अपने बच्चे को आराम देने के लिए पांच मालिश युक्तियाँ

cover-image
अपने बच्चे को आराम देने के लिए पांच मालिश युक्तियाँ

मालिश आपके बच्चे के साथ संवाद करने का एक तरीका है। यह सबसे आरामदायक स्पर्श है जिसे आप अपने बच्चे को प्रदान कर सकते हैं। एक अच्छा मालिश सत्र आपके बच्चे के मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता है और एक सुखद और शांत अनुभव भी प्रदान करता है। वास्तव में, मालिश आपके बच्चे के वजन बढ़ाने पर भी सकारात्मक प्रभाव डालता है। लेकिन क्या आपने कभी एक जांच सूची की कामना की है जो आपको बताएगी कि आप जो कर रहे हैं वो सही है? खैर, यहां बच्चे के  मालिश की पांच युक्तियाँ दी गई हैं जो आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करेंगी कि आप अपने बच्चे को सही तरीके से मालिश दे रहे हैं।

 

१. सही समय चूने

माता-पिता होने के नाते, आप जानते हैं कि आपके बच्चे का दिनचर्या क्या है। इसलिए, जब आप अपने बच्चे को मालिश करने का फैसला करते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप एक समय का चुनाव करे जब आपका शिशु न तो बहुत भरा होता है और न ही भूखा होता है। ज्यादातर माता-पिता स्नान से पहले अपने शिशुओं को मालिश करना पसंद करते हैं। मालिश का तेल बच्चे के शरीर को लयबद्ध पैटर्न में सांस लेने और उन्हें आराम करने की अनुमति देता है, जो विशेष रूप से उपयोगी होता है यदि उन्हें स्नान पसंद नहीं है।

 

२. प्रतिक्रिया की जांच करें

शिशु अपने शरीर की प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं। जब भी आप उन्हें मालिश करने की योजना बनाते हैं, उनके शरीर की भाषा पर ध्यान दें। पहले कुछ सेकंड यह जानने के लिए पर्याप्त हैं कि वे सत्र का आनंद ले रहे हैं या नहीं। यदि आपका शिशु झुका हुआ है, रोता है, या छूने  पर प्रतिरोध दिखा रहा है, तो यह संकेत है की आप रुक जाए। यह एक संकेत है कि आपका बच्चा १५ मिनट के मालिश सत्र का आनंद लेने वाला नहीं है जिसे आप करने वाले हैं।

 

३. तापमान बनाए रखें

कमरे का तापमान भी बच्चे के प्रतिक्रिया में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आपको इसके बारे में अतिरिक्त सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि बच्चे तापमान पर वयस्क के जैसे प्रतिक्रिया नहीं देते हैं। गर्मी का मौसम में शिशु जल्द गरम हो जाते हैं, और ठण्ड में आसानी से ठन्डे हो जाते है। इसलिए, यह बेहद जरूरी है कि आप उनके कपड़े खोलने से पहले मौसम के अनुसार कमरे के तापमान को समायोजित कर लें।

 

४. पहले पैर से शुरू करें

अपने बच्चे को मालिश करने का सही तरीका पैर से शुरू करना और फिर आगे बढ़ना। एक अच्छा पैर का मालिश पूरे शरीर को लाभान्वित करता है। सिरदर्द और पेट के असुविधाओं को खत्म करने में बच्चे के पैरों पर कुछ दबाव बिंदु की मालिश करने से मदद मिल सकती है। फिर, हाथों में चले जाए और प्रत्येक उंगली को धीरे-धीरे मालिश करें। अपने बच्चे की बाहों और कलाई पर उंगलियों के उपयोग से परिपत्र पैटर्न बनाए।

 

५. पीछे के साथ खत्म करें

अपने बच्चे के चेहरे और पेट की मालिश के बाद, पीठ के एक अच्छे और गर्म मालिश के साथ सत्र को समाप्त करें। बच्चे को पेट के बल और हाथो को सामने की तरफ रख कर लेटा दें। अपने हथेलियों के साथ गोलाकार स्ट्रोक बनाते हुए, धीरे-धीरे ऊपरी हिस्से से निचले हिस्से में ले जाएं। अपनी उंगलियों के साथ अपने बच्चे के रीढ़ की हड्डी पर एक मध्यम मात्रा में दबाव डालें और हल्के ढंग से बट की मालिश करके खत्म करें।

आपका बच्चा आपके प्यार के स्पर्श को समझता है और मालिश उन्हें यह बताने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप उनकी देखभाल करते हैं। हालांकि ये केवल कुछ  मालिश के युक्तियाँ हैं, आप आगे उनकी जरूरतों को ज्यादा अच्छे से समझ पाएंगे।

 

#बेबीकेयर

#shishukidekhbhal #hindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!