Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!

तेल मालिश रखे आपको जवां-जवां

cover-image
तेल मालिश रखे आपको जवां-जवां

अपने देश में तेल मालिश आजमाया हुआ नुस्खा है जो बरसों से चला आ रहा है। जच्चा और बच्चा के लिए तो तेल मालिश बेहद जरूरी होती है। गांवों में तो पुरुष लगभग रोज ही तेल लगा कर नहाते हैं साथ में वे घर के लड़कों की भी अपने हाथों से तेल मालिश कर नहला भी देते हैं।

 

एक तरह से देखें तो तेल मालिश हमारे रोजाना के जीवन के साथ हमारी परंपरा के रूप में भी शामिल है। जच्चा और बच्चा को तेल मालिश तो करते ही हैं दूसरे कई शुभ अवसरों पर भी तेल मालिश की परंपरा है। जैसे शादी के कुछ दिनों पहले से ही दूल्हा-दुल्हन की मालिश और उबटन लगाने की परंपरा है। दिवाली जैसे त्योहारों पर भी तेल मालिश और उबटन लगा कर अभ्यंग स्नान किया जाता है।

 

तेल मालिश भी शारीरिक उपचार का एक तरीका है। आयुर्वेद और नैचरोपथी में मालिश को बेहद अहम माना गया है। इसे कई बीमारियों के इलाज में असर माना जाता है। यह तन-मन को नई ताजगी देता है। मालिश के लिए मौसम और तेल, दोनों की भूमिका अहम होती है। मौसम के अनुसार, मालिश के लिए जरूरी तेल और तरीके, दोनों बदल जाते हैं।

 

मालिश के लिए सही मौसम है सर्दी का

सर्दी के मौसम में इसे बेहद गुणकारी माना गया है। सुबह के समय धूप निकलने के बाद मालिश करानी चाहिए। सर्दियों  में मालिश के लिए तिल के तेल का इस्तेमाल करें। दरअसल, तिल के तेल से शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं। साथ ही यह त्रिरोग- वात, पित्त और कफ नाशक का भी काम करता है।

 

गर्मी में करें हल्की मालिश

गर्मी में मालिश के लिए नारियल का तेल या गाय का घी इस्तेमाल करना चाहिए। गर्मी के समय जब बहुत जरूरत हो तो ही तेल मालिश करें। जच्चा और बच्चा को तेल मालिश सुबह सूर्योदय से पहले करें जिस समय गर्मी नहीं होती है।

 

मॉनसून में धूप में करे मालिश

बेहतर होगा कि मॉनसून में बॉडी मसाज से बचें, लेकिन अगर इलाज के लिए जरूरी हो तो कुछ बातों का ध्यान रखें। बारिश हो रही हो तो मालिश नहीं करना चाहिए। मालिश तभी कराएं जब धूप निकल रही हो। तिल के तेल को इस मौसम में परफेक्ट माना जाता है।

 

आइए जानते हैं कि किन तेलों से मालिश करना रहता है फायदेमंद-

सरसों का तेल

सरसों के तेल में विटामिन ई होता है जिससे चेहरे के दाग-धब्बे और मुंहासे ठीक होने लगते हैं। इससे त्वचा का रंग साफ़ होने लगता है और त्वचा में चमक आने लगती है। इसे उबटन में भी इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह मृत कोशिकाओं को साफ़ करके त्वचा को मुलायम बनता है।

 

नारियल तेल

मालिश के लिए सबसे प्रचलित है नारियल का तेल। सामान्य रूप से नारियल का तेल हर मौसम के अनुकूल है। गर्मियों में नारियल तेल का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद माना जाता है। इसके औषधीय गुण आपकी सेहत, सुंदरता और बालों को स्वस्थ बनाए रखते हैं। यह त्वचा और बालों को प्राकृतिक रूप से मुलायम और चमकीला बनाता है। त्वचा को मॉस्चराइज करना हो या बालों की कंडीशनिंग, नारियल तेल सबसे अच्छा विकल्प है। 

