क्या आप जानते हैं, गर्भावस्था के दौरान गैस से कैसे मिले निजात ?

cover-image
क्या आप जानते हैं, गर्भावस्था के दौरान गैस से कैसे मिले निजात ?

गर्भावस्था के दौरान गैस और फूलापन होना शर्मनाक और परेशान करने वाला हो सकता है। यहां बताया गया है कि आप इसे से बिना किसी चिंता के कैसे निजात पा सकते हैं।

 

एक विशिष्ट व्यक्ति एक दिन में लगभग 18 से 20 बार गैस पास करता है। इसका मतलब है कि एक औसत व्यक्ति हर दिन 4 पिंट्स गैस का उत्पादन करता है। हर व्यक्ति के लिए गैस का अर्थ अलग है। कुछ के लिए, इसका मतलब एक फूलेपन का एहसास हो सकता है, जबकि बाकी के लिए, इसका सीधा सा मतलब है गैस होना यानि पेट फूलना। गैस को निकलने के मार्ग की आवश्यकता होती है जो कि डकार या पेट फूलने के माध्यम से उपलब्ध होती है।

 

गर्भावस्था के दौरान गैस का कारण क्या है?


-गर्भावस्था के दौरान गैस पास करना बेहद आम है व इस दौरान गैस से निपटने में चुनौतियां बढ़ जाती हैं।
-इसके सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक प्रोजेस्टेरोन है।
-प्रोजेस्टेरोन एक हार्मोन है जो कोमल मांसपेशियों को आराम करने का कारण बनता है।
- यह आंतों की मांसपेशियों द्वारा पाचन प्रक्रिया को धीमा कर देता है।
-इससे गैस तेजी से बनती है, जिसके कारण पेट फूलने लगता है।
- गैस और ब्लोटिंग की समस्या गर्भावस्था के बाद के महीनों में अधिक होती है क्योंकि बढ़े हुए गर्भाशय उदर गुहा पर दबाव डालते हैं।
-उस समय पर गैस के पारित होने को नियंत्रित करना मुश्किल हो जाता है।



गर्भावस्था में गैस की परेशानी को कैसे रोकें?


गर्भावस्था के दौरान गैस की परेशानी को रोकना मुश्किल है।मगर कुछ निश्चित कदम हैं जो इस परेशानी की स्थिति से उत्पन्न संकट को कम करने के लिए उठाए जा  सकते हैं।

 



१)बहुत सारे तरल पदार्थ:


- पर्याप्त पानी पिएं।
- अन्य तरल पदार्थों के साथ हर दिन कम से कम 8 से 12 गिलास पानी पीने का लक्ष्य रखें।
- इन तरल पदार्थों में गैस-प्रवर्धक तत्व अधिक मात्रा में नहीं होने चाहिए ।
- संतरे, अनानास और अंगूर जैसे कुछ फलों के रस भी सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

 

२) व्यायाम:


-दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाएं ।
-45 मिनट के लिए एक ब्रिस्क वॉक या इसी तरह की एक्सरसाइज करें ।
-व्यायाम कब्ज को रोकने में मदद करता है और पाचन प्रक्रिया को प्रभावित करता है।
-गर्भावस्था में किसी भी व्यायाम शासन की शुरुआत करने से पहले, किसी विशेषज्ञ से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

 

३)फाइबर:


- आहार में फाइबर जोड़ने से मल नरम हो जाएगा जिससे यह आसानी से गुजर सकता है।
-केले, अनाज, जई, खट्टे फल जैसे खाद्य पदार्थ फाइबर सामग्री से भरपूर होते हैं।

 

४)स्टूल सॉफ़्नर:


-यह स्टूल को पास करना आसान बना देगा, इस प्रकार ब्लोटिंग सीमित हो जाएगी।
-गर्भावस्था के चरण के अनुसार उचित खुराक के लिए डॉक्टर से परामर्श करें।
- किसी भी तरह के जुलाब से बचें , क्योंकि वे गर्भावस्था के दौरान जटिलताओं का कारण बन सकते हैं।



एक स्वस्थ जीवन शैली अच्छे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, और यह गर्भावस्था के दौरान भी सच है। हालांकि, गैस और ब्लोटिंग हमेशा आपको ज़्यादा परेशान नहीं करते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह गंभीर स्तिथि नहीं है, अगर लगातार या गंभीर, पेट दर्द या कब्ज हो जो एक सप्ताह से अधिक समय तक रहता है, तो डॉक्टर को दिखाएं ।

 

#babychakrahindi #babychakrahindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!