क्या आपका बच्चा नाख़ून चबाता है?

cover-image
क्या आपका बच्चा नाख़ून चबाता है?

बच्चों में नाखून चबाना कुछ आम बुरी आदतों में से एक है जैसे नाक में ऊँगली डालना , अंगूठा चूसना , नक़ल करना आदि जिसे वे आसानी से सीख लेते हैं । बच्चे कई कारणों से नाखून चबाते हैं। वे ऐसा इसलिए कर सकते हैं क्योंकि वे किसी चीज के बारे में चिंतित हैं या तनावग्रस्त हैं या नाखून काटना उनकी एक आदत बन चुकी है। कभी कभी ये बोरियत कम करने का भी उनका अपना तरीका हो सकता है|

 

नाखून चबाना एक फेज अथवा एक चरण है और बच्चे जल्दी ही, अपने आप इस आदत को छोड़ देते हैं। हालांकि, ऐसा न हो कि यह आदत उनके बड़े होने तक भी उनके साथ ही रह जाए, इसके लिए कुछ उपाए करना आवश्यक है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह आदत  संक्रमण का कारण बन सकती है, इसलिए इस आदत को शुरुआत में ही रोकना अच्छा होता है|

 

बच्चों को नाखून चबाने से रोकने के कुछ उपाए:

 

उनकी चिंताओं को सुनें और समझें

 

 

क्या आपने अपने बच्चे में - सोने के पैटर्न में अंतर या भूख नहीं होने - जैसा कोई ध्यान देने योग्य व्यवहार परिवर्तन देखा है? यदि आपको इनमें से कोई संकेत दिखाई देता है, तो यह संभव हो सकता है कि वे चिंतित हो या तनावग्रस्त हो। तो पता लगाएं कि उनके नाखून-काटने के लिए चिंताजनक कारण है या नहीं। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि इस आदत का कोई गहरा कारण नहीं है।

 

समझाएं कि यह एक बुरी आदत है 

 

 

अपने बच्चे से बात करें और उन्हें बताएं कि यह  एक बुरी आदत है और उनके नाखूनों और दांतों के लिए हानिकारक है। यदि वे ऐसा करते हैं तो उन्हें बार-बार डांटें या धमकाएं नहीं । दृढ़ता से उन्हें याद दिलाएं कि यदि वे इस आदत को जारी रखते हैं तो वे बीमार पड़ सकते हैं।

 

नियमित रूप से अपने बच्चे के काटें 

 

 

नियमित रूप से अपने बच्चे के नाखून काट दें । कटे हुए नाखूनों में बैक्टीरिया और गन्दगी कम होती है । उपत्वचा या छल्ली (क्यूटिकल्स ) का भी ख्याल रखें क्योंकि गंदगी वहां जमा हो जाती है और इससे संक्रमण हो सकता है। समय पर जैसे खेलने , खाने आदि के बाद  हाथ धोने की आदत भी लगाई जा सकती है । इससे स्वछता बढ़ेगी और नाखून चबाने की आदत भी समाप्त हो जाएगी 

 

ध्यान भटकाएं

ऐसा कुछ ढूंढें जो आपके बच्चे को व्यस्त रखे। वह एक गेंद  (स्ट्रेस बॉल) को दबाना हो या उंगली से चलाई जाने वाली  कठपुतलियों जैसे खिलौनों के साथ खेलना, ऐसे खेल जिनमे उनके हाथ शामिल हों। यह उन्हें नाखूनों को काटने के बजाए उनके हाथों में क्या है, उसपर ध्यान लगाने का अवसर देगा ।

 

पुरस्कार प्रणाली से प्रेरित करें

आप एक चार्ट बना सकते हैं जिसमें दिनचर्या के आधार पर विभाजित समय हो (उदाहरण: नाश्ते, खेल का समय, रात्रिभोज इत्यादि) इस दिनचर्या को सफलतापूर्वक मानने के बाद उन्हें सितारे, मुस्कुराहट या कोई अन्य पुरस्कार जो आप देना चाहें, दे सकते हैं | इसी तरह, उन्हें समझाएं कि जब भी वे अपने नाखून नहीं चबाएँगे , उन्हें कोई पुरस्कार मिलेगा । इसके अलावा आप एक मापदंड भी तय कर सकते हैं जैसे, पांच सितारे मिलने के बाद उन्हें एक ट्रीट मिलेगी आदि । यह उन्हें स्वस्थ तरीके से इस आदत को छोड़ने में मदद करेगा।

 

चिंताओं को दूर रखें!

नाखून चबाने की आदत छुड़ाने में कुछ समय लग सकता है। आपको अपने बच्चे के साथ धैर्य रखना होगा। याद रखें कि एक वयस्क के रूप में भी, बुरी आदतों को छोड़ना मुश्किल है, इसलिए, उनके साथ सहानुभूति बनाए रखें । नाखून चबाने के लिए उन्हें दंडित न करें। समझें कि अंततः यह आदत छूट जाएगी।

#balvikas #hindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!