Q:

Pregnancy ke dauraan sex Karne se bachhe KO koi nuksaan to nahi hai



गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीनों में सेक्स करने से बचना चाहिए क्योंकि इस दौरान भ्रूण का विकास चरम पर होता है। इससे पेडू की मांसपेशियों में किसी प्रकार की सिकुड़न होने से गर्भपात का खतरा पैदा हो सकता है। शुरुआती तीन महीनों के बाद आप सातवें या आठवें महीने तक आराम से सेक्स कर सकते हैं। - जब गर्भ में पल रहे बच्‍चे में किसी प्रकार के कॉम्‍प्‍लीकेशंस हों तो सेक्‍स करने से बचना चाहिए क्योंकि इस दौरान सेक्स करना बच्चे के विकास को प्रभावित कर सकता है। लेकिन यदि बच्‍चे का विकास सही प्रकार हो रहा हो तो गर्भावस्‍था के तीन महीने पूरे होने पर सेक्‍स किया जा सकता है। - गर्भावस्‍था के दौरान सेक्स के अलावा एक दूसरे को स्पर्श कर, चूम कर और प्यार करके भी एक अच्छा महौल और ताजगी बनाई रखी जा सकती है। ऐसे में पति-पत्नी एक दूसरे को और ज्यादा नजदीक महसूस कर सकते हैं। यह एक-दूजे को ऐसे वक्त पर करीब रखने के लिए अहम साबित हो सकता है। ;- गर्भावस्था के दौरान महिला की कामुकता कई गुना बढ़ जाती है जिससे महिला में शारीरिक और भावनात्मक दोनों तरह के बदलाव आते हैं। वहीं पुरूषों को प्रेग्नेंट बॉडी काफी कामुक लगने लगती है। जिससे प्यार बढ़ना स्वाभाविक है।; ;- गर्भावस्था के दौरान ये जरूरी नहीं है कि आप सेक्स ही करें, इस दौरान कपल्‍स ओरल सेक्स करके भी एक दूसरे को संतुष्‍ट कर सकते हैं। यानी दोनों एक-दूसरे को सेक्स किए बिना भी सेक्स की अनुभूति दे सकते हैं।