बच्चे का वज़न बढ़ाने में मदद कैसे करें

एक बच्चे का वजन बढ़ाना ज्यादातर मांओं के लिए काफी चुनौतीपूर्ण काम होता है

हर माँ जानती है कि बच्चे की सेहत का ख़याल रखना और उसका वज़न बराबर रखना कितना मुश्किल होता है, खासकर जब बच्चे के पास दिन भर इधर उधर भागने और दुनिया भर की चीज़ों को जानने पहचानने के अलावा और कोई काम नहीं हो | हालांकि यह एक चुनौती पूर्ण कार्य है पर बच्चे का वज़न बढ़ाने नामुमकिन नहीं है | आइये जानते हैं कैसे :

 

बच्चे के वज़न बढ़ाने का चार्ट

अपने बाल रोग विशेषज्ञ द्वारा दिए गए ऊंचाई और वजन वृद्धि चार्ट को बनाए रखें। अपने बच्चे की जानकारी को हर 3 महीने में सावधानी से चिन्हित करें। ध्यान दें कि क्या वह चार्ट पर चिह्नित रंगीन परसेंटाइल बैंड से गिर रहा है। यदि वह बैंड से गिर रहा है, चाहे अतिरिक्त वजन या कमजोर पड़ने के कारण, उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जानें और उचित इलाज करवाने की आवश्यकता है |

 

यदि बच्चा अपनी उम्र और ऊंचाई के हिसाब से कम वजन वाला है, तो यहाँ पर खाना ठीक से नहीं खाने की आदतें या अंतर्निहित दोष हो सकता है। अपने बाल रोग विशेषज्ञ से मिलकर जानने का प्रयास करें कि कहीं कोई ऐसी परिस्तिथि तो नहीं है जिससे वज़न ठीक से नहीं बढ़ रहा है आपका डॉक्टर पूरी तरह से शारीरिक परिक्षण करेगा और इसकी पुष्टि करने के लिए रक्त परीक्षण का आदेश भी दे सकता है।

 

यदि सभी परीक्षाएं और जांच स्पष्ट हैं और कोई समस्या नहीं है, तो यह केवल आपके बच्चे की पोषण संबंधी आदतें हैं जिन्हें बदलने की जरूरत है।

 

आप आईएपी विकास चार्ट यहां डाउनलोड कर सकते हैं

 

बच्चे का वज़न बढ़ने वाले खाद्य पदार्थ

प्रत्येक बच्चे को भोजन के माध्यम से खपत की हुई  कैलोरी से अपनी ऊर्जा प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। एक संतुलित भोजन जिसमे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डेयरी, वसा इत्यादि जैसे विभिन्न खाद्य समूह होते हैं उनको दैनिक भोजन में शामिल किया जाना चाहिए। यहां कुछ महत्वपूर्ण चेकपोस्ट हैं जो आपके बच्चे को स्वस्थ वजन प्राप्त करने के लिए सदैव ध्यान में रखने चाहिए |

 

  • प्रत्येक दिन तीन छोटे भोजन के साथ एक अंतराल पर तीन स्नैकस ज़रूर खिलाएं
  • रोजाना विभिन्न फल और सब्जियों के कम से कम 5 आहार अवश्य खाएं।
  • ऊर्जा के लिए आलू, रोटी, चावल, पास्ता या अन्य स्टार्च कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन।
  • कुछ डेयरी या डेयरी विकल्प (जैसे सोया पेय और दही) कम वसा और चीनी वाले विकल्प चुनें।
  • कुछ सेम और दालें, मछली, अंडे, मांस और अन्य प्रोटीन। प्रति सप्ताह मछली दो बार देने का प्रयास करें - जिनमें से एक सल्मॉन या मैकेरल जैसी मछली होनी चाहिए।
  • असंतृप्त तेल - छोटी मात्रा में खाएं।
  • तरल पदार्थ खूब लें  - कम से कम 6-8 कप / गिलास प्रतिदिन।

 

दो वर्ष से कम आयु के बच्चों को वसा द्वारा प्रदान की गई ऊर्जा की आवश्यकता होती है। विटामिन डी जैसे कुछ विटामिन भी हैं जो केवल वसा में पाए जाते हैं। इसलिए  फुल क्रीम दूध, दही, पनीर और तेल की मछली जैसे ऊर्जा से भरपूर खाद्य पदार्थ बहुत महत्वपूर्ण हैं।

