जानिए 1 साल का होने तक बच्चा की ग्रोथ कैसे-कैसे होती है

cover-image
जानिए 1 साल का होने तक बच्चा की ग्रोथ कैसे-कैसे होती है

उसका पहली बार कुछ बोलना, उसके वो पहले नन्हें कदम... एक माँ अपने बच्चे से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बात याद रखती है. बचपन से लेकर बड़े होने तक वो हर चीज़ नोट करती है. लेकिन बच्चे की ग्रोथ में इन चीज़ों के अलावा भी बहुत कुछ है.

 

जन्म से लेकर बड़े होने तक बच्चे की ग्रोथ साइकिल में बहुत से पड़ाव आते हैं. ज़रा उनके बारे में जानिए:

 

शुरू के 4 महीने

शुरुआत के 4 महीनों में बच्चे को कुछ ख़ास नहीं दिखाई देता है. उसे चीज़ों पर ध्यान देने में दिक्कत होती हैं, उसकी सेंसिटिव होती है और एलर्जी भी जल्दी होती हैं. इस समय तक वो खाने को पूरी तरह से मुँह में मूव नहीं कर पाते हैं.

 

4 से 8 माह

इस समय तक उनके दाँत आने लगते हैं. चीज़ें मुँह में डालने, उन्हें चबाने या दाँत काटने की वजह से उनके मसूड़े थोड़े फूल जाते हैं, साथ ही उनका रंग लाल हो जाता है. ये वही समय होता है जब दाँत आने की वजह से बच्चा रोने लगता है या चिड़चिड़ा हो जाता है. उन्हें गाने सुना कर आप थोड़ा बहला सकती हैं. इस उम्र तक वो बिना किसी सहारे के बैठना शुरू कर देगा और अपने दोनों हाथों का इस्तेमाल करने लगेगा। इस दौरान उसे रंग-बिरंगे खिलौने लेकर दें, जो उसके लिए सेफ हों.

 

8 से 12 माह

इस पड़ाव में उनके पैरों के मुक़ाबले उनके हाथ ज़्यादा बेहतर काम करने लगते हैं. अब वो दूर रखी चीज़ों को देख सकते हैं, उनकी तरफ़ इशारा कर सकते हैं. इस समय तक वो हर चीज़ के बारे में जानना चाहेंगे और इशारे कर-कर के बताएंगे। इस समय तक उन्हें बिल्डिंग ब्लॉक्स जैसे खिलौने दें. कभी कुर्सी, कभी दरवाज़े के सहारे उसे खड़ा होता देख कर हैरान न होना।

 

12 से 24 माह

1 से 2 साल की उम्र में वो आराम से खड़े हो सकेंगे,  दौड़ने लगेंगे। चीज़ें, ख़ास कर अपने खिलौने फेंकना उन्हें पसंद आएगा। क्योंकि इस समय वो चलने की प्रैक्टिस ज़्यादा करेंगे, इसलिए इस वक़्त उनके लिए मूविंग कार, साइकिल जैसे खिलौने लेकर आएं.

 

#hindi #shishukidekhbhal
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!