6 gharelu nushke jo garbhawastha ke dauraan muhaason se chuthkara dilane me madad karte hain

6 gharelu nushke jo garbhawastha ke dauraan muhaason se chuthkara dilane me madad karte hain

9 May 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

ज्यादातर महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान मुँहासों का सामना करना पडता है, जो कि उनकी पहली या दूसरी तिमाही से दिखाई देने लगते हैं। ऐसा आमतौर पर हार्मोन एंड्रोजन में हुई वृद्धि के कारण होता है, जो आपकी त्वचा को चिपचिपा और तैलीय (ऑयली)महसूस करा सकता है। तो, आपके लिए यह रहे कुछ घरेलू उपाय जो कि गर्भावस्था के दौरान मुँहासों से लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं :

1. सेब का सिरका या ऐप्पल सीडर विनेगर ।

सेब का सिरका या ऐप्पल सीडर विनेगर तेल सोखने मे और ऑयली स्पॉट्स मिटाने मे काफी असरदार होता है। रुई के गोले को अच्छी तरह से इस सिरके से भीगों लें और प्रभावित त्वचा पर लगा लें। आप इससे प्राकृतिक टोनर भी बना सकतीं हैं। बस सिरके के एक चौथाई हिस्से को साफ पानी मे मिला लें और आपका टोनर तैयार है।

2. खट्टे फल।

नींबू जैसे खट्टे फल मे सिकोडनेवाले गुण होते हैं और इसलिए वह मुँहासों के खिलाफ अच्छा काम करते हैं। जब भी इन्हे आपकी त्वचा पर लगाया जाता है, तो ये आपकी त्वचा के छिद्रों को खोल देते है और डेड स्कीन सैल्स से भी छुटकारा दिलाते है। इनमे प्राकृतिक रूप से जीवाणुरोधी गुण होते हैं और इसे एक प्राकृतिक एक्स्फोलीएंट के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। तुरंत परिणाम देखने के लिए मुँहासों पर नींबू के रस का सीधा प्रयोग करें।

3. बेकिंग सोडा।

बेकिंग सोडा को पानी मे मिलाकर आप उसका ड्राईं पेस्ट की तरह इस्तेमाल कर सकती है। ये पेस्ट अतिरिक्त तेल को सोख लेता है और मुँहासों से राहत दिलता है। बेकिंग सोडा और पानी को समान मात्रा मे मिला लें और प्रत्येक मुँहासे पर इस पेस्ट को अलग-अलग लगा लें। बाद में इन्हे ठंडे पानी से हल्के हाथों से धो ले, कुछ दिनों में आप चेहरे में नई ताजग़ी पायेंगी ।

4. नारियल का तेल।

जब भी हम ऑयली त्वचा की देखभाल के बारे मे सोचते है, तो आम तौर पर हम दूसरे ऑयली पदार्थों से दूर ही रहना पंसद करते है, पर असल मे नारियल का तेल एक ऐसा ऑयली पदार्थ है जो कि हमारी त्वचा को तेलमुक्त कराने में मदद करता है। यह हमारी त्वचा को थोडा आराम देता है और उसे भी कोमल भी बना देता है। इस तेल को हमारे शरीर द्वारा आसानी से स्वीकारा जाता है। इसमे जीवाणुरोधी गुण भी होते हैं। इसका सोने से पहले मॉइस्चराइज़र की तरह इस्तेमाल कर सकते है या मेकअप लगाने से पहले चेहरे पर लगा सकते है, जिससे कि मुँहासों मे कमी आ सकती है।

5. ओटमील और ककड़ी।

यह दोनों ही चीज़ें उनकी ठंडक दिलाने वाले असर के लिए जाने जाते है और फेस मास्क के रूप मे बहुत अच्छी तरह काम करते है। ककड़ी खुद ही टोनर की तरह काम कर सकती है और ओटमील प्राकृतिक रूप से ही एक्स्फोलीएंट होता है। इन दोनों को ब्लेनडर मे डालकर अच्छी तरह मिला लें और फ्रीज़ में रख दें। इस मिश्रण को चेहरे पर 15 से 20 मिनट तक लगा के रखें, ऐसा करने से आपको अपने चेहरे मे फर्क़ दिखने लगेगा।

6. शहद।

शहद एक मॉइस्चराइज़र और गोरापन देने वाली चीज़ के रूप मे बहुत अच्छा काम करता है। इसमे प्राकृतिक रूप से जीवाणुरोधी गुण होते हैं और ये एंटीसेप्टिक भी होता है। हम इसे विविध तरीकों से इस्तेमाल कर सकतें है। चेहरे को अच्छी तरह धो लेने के बाद, शहद को मुँहासों पर लगा लें, 15-20 मिनट हो जाने के बाद गुनगुने पानी से चेहरा अच्छी तरह धो लें। ऐसा करने से न केवल चेहरे पर से निशान मिट जाएंगे, पर साथ ही आपकी त्वचा को पोषण भी मिल जाएगा।

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop