सिजेरियन या नार्मल डिलीवरी का निर्णय

क्या आप अपने बड़े दिवस, अपनी डिलीवरी की प्लानिंग कर रहे है और सीज़ेरियन या नॉर्मल डिलीवरी दोनों के बारे में जानने के लिए उत्सुक है? क्या आप भी सोच में है की दोनों में से बेहतर और सुरक्षित विकल्प कौन सा है? परेशान न हो। इस अनुच्छेद के माध्यम से आप नॉर्मल और सिज़ेरियन डिलीवरी के बिच में अंतर और उनकी ज़रूरत समझ सकते है।


नॉर्मल डिलीवरी


नार्मल डिलीवरी का मतलब है बच्चा वेजाइना से गर्भाशय के संकुचन या कॉन्ट्रैक्शन के कारण बाहर आता है। इसमें पहले बच्चे का सिर बाहर आता है फिर सिर को पकड़कर पूरी बॉडी को बाहर खींचा जाता है।


नार्मल डिलीवरी प्रक्रिया


इस प्रक्रिया में महिला के शरीर में सभी हारमोंस का अच्छी तरह बनना और स्त्रावित होना ज़रुरी है जिससे यह प्रक्रिया सामान्य तौर पर हो पाती है। इसके अलावा भी अन्य शारीरिक क्षमताओं की भी आप को आवश्यकता होती है जैसे कॉन्ट्रैक्शन में होने वाला दर्द सहने की क्षमता। इसके लिए घर की बड़ी महिलाएं गर्भावस्था की शुरुआत से ही आप को तैयार करने लगती है। इस तरह नार्मल डिलीवरी में बच्चे और आप दोनों ही सुरक्षित और स्वस्थ रह पाते है।


नार्मल डिलीवरी के फायदे


इस प्रक्रिया में होने वाले परिवर्तन बच्चे के लिए बहुत लाभकारी होते है क्योंकि इसमें बच्चे का जन्म उस द्रव के निकलने के साथ होता है जो गर्भाशय में पहले से उपस्थित था। इसलिए उसमें बच्चे के शरीर में हेल्दी बैक्टीरिया पहुँचने की पूर्ण सम्भावना रहती है और बच्चा जन्म से ही कई सारी बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखता है।


नार्मल डिलीवरी से आगे जीवन में बच्चे की आँतों में पनपने वाले बैक्टेरिया की अच्छी-खासी पॉपुलेशन मिल जाती है। इस तरह वह अपने जीवन की कई कठिनाइयों को चुटकी में पार कर लेता है।


माँ को मिलने वाले फायदे


इसके अलावा माँ को बच्चे के जन्म के तुरंत बाद सामान्य स्थिति में वापस जाने में कम समय लगता है। आप अपने बच्चे को तु्रन्त स्तनपान(ब्रेस्ट फीडिंग ) करवा सकती है और हार्मोंन्स के अच्छे संतुलन के कारण आप खुद में अच्छा महसूस करती है।


सी- सेक्शन या सिजेरियन डिलीवरी?


नॉर्मल डिलीवरी के दर्द और प्रक्रिया सुनने के बाद बहुत सी ऐसी महिलायें है जो सोचती है की सिजेरियन डिलीवरी में दर्द नहीं होगा, पर ऐसा नहीं है। आइए आपको हम ये बताये की सिज़ेरियन डिलीवरी की क्या प्रक्रिया है और उसके उपरान्त होने वाली दिक्कते के बारो में।


सिज़ेरियन डिलीवरी की प्रक्रिया


जब आप की स्थिति सामान्य स्थितियों से अलग हो तो डॉक्टर सी- सेक्शन या सिज़ेरियन डिलीवरी का विकल्प चुनते है। यदि आप ओवरवेट हों, बच्चा पैरो की और से निचे की तरफ है, या फिर आपकी फिजियोलॉजिकल कंडीशन सही न हो तो सिज़ेरियन बेबी डिलीवरी का आप्शन लिया जाता है।


