गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह में आपको क्या क्या पता होना चाहिए?

cover-image
गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह में आपको क्या क्या पता होना चाहिए?

आपका बच्चा अभी भी सैकड़ों कोशिकाओं से बनी एक छोटी गेंद है और शायद ही दिखाई दे। शायद अभी आप अपने बच्चे को अल्ट्रासाउंड पर नहीं देख पाएंगी। कोशिकाओं या ब्लास्टोसिस्ट (जो कि आपका बच्चा बनने वाला है) की यह गेंद गर्भाशय में स्थित है और अब अस्तर में अपनी जगह खोदने लगी है। आपके भीतर एक जीवन बन रहा है और एक समय में एक कोशिका बनती है।



इन में से कुछ कोशिकाएं अब प्लेसेंटा बनती हैं और एचसीजी (ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रॉपिन) नामक हार्मोन का उत्पादन शुरू करती हैं। इस चरण में इस हार्मोन का स्तर तेजी से बढ़ता है और अब एक रक्त परीक्षण आपके डॉक्टर को यह समझने में मदद कर सकता है कि गर्भावस्था ठीक से चल रही है या नही।



एचसीजी हार्मोन अंडाशय को संकेत भेजता है कि वह अब और अंडे न छोड़ें। साथ ही वह गर्भाशय को अपनी गद्देदार अस्तर को बरकरार रखने के लिए भी कहता है। अब आप अगले नौ महीनों के लिए अपने मासिक धर्म कोे अलविदा कह सकती हैं!



चिन्ह और लक्षण
आप वास्तव में गर्भावस्था के कुछ लक्षणों का अनुभव कर सकती हैं भले ही आपके परीक्षण अभी तक सकारात्मक नहीं हैं। अधिकांश स्त्रियां जो दूसरी बार मां बन रही हो वह इन लक्षणों को आसानी से पहचान सकती हैं।



सबसे आसान चिन्ह है स्तनों में कोमलता की भावना। आपके स्तन अब टच-मी-नाॅट की तरह व्यवहार करना शुरू कर देंगे और आप देखेंगे कि अरियोला (आपके निप्पल के चारों ओर गोलाकार क्षेत्र) थोड़ा बढ़ा और थोड़े गहरे रंग का हो गया है।



एक और लक्षण है थका हुआ और सुस्त महसूस करना। आप खुद को अधिकांश दिन के लिए आराम देना चाहेंगी। यह बिल्कुल सामान्य है। आखिरकार आप एक बच्चे को बना रही हैं!



सामान्य से अधिक बाथरूम का उपयोग करने की आवश्यकता महसूस करना एक और लक्षण है क्योंकि गर्भाशय मूत्राशय के ऊपर दबाव डालने लगता है।



कई महिलाओं को लगता है कि गर्भावस्था के दौरान उनके स्वाद बदल जाते हैं। जो भोजन उन्हें पहले पसंद नही था वो अब पसंद आने लगता है और जो पहले पसंद था उसमें उनकी रुचि अब कम हो गयी है। जो चाहती हैं उसे संयम से खाएं और अपने स्वाद के साथ मजा लें।



शारीरिक विकास
आपका गर्भाशय धीरे-धीरे आपके होंने वाले बच्चे का घर बन रहा है और तेजी से फैल रहा है। यदि आपने हमेशा स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखी है तो आपको अपने दिनचर्या में कोई बड़ा बदलाव नहीं करना पड़ेगा। लेकिन जब आप जानते हैं कि गर्भवती होने की संभावना है, तो विवादित गतिविधियों से दूर रहें जैसे कि उच्च प्रभाव वाले खेल, भारी दवा और शराब।



भावनात्मक बदलाव
यह समय है जबकि ज्यादातर महिलाएं अनुमान लगाती हैं कि वे गर्भवती हो सकती हैं। आप घर पर ही गर्भावस्था परीक्षण की कोशिश कर सकती हैं जिसके लिए आपको टेस्ट स्ट्रिप पर मूत्र की कुछ बूंदें डालने की आवश्यकता होती है। परीक्षण नकारात्मक हो सकता है लेकिन यह न मानें कि आप निश्चित रूप से गर्भवती नहीं हैं।



अपनी पिछली मासिक धर्म की पहली तारीख के लगभग 5 सप्ताह बाद यह परीक्षण दोहराएं। आपको अपने डॉक्टर के साथ अपॉइंटमेंट लेने की आवश्यकता है, जो अधिक सटीक परिणाम प्राप्त करने के लिए रक्त परीक्षण निर्धारित कर सकते हैं।



खतरे की घंटी
कभी-कभी, प्रत्यारोपण सर्विक्स (गर्भाशय के मुंह) के बहुत पास या उपर ही हो जाता है। चिकित्सकीय भाषा में इसको “लो लाइंग प्लेसेंटा” या “प्लेसेंटा प्रिविआ” कहा जाता है। जिन महिलाओं में यह स्थिति पायी जाती है, वह अक्सर खून के धब्बे आने का अनुभव करेंगी, जो बहुत डरावना लग सकता है। ऐसे में आपके डॉक्टर आपके व्यायाम को सीमित कर के आपको जितना संभव हो सके उतना आराम करने के लिए कहेंगे।



मिथक
यह एक आम मिथक है कि नव गर्भवती महिलाओं को चटकीले खाद्य पदार्थों के सेवन से आनंद मिलता है और उनकी अचार के लिए लालसा शुरू हो जाती है। ऐसा शायद इसलिए है क्योंकि गर्भावस्था में हार्मोन की वजह से आपके स्वाद में बदलाव आता है और ऐसे में अचार एक मजबूत एवं भिन्न स्वाद प्रदान करते हैं।

#garbhavastha #hindi #garbhavastha #hindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!