ही गई जब उसे पहली बार देखा वो गुलाबी नन्हे मुलायम से हाथ और कितनी सुंदर उंगलियां... और बिटिया रानी ने अपनी नन्ही उंगलियों से मेरी उंगलियों को हौले से जब थामा बस लगा था दुनिया ही ठहर गई थी उस पल।टुकुर टुकुर ताकती बड़ी बड़ी आँखें और सुंदर काले बाल... ख्वाबों का सच हो जाना क्या होता है तब ही पहली बार जाना। मैंने भी एक इतनी प्यारी रचना रची है ये अहसास शब्दों में बताना बेहद मुश्किल है। मैं माँ बन गई और उसके बाद से तो हर रोज एक नया खूबसूरत दिन इंतजार करता है जो रोज नये अनुभव देकर जाता है बिटिया रानी के साथ मैं भी बढ़ रही हूँ रोज कुछ सीख रही हूँ...ये खूबसूरत सफर जारी है मेरी पूरी दुनिया मेरी बेटी के साथ और इस अहसास इस सफर के पहले गवाह प्रेगान्यूज प्रैग्नेंसी किट को कैसे भूल सकती हूँ मेरी जिंदगी की सबसे खूबसूरत गुड न्यूज देने वाले को दिल से शुक्रिया, धन्यवाद।

स्मिता सक्सेना

#Preganewsmeansgoodnews

#bbccontest

#BBCreatorsClub

#bbcreatorsclub

#smitasmumpedia

#goodnews

#beautifullifemoments

#feelingnostalgic

#mumlifehappylife

#mummahoodunplugged

#parentingblogger


Khushboo Chouhan Soma Sur

बहुत अपनी पोस्ट है डियर।
डबल खुशी थी उस दिन आपके लिए।

Durga salvi सच में डबल ही हो गई थी खुशी...सातवें आसमान पर ही थी शायद मैं...बहुत लंबे इंतजार के बाद खुशियोंने दस्तक जो दी थी। थैंक्यू आपको पोस्ट पसंद आई 💕💕😊😊

Ha dear..Jab intazar ki gadi khatm hue to bhut khushi hoti hai ..Apke post muje bhut achche lagte hai..

बहुत सुंदर लिखा है आपने स्मिता। सच हम सभी माँओं के मन के भाव ऐसे ही होते हैं। दो गुलाबी लाइनें हमारी जिंदगी खुशी से भर देते हैं।

Wow .. bahut Acha Likha h Aapne..

bahut achcha likha aapne

Thanks dear Isha Pal 😊😊

Thanks dear Bhavna Anadkat 😊😊

Thanks dear Soma Sur 😊😊

Very nicely written dear.. 👍👍

Bohut acha likha hai aapne

Bohot sunder likha h 😍😍😍 sach me m bhi feel krne hi wali hu vo din jb nanhi ungliya mere hath m bhi hongi or m yaha sbko btaugi ki kaisa feel hua muzhe us wqt 😍😍💕

Khushboo Chouhan durga salvi Soma Sur Mayuri Kacha Madhavi Cholera

Bhut achcha likha hai apne dear..Ye har mahila ke liye bhut hi sunder ahsaas hota hai.

Wow Parul_tiwari@a_magical_voice really beautiful feeling words me batana mushkil h...Thank you aapko pasand aaya mera write-up. 😊😊

Muzhe bohot psnd aayi post


Suggestions offered by doctors on BabyChakra are of advisory nature i.e., for educational and informational purposes only. Content posted on, created for, or compiled by BabyChakra is not intended or designed to replace your doctor's independent judgment about any symptom, condition, or the appropriateness or risks of a procedure or treatment for a given person.
Scan QR Code
to open in App
Image
http://app.babychakra.com/feedpost/132832