Q:

Mahilao mi sabhed pani aana



गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं में सफ़ेद निकलने जैसी समस्या उत्पन्न होने लगती है। लेकिन, इससे शिशु को भी खतरा रहता है। हालाँकि, प्रेगनेंसी में सफ़ेद पानी का निकलना काफी आम बात है जो हर महिलाओं में सामान्य रूप से दिखाई देता है। जिसे, ल्यूकोरिया कहते हैं यह देखने में सफ़ेद, हल्का गाढ़ा और हल्का गंधहीन हो सकता है। ये तब तक सामान्‍य है जब तक की इसमें से गंध न आने लगे और इसका रंग लाल न हो जाए प्रेगनेंसी में सफ़ेद पानी सर्वाइकल मीक्यूस होता है, जो कि इन दिनों काफी सामान्य माना जाता है। गर्भवती महिला में इस तरह की समस्या ज्यादातर प्रेगनेंसी के तीसरे चरण में ज्‍यादा होती है। हालांकि, प्रेगनेंसी के समय इस तरह के सफ़ेद पदार्थ निकलने से आपके भ्रूण को काफी फायदा होता है। क्योंकि, यह गर्भाशय ग्रीवा में किसी भी प्रकार के संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करता है। यदि आपको ऐसा महसूस हो जैसे यूरीन की जगह पानी आ रहा हो, हालाँकि, इस तरह की समस्या यूटेरस के सूजे होने और ब्लैडर के भारीपन से होता है। वास्तव में यह अलग-अलग स्थितियों पर निर्भर करता है। लेकिन, जब आपके शरीर से बहुत अधिक मात्रा में पानी निकल रहा हो तब हो सकता है कि आपके पानी की थैली फट गई हो और ऐसे में आपको जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यह बात आपके बॉडी के लिए अच्छा होता है, ठीक वैसे ही यह आपके शिशु के लिए भी अच्छा माना जाता है। क्योंकि, यह आपके शिशु को सुरक्षा प्रदान करता है लेकिन, यदि यह समस्या बढ़ जाए या फिर संक्रमण हो जाए तब समस्या उत्पन्न हो सकती है। अगर आप वजाइना इंफेक्शन से ग्रसित है, और आपको लगातार व्‍हाइट डिस्‍चार्ज हो रहा है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। क्योंकि, हो सकता है कि यह संक्रमण शिशु तक पहुँच सकता है