babychakra-rewards
Q:

5 Mahina chal rha h or roj pet dukne ka Kya karn h



गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।;
गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।
जैसे-जैसे आपका शिशु बढ़ता है, आपके गर्भाशय का झुकाव दाईं तरफ हो जाता है । इसलिए आपको मरोड़ का दर्द दाईं तरफ ज्यादा महसूस हो सकता है।
जब भी दर्द हो, तो आराम करने से आमतौर पर मरोड़ से राहत मिल जाती है। आप निम्न तरीके भी आजमा सकती हैं:
थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।
जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।
हल्के गर्म पानी से नहाएं।
जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें (खौलता हुआ पानी नहीं) और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। फिर सिकाई कीजिए और जितना हो सके
आराम करें।