जन्म के बाद बच्चे को ढंग से लपेटना कितना ज़रूरी है और इसके फ़ायदे

cover-image
जन्म के बाद बच्चे को ढंग से लपेटना कितना ज़रूरी है और इसके फ़ायदे

घर में बच्चा रो रहा है? अगर सब कुछ करने के बाद भी वो शांत नहीं हुआ, तो एक बार उसे लपेट कर देखिये। माँ-बाप कई बार ये शिकायत करते हैं कि उनका बच्चा ढंग से सो नहीं पाता। एक्सपर्ट्स के हिसाब से उन्हें Swaddling या ढंग से लपेट कर देखना चाहिए।

 

बच्चे को लपेटने या Swaddle करने का क्या मतलब हुआ?

 

सालों से लगभग हर कल्चर में माँ अपने बच्चों को अच्छे से ब्लैंकेट और कपड़े में लपेट कर कम्फर्ट करती हैं. इससे बच्चे को तो आराम मिलता है, साथ ही वो अपने ही मूवमेंट के झटके से डरने से बचता है. कई बार बच्चों की मौत Sudden Infant Death Syndrome से भी होती है, इसका मतलब है कि बच्चा अपने ही मूवमेंट की वजह से डर जाता है और कई बार उसकी डेथ भी सकती है.



डिलीवरी के तुरंत बाद हॉस्पिटल में माँ को बच्चे को लपेटना सिखाया जाता है. उसे इस तरह से लपेटा जाता है कि उसे शुरुआत में गर्भ जैसा माहौल मिले। अगर आप बच्चे को Swaddle कर रही हैं, तो ध्यान रखें कि तरीका सही हो. उसे लपेटते हुए उसके पैर सीधे और साथ होने से हिप की कोई प्रॉब्लम हो सकती है. ध्यान रखें कि उसके हिलने-डुलने की जगह हो, लेकिन ये भी ध्यान रहे कि कपड़ा ज़्यादा हल्का हुआ तो दम घुटने का डर भी रहता है.

 

बच्चे को लपेटने का सही तरीका क्या है?

 

जिस कपड़े या ब्लैंकेट से आपको उसे बाँधना है, उसे फोल्ड कर डायमंड की शेप दें. सर के ऊपर आने वाला हिस्सा 6 cm तक फ़ोल्ड करें और ये सीधे में उसके पैर की तरफ हो, ऐसा आप बेड या टेबल पर रख के करें।

 

बच्चे को इस पर ऐसे रखें, कि ब्लैंकेट का टॉप हिस्सा कन्धों के लेवल पर हो.

 

उसका उल्टा हाथ नीचे करें और कपड़े को उसके उस साइड से घुमाते हुए चेस्ट कवर करें, बाकी बचा हिस्सा सीधे साइड के पीछे लपेट दें.

 

फिर सीधा हाथ नीचे करें और कपड़ा लपेटते हुए, उसकी चेस्ट कवर करें, फिर उलटे हाथ की तरफ से ले जाते हुए पीछे लपेट दें.

 

अब नीचे बचा हुआ हिस्सा, बच्चे के पीछे  ऐसे फोल्ड करें कि उसके पैर और हिप्स आराम से मूव हो सकें।

 

लपेटना कब बंद करें?

बच्चा जब एक महीने का हो जाए, तो उसे लपेटना बंद कर देना चाहिए, क्योंकि ये उसकी मूवमेंट पर असर डालता है. लेकिन रात में आप उसे सुलाने के लिए लपेट सकते हैं. हालांकि 2 महीने से ज़्यादा के बच्चे को लपेटना बंद कर देना चाहिए।

 

ज़रूरी नहीं कि आप बच्चे को Swaddle करें, अगर वो बिना उसके ठीक है, तो इसकी टेंशन न लें.   

#shishukidekhbhal #hindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!