काला, हरा, पीला: आपके शिशु का मल और उससे जुड़ी ज़रूरी बा

यह काफी अजीब लग सकता है, लेकिन मल या आँतों में हलचल हमारे आंतरिक स्वास्थ्य में सबसे महत्वपूर्ण चीज़ों में से एक हैं! यह आश्चर्य की बात नहीं है कि बचपन के दौरान मल का निकलना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

एक मां सिर्फ बच्चे के मल का रंग, स्थिरता और आवृत्ति को देख कर बता सकती है कि बच्चा ठीक है या नहीं |  यह सब सुनकर थोड़ा घृणित लगता है, है ना? स्वागत है | यह एक माँ के जीवन का रोज़ का हिस्सा है | आदत डाल लीजिये |

भ्रूण गर्भ में मल नहीं गिराता है। भ्रूण पेशाब करेगा लेकिन जन्म के तुरंत बाद पहले आँतों को पारित करने के लिए इंतजार करेगा। कभी-कभी श्रम के दौरान मेकोनियम पारित होने की घटना होती है और यह वास्तव में भ्रूण का गर्भ में मल गिराना है। चूंकि यह सामान्य नहीं है, इसलिए इसे चेतावनी या संकेत के रूप में देखा जाता है और इसलिए डॉक्टर जन्म की निगरानी अधिक बारीकी से करते हैं और कभी-कभी ज़रुरत पड़ने पर शल्य चिकित्सा से भी  जन्म करवाते हैं ।

अपने जीवन के पहले दिन बच्चे अपनी आँतों को पारित कर देगा! यह काला, चिपचिपा और टार जैसा पदार्थ होगा। इसे मेकोनियम कहा जाता है। यह अम्नीओटिक द्रव, बलगम, बाल और गर्भ में भ्रूण ने जो भी अन्य चीज़ें ग्रहण की थीं उन सबका मिश्रण होता है |

अगले कुछ दिनों में जब आप अपने बच्चे को खिलाते हैं, विशेष रूप से अपने बच्चे को कोलोस्ट्रम खिलाते हैं, तो मल का रंग काला से हरे रंग में बदल जाता है। हम इसे ट्रांजीशन स्टूल अथवा संक्रमित मल भी बुला सकते हैं! कोलोस्ट्रम को खिलााना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इसका अत्यधिक रेचक प्रभाव होता है और बच्चे में मौजूद सभी मेकोनियम को साफ़ करने में मदद करता है।

 

जैसे ही आपका दूध परिपक्व हो जाता है, उसके पांच से सात के बीच, आप फिर से मल के रंग में परिवर्तन देखेंगे। अब वो हरे रंग के बजाय पीला है। इसमें काफी पानी भरा होगा और इसमें एक दानेदार स्थिरता होगी। बच्चा हर आहार के बाद मल पारित कर सकता है और कई बार तो दिन में दस बार भी हो सकता है पर इसे दस्त के रूप में नहीं माना जाता है। एक बच्चा जो विशेष रूप से स्तन के दूध पर है, कुछ दिनों तक मल को पारित नहीं कर सकता है! लेकिन जब तक बच्चा आरामदायक दिखाई देता है और अच्छी तरह से भोजन कर रहा है, तब तक चिंता का कोई कारण नहीं है।

 

24 घंटे में आपके बच्चे ने जितनी बार भी मल त्याग किया है उसकी संख्या 3 से 5 हफ़्तों के बीच धीमी हो जाएगी और आपका बच्चा अब दिन में केवल दो बार आंतों को पारित करेगा। इससे पता चलता है कि आंते नियंत्रण प्राप्त कर रहीं हैं और धीरे-धीरे परिपक्व हो रहीं हैं |

 

यदि आपका बच्चा उज्ज्वल हरा और फहरा हुआ मल त्याग करता है तो यह संभव है कि बच्चा पहले दूध की अधिक फीड ले रहा है और इससे वजन बढ़ने की चिंता हो सकती है। सुनिश्चित करें कि आप बच्चे को आगे के साथ पीछे का दूध भीं पिलाएं, जिससे बच्चे को वजन कम करने में मदद मिलेगी।

 

