एक सिगरेट भी गर्भावस्था मे आपके बच्चे के जीवन को प्रभावित कर सकती है

cover-image
एक सिगरेट भी गर्भावस्था मे आपके बच्चे के जीवन को प्रभावित कर सकती है

सिगरेट पिना किसी भी व्यक्ती के लिये एक भयानक आदत है , चाहे आप महिला है या पुरुष.  यदि आप पफ्फिंग के आदी है तो कै स्वास्थ्य बिमारीया आपका इंतजार कर रही है.धुम्रपान करने से कोई लाभ नही है अपितु नुकसान ही नुकसान है. यह फेफडो के कॅन्सिर का प्रमुख कारण माना जाता है.

 

संयुक्त राज्य अमेरिका मे, धुम्रपान से होने वाली मौतो की संख्या अधिकतम है.सिगरेट का दिल, फेफडे और दिमाग पर प्रतिकूल प्रभाव पडता है, और इसकी लत लगना बहुत आसान है.
हाल ही अद्धयन मे यह बात सामने आयी है कि अगर गर्भवती महिला 9 महिने के दौरान एक भी सिगरेट पीती है तो उसके बच्चें को खतरे में डाल सकती है ।

 

एसयूआईडी(अचानक अनअपेक्षित शिशु मृत्यु) की संभावना 22% अधिक है । शोध कर्ताओ ने 20 मिलियन से अधिक गर्भधारण और 19000 एसयूआईडी का विश्लेषण करने के बाद इस नतीजे पर पहुंचे । मूलरूप से धुम्रपान की किसी भी मात्रा से नवजात शिशु की मृत्यु का खतरा बढ़ जाता है और प्रत्येक सिगरेट के साथ प्रतिशत अधिक हो जाता है । लेकिन मूलरूप से इससे कोई फर्क नही पड़ता कि मॉम-टू-बी कुछ ड्रग्स लेती है ।


एक गर्भवती महिला को वैसे भी शराब और सिगरेट से दूर रहने को कहा जाता है लेकिन उनमे से कुछ एक ग्लास वाईन तथा कुछ कश चुपके से पी लेती है । हालांकि नतीजे इतने खतरनाक नही लगते, लेकिन एक अध्ययन के बाद एक उम्मीद की, मां को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि वह अपने बच्चें के जन्म तक एक भी सिगरेट नही पीती । इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान एक महिला को धीमी गति से पचने वाले कार्ब्स,लीन प्रोटीन और स्वस्थ वसा का मिश्रण खाकर संतुलित आहार बनाए रखना चाहिये उसे साधारण व्यायाम या योग करके भी सक्रिय रहना चाहिये ।

#babychakrahindi #babychakrahindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!