Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!

नॉर्मल डिलिवरी चाहती हैं तो ये कुछ खास टिप्‍स आपके लिए

cover-image
नॉर्मल डिलिवरी चाहती हैं तो ये कुछ खास टिप्‍स आपके लिए

गर्भावस्था के दौरान मां और शिशु का स्वस्थ रहना बेहद जरूरी होता है। सी-सेक्शन के बजाय नॉर्मल डिलीवरी मां और बच्चे के लिए फायदेमंद होती है। आइए जानते हैं आसान और नॉर्मल डिलीवरी के कुछ टिप्स-

 

1. तनाव न लें:

 

प्रेगनेंसी के समय तनाव तो होता ही है। लेकिन शुरू से ही कोशिश करनी चाहिए कि तनाव लेने से बचा जाए। डिलावरी का टाइम नजदीक आते ही शांत और खुश रहना सीख लेना चाहिए।


2. मेडिटेशन करें:

 

तनाव, डर, बेचैनी, घबराहट से बचने के लिए मन-मस्तिष्क को एकाग्र करके ध्यान लगाएं। शांत रहने के लिए मेडीटेशन करें। इस दौरान गहरी सांस लेने-छोड़ने पर ध्यान लगाएं।

 

अभी ख़रीदे और पाए 38% की छूट

3. वजन न बढ़ने दें:

 

गर्भावस्था में संतुलित भोजन करें। अपने डाइट पर ध्यान रखें। अपना वजन बढ़ने न दें। ज्यादा वजन बढ़ने से शिशु को मॉनीटर करना मुश्किल हो जाता है और सिजेरियन डिलीवरी की संभावना बढ़ जाती है।

 

4. सही खान-पान:

 

गर्भावस्‍था के दौरान पौष्टिक और संतुलित  भोजन करना चाहिए। कैल्शियम और आयरनयुक्‍त भोजन बहुत आवश्‍यक होता है। पौष्टिक भोजन सो मां और बच्चे की इम्यूनिटी और शारीरिक ताकत बढ़ती है।


5. सुबह-शाम करें एक्सरसाइज़:

 

हर रोज एक्सरसाइज़ करना न भूले। प्री-नेटल एक्सरसाइज करें जिसकी क्लासेस भी चलती हैं। प्रतिदिन योगा और व्यायाम से आपकी पेल्विक मांसपेशियां मज़बूत होती हैं। डॉक्टर, योगा एक्सपर्ट से सलाह लेकर सही व्यायाम करें।


6. खूब पानी पीएं:

 

ग र्भावस्‍था में आप जितना ज्‍यादा पानी पीएंगी, नॉर्मल डिलिवरी के चांसेज उतना ज्‍यादा हो जाएंगे। ज्‍यादा पानी से एमनियोटिक फ्लूड की मात्रा सही रहती है। बच्‍चे को इसी से ऊर्जा मिलती है।

 

अभी ख़रीदे और पाए 100% कॅश बैक


7. खूब टहलें:

 

पहले 10-15 मिनट की सैर से शुरुआत करें। धीरे-धीरे बढ़ाते हुए आप इससे 40 मिनट प्रतिदिन कर लें। इससे आपकी सहनशीलता बढ़ेगी जिससे लेबर पेन को सहने में आप सक्षम होंगी।


8. सक्रिय रहें:

 

प्रेग्‍नेंट महिलाओं को कमजोरी, थकावट, चक्कर, दर्द का बहाना बनाकर हमेशा बिस्‍तर पर नहीं पड़े रहना चाहिए। घर के हल्के-फुल्के काम करने चाहिए। एक्टिव रहने से गर्भ में बच्चे की पोजिशन भी सही रहती है।

 

9. डॉक्टर का चयन:

 

डिलीवरी के लिए डॉक्टर चुनते समय उन्हें साफ-साफ बता दें कि आप नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं। गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में ही ऐसे डॉक्टर की तलाश कर लें जिसने ज्यादातर नॉर्मल डिलीवरी कराई हो।


10. जानकारी लें:

 

आपको नॉर्मल डिलीवरी के बारे में अधिक-से-अधिक पढ़कर, अपनी महिला रिश्तेदारों, सहेलियों से पूछकर जानकारी लेनी चाहिए।


11. मानसिक रूप से तैयार रहें:

 

जैसे-जैसे डिलीवरी का समय करीब आने लगे अपने-आप को मानसिक रूप से प्रसव के दर्द को सहने के लिए तैयार करें।


12. खुद पर भरोसा रखें:

 

आपको खुद पर भरोसा रखना चाहिेए कि यह भी एक प्राकृतिक प्रक्रिया है आप इसे अच्छी तरह कर पाएंगी। सदियों से महिलाएं बच्चों को जन्म देती आ रही हैं। आपको भी इसी तरह आपकी मां ने जन्म दिया था।


13. अपना प्रसव साथी चुनें:

 

गर्भावस्‍था के अंतिम समय में किसी अनुभवी महिला को अपने साथ रखें जो आपके साथ-साथ डॉक्टर के यहां जाए, आपकी एक्सरसाइज़, मालिश आदि का ध्यान रखे। अस्पताल में आपके साथ रह सके। डिलीवरी के बाद जच्चा-बच्चा की देखभाल कर सके।

 

सूचना: बेबीचक्रा  अपने वेब साइट और ऐप पर कोई भी लेख सामग्री को पोस्ट करते समय उसकी सटीकता, पूर्णता और सामयिकता का ध्यान रखता है। फिर भी बेबीचक्रा अपने द्वारा या वेब साइट या ऐप पर दी गई किसी भी लेख सामग्री की सटीकता, पूर्णता और सामयिकता की पुष्टि नहीं करता है चाहे वह स्वयं बेबीचक्रा, इसके प्रदाता या वेब साइट या ऐप के उपयोगकर्ता द्वारा ही क्यों न प्रदान की गई हो। किसी भी लेख सामग्री का उपयोग करने पर बेबीचक्रा और उसके लेखक/रचनाकार को उचित श्रेय दिया जाना चाहिए।