 

जैतून का तेल

जैतून का तेल बहुत ही कोमल और  त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे त्वचा में जमी चर्बी हट जाती है साथ ही सूरज की किरणों से काली पड़ी त्वचा ठीक होने लगती है। इसमें विटामिन ई होता है जिससे स्ट्रेच मार्क्स ठीक होते हैं। गर्मियों में इसे जच्चा-बच्चा को लगाया जा सकता है। 

 

अलग अलग तेलों से मालिश

मालिश के लिए इस्तेमाल होने वाले तेलों में एक से दो कैरीअर तेल होते हैं जिसमें खुशबू देने के लिए कुछ एसेंशियल तेल मिलाये जाते हैं। कैरीअर तेल वो होते हैं जिनसे शरीर पर मालिश करने से त्वचा में नमी रहती है साथ ही स्वास्थ भी ठीक होता है। एसेंशियल ऑयल ज्यादा गुणकारी होते हैं और यह लगाते ही त्वचा में समां जाते हैं इसीलिए तो इनकी कुछ बूंदे ही डाली जाती हैं।

 

जानें विभिन्न एसेंशियल ऑयल के नाम और उनके काम-

इसके अलावा चेहरे की सुंदरता और त्वचा की चमक बरकरार रखने के लिए खास तौर पर कुछ एसेंशियल ऑयल का भी इस्तेमाल किया जाता है। एसेंशियल ऑयल त्वचा की देखभाल और मरम्मत करने में औषधि का काम करते हैं। 

टी ट्री आयल

इस तेल को लगाने से दाग धब्बे दिखना कम हो जाते हैं यही नहीं यह मुहासों को भी ठीक करता है, साथ ही रूसी के लिए भी यह बेहतरीन इलाज है।

 

जैस्मीन ऑयल

इस सुगंधित तेल से त्वचा नरम और मुलायम होती है, साथ ही त्वचा में कोमलता आती है। इसकी सुगंध से मन को भी शांति मिलती है।

 

नीलगिरी का तेल

नीलगिरी का तेल इस्तेमाल करने से शरीर की अनचाही चर्बी हटती है और मुँहासे भी ठीक हो जाते हैं। टी ट्री के तेल की तरह यह भी रुसी को ठीक करता है। साथ ही इससे त्वचा पर आयी सूजन भी ठीक होती है।

 

गेरियम तेल

इस तेल से त्वचा पर आयी झुर्रियां ठीक होती हैं साथ ही त्वचा चिकनी हो जाती है। इस तेल को इस्तेमाल करने से हॉर्मोन संतुलित होते हैं और लालिमा और सूजन भी कम हो जाती है। इससे त्वचा का रंग साफ़ होता है और इसे आप गर्म मौसम में इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

इस तरह तेल मालिश करने से बुढ़ापा, थकान और वायुरोग नहीं होते। आंखों की ज्योति तेज होती है और नींद भी अच्छी आती है। त्वचा भी सुन्दर होने से शरीर का सौन्दर्य भी निखरता है। आपके शरीर और त्वचा में निखार लाता है।

सूचना: बेबीचक्रा अपने वेब साइट और ऐप पर कोई भी लेख सामग्री को पोस्ट करते समय उसकी सटीकता, पूर्णता और सामयिकता का ध्यान रखता है। फिर भी बेबीचक्रा अपने द्वारा या वेब साइट या ऐप पर दी गई किसी भी लेख सामग्री की सटीकता, पूर्णता और सामयिकता की पुष्टि नहीं करता है चाहे वह स्वयं बेबीचक्रा, इसके प्रदाता या वेब साइट या ऐप के उपयोगकर्ता द्वारा ही क्यों न प्रदान की गई हो। किसी भी लेख सामग्री का उपयोग करने पर बेबीचक्रा और उसके लेखक/रचनाकार को उचित श्रेय दिया जाना चाहिए। 

#skincare