गर्भावस्था के सैंतीसवे सप्ताह के बारे में आपकी पत्नी को क्या क्या पता होना चाहिए?

cover-image
गर्भावस्था के सैंतीसवे सप्ताह के बारे में आपकी पत्नी को क्या क्या पता होना चाहिए?

आपका बच्चा अब लगभग पूरी तरह बढ़ गया है और इसे पूर्ण अवधि माना जा सकता है। वह अब 19 इंच से अधिक लंबा है और वजन 3 किलो से कम है।

यद्यपि कुछ हफ्तें और लग जाएंगे फेफड़ें और मस्तिष्क को परिपक्व होने में, लेकिन आपका बच्चा अभी पैदा होता है तब भी वह गर्भ के बाहर जीवन के साथ अच्छी तरह से सामना करने में सक्षम होगा।

यदि आपकी पत्नी का पिछला सी-सेक्शन हुआ है या कुछ चिकित्सकीय मीमांसा हैं जैसे कि ब्रीच बेबी या प्लेसेंटा प्रिवीया, तो आपका डॉक्टर एक योजनाबद्ध सी-सेक्शन पर चर्चा कर सकता है। ऐसे मामलों में, आपका डॉक्टर अपेक्षित जन्म तिथि से 7 से 10 दिन पहले की तारीख की योजना बना सकता है।



चिन्ह और लक्षण


गर्भावस्था के दौरान सप्ताह दर सप्ताह, विशेष रूप से दूसरे तिमाही में, आपकी पत्नी अक्सर अपने बच्चे को हिचकी लेते हुए महसूस कर सकती हैं और इन्हें पेट में लयबद्ध, दस्तक देने के रूप में महसूस किया जाएगा।

वह अधिक बार लगातार ब्रैक्सटन-हिक्स संकुचन महसूस करना शुरू कर सकती हैं जो अब उन्हें थोड़ा असहज महसूस करा सकता है और अधिक ध्यान देने योग्य हो सकता है।

आपकी पत्नी अस्पताल के दौरे की योजना बनाना चाहेंगी या प्रसव कक्ष और डिलीवरी क्षेत्र से परिचित होने के लिए भेंट कर सकती हैं। जब आप वास्तव में जन्म के लिए अस्पताल आएंगे तो यह उनके लिए आरामदायक महसूस करने में मदद करेगा।



शारीरिक विकास


लोग उनको बता सकते हैं कि ऐसा लगता है कि वह किसी भी समय बच्चा डिलीवर कर सकती हैं। इसका मतलब यह है कि वह शायद पूरी तरह गर्भवती दिख रही हैं और बच्चे को जन्म देने के लिए तैयार हैं। वह बस अपने जन्मपूर्व व्यायाम करना जारी रखें ताकि आसानी से डिलीवरी कर सकें।



भावनात्मक परिवर्तन


आप दोनों अपने बच्चे को व्यक्तिगत या शुभ कारणों के लिए एक विशिष्ट तारीख पर जन्म देना चाह सकते हैं। यह सबसे अच्छा विचार नहीं है क्योंकि आपके बच्चे का पूरी तरह से तैयार होना आवश्यक है। एक बार तैयार हो जाने पर, आपका बच्चा खुद ही प्रसव वेदनाओं को शुरू करेगा और जन्म प्रक्रिया का समर्थन करेगा।

यह महत्वपूर्ण है कि आप प्रसवोत्तर डिप्रेशन पर पढ़ लें। बहुत सी मां इस स्थिति से पीड़ित हैं, जो हार्मोन के परिणामस्वरूप उत्पन्न होती है और पोस्ट डिलीवरी के मनोवैज्ञानिक परिवर्तन होते हैं।

ज्यादातर माँओं को यह भी एहसास नहीं होता कि वे पीड़ित हैं। अगर ध्यान नहीं दिया जाता है तो प्रसवोत्तर डिप्रेशन से विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं।



खतरे की घंटी


जैसे जैसे वह सप्ताह दर सप्ताह में गर्भावस्था को ट्रैक करती हैं, योनि से किसी भी रिसाव के लिए उन्हें सतर्क रहना चाहिए। जैसे ही बच्चे का सिर गर्भाशय के खिलाफ दबता हैं, कुछ तरल पदार्थ निकल सकते हैं और उन्हें नमी महसूस हो सकती है।

यदि वह खुद को लगातार नम महसूस करती हैं, तो यह अम्नीओटिक द्रव लीक हो सकता है। इसका मतलब है कि आपके बच्चे के जीवाणुरहित पर्यावरण से समझौता किया गया है, इसलिए एक बार अपने डॉक्टर से जांच करानी होगी।



बड़ी बूढ़ी औरतों की कहानियाँ


बुजुर्ग रिश्तेदार उन्हें प्रसववेदना लाने के लिए मसालेदार भोजन खाने के लिए कह सकते हैं। मसालेदार भोजन आंतों और गर्भाशय को उत्तेजित करता है।

हम नहीं जानते कि प्रसववेदना लाने के लिए वास्तव में कितना मसाला आवश्यक है। यदि वह वास्तव में प्रसववेदना में जाती हैं, तो मसालेदार भोजन हर्ट्बर्न, दस्त और उल्टी का कारण बन सकता है जो प्रसव को और अप्रिय बना सकता है।

 

#garbhavastha
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!