जिन बच्चों को फार्मूला खिलाया जाता है, आप उम्मीद कर सकते हैं कि उनके मल का रंग गहरा भूरा होगा और वो अधिक गठित और चिपचिपा होगा। फार्मूला खाने वाले बच्चों का मल काफी महकता भी है |

यदि आप बच्चे को कोई पूरक (सप्लीमेंट) दे रहे हैं तो मल का रंग बदलना सामान्य बात है - उदाहरण के लिए: लौह की खुराक मल को काला बना देती है | जब आप अपने बच्चे के ठोस पदार्थ देना शुरू कर देते हैं तो यह सब आम बात हो जाती है । जैसे अगर आपने किसी दिन अपने बच्चे के चुकंदर खिलाया है, तो मल का रंग लाल दिखना कोई बड़ी बात नहीं है |

 

जैसे ही आप ठोस आहार देना शुरू करते हैं, आप मल के परिवर्तन की स्थिरता और रंग देखेंगे। ठोस आहार पर शिशुओं का मल अधिक गठित और गंध वाला होगा। हालांकि यह महत्वपूर्ण है कि मल आसानी से पारित हो जाये । यदि आपका बच्चा बहुत अधिक ज़ोर लगाना पड़ रहा है या बहुत कठोर मल निकल रहा है और यदि मल गोली की तरह निकलता है, तो इसका मतलब है आपके बच्चे को कब्ज है और यह डॉक्टर को सूचित किया जाना चाहिए।

मल में भोजन के छोटे टुकड़े देखना सामान्य सी बात है। यह अवांछित भोजन है और यह काफी सामान्य है। शिशु ने अभी तक चबाना शुरू नहीं किया है और कभी-कभी भोजन पाचन तंत्र के माध्यम से इतनी तेजी से गुजरता है कि यह पच ही नहीं पाता और पूरा ही निकल आता है ।

किसी भी समय अगर मल में खून आता है तो डॉक्टर को इसकी रिपोर्ट करें क्योंकि यह एलर्जी हो सकती है, या फिर एक संक्रमण या कब्ज जो गुदा में चीर का कारण बन सकते हैं !

#kidshealth #hindi #shishukidekhbhal

Baby

शिशु की देखभाल

Leave a Comment

Comments (36)



Rishi Paayal

English version please

Aishwarya Shukla

Thanx for information

Priya Dubey

Thanks for info

Parampreet Kaur

Thanks for sharing

suman tiwari

Very useful post ....thanku for information.....

AMIT ARORA

Very useful information

Dhara Katakpara

Mera beta 3 weej hai ..use bhut jor lagna padta hai potty me kya kru??

Pree

Mera baby 1 mahine ka h.. 2-3 din normal potty krta h phir sudden 10-12 times krta h phir sust ho jata h.... aisa kyun

Mahi Purohit

Meri 6mnth ki beti 8din se green dast kar rhi he jaag wale8se10baar

Anita Gaikwad

Mera beta 8 month ka hai use tight port Hoti hai dr Ko dikhaya undone kha jyada Pani pilao

suman

good information for new born baby

suman

इससे मुझे बहुत मदद मिली!

sili

काश मुझे यह पहले पता होता!

manveer

Aage ke sath piche ka dudh mtlb.....meri baby 2 month and 20 days ki h usne achank hre rng ki ki iska kya mtlb hua mam....

manveer

बिलकुल सही समय पर आया यह लेख!

Purushottam Pandey

Thanks good information

Purushottam Pandey

बहुत खूब लिखा गया है

Komal Kanadiya

Thanks for information..

Neeta Mehta

Thanks for information

Sateesh Sahu

Thanks for information

Harsh Raj

बहुत खूब लिखा गया है

Mrei baby 2monts ki uski ankho m pani or kichad a ra h kiya krna h

Mrei baby 2monts ki uski ankho m pani or kichad a ra h kiya krna h

Qamar hasan

Mera baby 2 month ka Hai wo din m 10 bar poetry kr raha h... Plz koi upay btaye

Varsha Ranakoti

Mera beta 6 weeks kA h wo doodh pite h potty krta h jitni bar doodh pita h,,,,,kya uska pet thik h

MANA MANA

मुझे इस लेख की ही तलाश थी!

Neeti Pathak

काश मुझे यह पहले पता होता!

Sonali Hemant

Good information

urmila kanwar

Good information

Rajkumar

Nice information

Recommended Articles