इसमें आप को निश्चेतक (एनेस्थीसिया) दिया जाता है और गर्भाशय तक चीरा लगाकर बच्चे को निकाला जाता है।


सिजेरियन डिलीवरी के नुकसान


सिज़ेरियन डिलीवरी में बच्चा और आप दोनों ही सुरक्षित रहते है। अगर कोई भी रिस्क फैक्टर होता है तो डॉक्टर और माता-पिता दोनों ही सिज़ेरियन डिलीवरी की अनुमति ली जाती है।


सिज़ेरियन डिलीवरी में आप की रिकवरी होने में ज्यादा समय लगता है, तुरंत बच्चे को ब्रैस्ट फीडिंग नहीं करवाई जा सकती और बच्चा माँ के शरीर से मिले बैक्टीरिया का लाभ नहीं उठा पाता। इस कारण कम उम्र में इन्फेक्शन का रिस्क ज़्यादा होता है।


एक सफल डिलीवरी


चाहे सिज़ेरियन हो या नार्मल, इन दोनों परिस्थितियों में आपके डॉक्टर के मार्गदर्शन से आप बच्चे और अपनी स्थिति की जांच कर सही डिलीवरी के तरीके का निर्णय ले सकती है।

 

#garbhavastha #hindi #hindibabychakra

Pregnancy

गर्भावस्था

Leave a Comment

Comments (43)



vandana rai

बहुत खूब लिखा गया है

lalit kumar

Last date 20/12/17 so how weeks

K P

Nice subject

Ram Shankar

नार्मल डिलेवरी

bhagirath nouriya

Bahut badiya Lake likha hai

Rahul

मुझे इस लेख की ही तलाश थी!

Drx Lokesh Sahu

31 week in pregnancy

Bindas Bindas

Bohut hi labh dayeok jankari hein

Chandra Shekhar

Nice... Bahut hi kaam ki khabar hai

Priya

बहुत खूब लिखा गया है

Sunil Shab

Madam Meri wife ka 8 Va week hai Kya hum sex ker shakte hai

Arvind Sharma

Sir meri wife ke pet me Dard hota h

ram sk

C section hone ke bad bhi bacche ko sahi tarike se maa ka dhudh kaise pilaye or bacche ko heldi rakhne k liye kya kare.use koyi infection ya bakteriya se kaise bachaye..

M.K. DUBEY

काश मुझे यह पहले पता होता!

Saiful Alam

काश मुझे यह पहले पता होता!

laxman

Best information

mk

Mem meri biwi ko pahli bachhi opration se hui h or abhi wo pet se h kya dusra bachha bhi opration se hi hoga pls btaye m apni biwi se bhut pyar karta hu mujhe opration nhi karwana h aap koi rasta btaye jisse normal deliwary ho jaaye

Ram

मुझे इस लेख की ही तलाश थी!

U Singh

Good knowledge

Priyanka Meshram

आज काल डॉक्टर पैसे के लिये c section hi karte hai

P K

बहुत खूब लिखा गया है

Aman Kumar

काश मुझे यह पहले पता होता!

निशा देवी

Madam Meri 8 Va week hai Kya hum sex ker shakte hai

Gyandar Sd

yes likin aram sa

Ikbal Ansari

मेरे पत्नी बच्चा था कि प्रेग्नेंट है बच्चा हो गया नहीं तो प्रोग्राम

khushboo

बहुत खूब लिखा गया है

Anuj Srivastav

बहुत खूब लिखा गया है

Kuldeep Saxena

बिलकुल सही समय पर आया यह लेख!

Paresh Solanki

इससे मुझे बहुत मदद मिली!

princy

Lekin normal delivery me sab khte h dard asahniya hota h chahti Mai bhi hu normal ho mera bccha

Sonal Goyal

इससे मुझे बहुत मदद मिली!

rekha patel

Nice subject

Dhammpal Satalkar

बहुत खूब लिखा गया है

Ashwini Moundekar

मेरी डिलीवरी तारीख 11 अप्रैल है

Khushboo Kanojia

5 months Chal raha h

Recommended Articles