 

बच्चे के वज़न बढ़ने के लिए द्रव्य

 

 

सादा पानी और गाय का दूध एक बढ़ते बच्चे के लिए सबसे अच्छा पेय हैं। 2 साल की उम्र तक, बच्चे को पूर्ण वसा वाला दूध दें। 2 वर्षों के बाद, अगर बच्चे को विकास ठीक से हुआ है और वजन पर्याप्त बढ़ा है, तो उसे स्किम्ड दूध और दही दिया जा सकता है। यदि बच्चा कम वजन वाला है, तो बाल रोग विशेषज्ञ आपको सलाह दे सकता है कि आप 2 साल के बाद भी वसा वाले दूध को जारी रखें।

 

कोला, मीठे रस और शेक, आईस्ड टी, आदि जैसे पेय पदार्थों से बचें जो खाली कैलोरी से भरे हुए हैं और शरीर में फैट अथवा वासा अधिक मात्रा में बढ़ा सकते हैं |

 

अपने बच्चे पर नज़र रखें ताकि वह अधिक जूस और शेक का सेवन ना करे |

 

कुल मिलाकर यदि बच्चे को प्रत्येक दिन मध्यम मात्रा में विभिन्न खाद्य समूहों से परिपूर्ण भोजन मिलता है,  तब तक उसका पर्याप्त वजन बढ़ना चाहिए।

 

अस्वीकरण: लेख में दी गई जानकारी पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार के लिए एक विकल्प के रूप में लक्षित या अंतर्निहित नहीं है। हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लें।

 

#toddlergrowth #hindi #balvikas

Toddler

Read More
बाल विकास

Leave a Comment

Comments (29)



Thanks for sugessen , verry nice

👍

बहुत खूब लिखा गया है

Sir mera beta anda nahi khata use maas ki koe bhi chij achhi nahi lagti hai jab bhi wo khata hai usse ulti ho jati hai

good
मुझे इस लेख की ही तलाश थी!

Mera beta 2 years ka hai par wo Kuch khaa nahi raha mene sub which try kiyani use alag alag cheze banana kar di par wo Kuch khaa hi nahi raha kay karun me baht pareshan hun

बच्चे को Nephrotic syndrome होने पर माता पिता को क्या सावधानी बरतनी चाहिए?

अच्छा सुझाव है

Nice informative

inder kumar ji जिन रोगी को प्रतिदिन स्टेरॉयड की उच्च मात्रा की खुराक मिलती है, या जिसको सूजन नहीं है उन्हें नमक की मात्रा सिमित करनी चाहिए जिससे रक्तचाप बढ़ने का जोखिम न हो ।
जिन मरीजों को सूजन है उन्हें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन दिया जाना चाहिए जिससे प्रोटीन का जो नुकसान होता है उसकी भरपाई हो सके और कुपोषण से बचाया जा सके। पर्याप्त मात्रा में कैलोरी और विटामिन्स भी मरीजों को देना चाहिए।

mera bxxa ka age 2nd half year ka hai, aur khana v axxi trhse khata hai..bt uska wght only 11kg hai?😔 kya kru mai jisse uska wght bdhasku

Mere bachcha khana theek se kabhi khata h or kabhi nahi uska wght bhi kam h😔kya karu.

Mera beta 2 yrs ja weight 10 kg or vo chew ni karta khate time

Mera beta 2 year 3 months ka h per weight sirf 9 kg h keya karu

Meri beti 5year's running h but uska weight 18 kg h lekin vo khane ME Bahot pareshan karati h main kya karu

Meri beti 8 month ki h pr uska wait 5.5 kg h ..or sari report shi h to m kya khilau jise uska wait bde

Hlo Doctor

Meri beti 2and 6 month ki hai but wo bhut week hai khana bhi nhi khati plz sugges me

hi , mera beta 3 year's 6month ka h but uska weight bhoth kam h wo khna ni chahta or liquid to bliku v nhi pina chahta h plz suggest me

Me beti 1 Year

Meri beti 1 Year 10 month ki hai active hai lakin weight nhi badta . Sab khati hai Fruit, vegetables

My son is 4 year old and his weight is approx 15.6. Please advise me some food which increase his weight.

Recommended Articles