बच्चों को 6 बीमारियों से सुरक्षित रखेगी कॉम्बिनेशन वैक्सीन

cover-image
बच्चों को 6 बीमारियों से सुरक्षित रखेगी कॉम्बिनेशन वैक्सीन

माता-पिता के लिए पेरेंटिंग का सफर चुनौतियों से भरा हुआ होता है। शिशु की मुस्कुराहट के साथ, चिंताएं भी संग चल कर आती हैं। जैसे-जैसे आपका बच्चा दुनिया को समझना शुरू करेगा, वैसे-वैसे नए सवाल भी आते रहेंगे। आप यह कैसे सुनिश्चित करेंगे कि आपका बच्चा सुरक्षित है? आपका नन्हा सा बच्चा किस तहर से हेल्दी बन सकता है?

 

यह जरूरी है कि माता-पिता जिस माहौल में अपने बच्‍चे को बड़ा करें, उसपर पूरी तरह से नियंत्रण रखें, जैसे कि घर को बेबी प्रूफिंग करना, नुकीले कोनों को हटाना, संक्रमण के जोखिम को रोकने के लिए अपने निकट और प्रिय लोगों से मेल-जोल कम करना, नियमित रूप से पीडियाट्रिशियन के पास जाना और इन सब चीजों के साथ रात में डायपर चेंज करने से लेकर फीडिंग ड्यूटी निभानी है।

 

कई माता-पिता के लिए टीकाकरण, चर्चा का एक बड़ा विषय हो सकता है, खासकर जब उनके शिशु को विभिन्न टीकों के साथ कई वैक्‍सीन देने की बात आए। ये कई इंजेक्शन शिशुओं के लिए दर्द से भरे हो सकते हैं।

 

विभिन्न अध्ययनों में देखने को मिला कि एक ही विजिट के दौरान 2 से अधिक टीका लगाने के कारण बच्चे को होने वाली पीड़ा और बेचैनी पैरेंट्स और डॉक्टर्स के लिए एक चिंता का विषय है। यहां तक कि, एक अध्ययन में पाया गया कि माता-पिता अपने बच्‍चे को टीकाकरण के दर्द और भावनात्मक परेशानी से बचाने के लिए अतिरिक्त पैसे देने को तैयार थे।

हालांकि, अब माता-पिता कॉम्‍बिनेशन वैक्‍सीन के आगमन के कारण इस चिंता से काफी हद तक राहत पा सकते हैं। कॉम्‍बिनेशन वैक्‍सीन में एक ही शॉट में 2 या अधिक टीके शामिल हैं। इसका मतलब यह है कि डॉक्टर के पास जाने पर, आपका शिशु मात्र एक सुई से अनेक रोगों से सुरक्षित हो जाएगा। इस तरह से कॉम्‍बिनेशन वैक्‍सीन माता-पिता और बच्चों दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। जिसका अर्थ है:

कम डॉक्टर विजिट

समय पर सुरक्षा

कम दर्द और परेशानी

 

माता-पिता के लिए, इसका मतलब यह भी है कि वे बिना किसी परेशानी के अपना वर्क कमिटमेंट पूरा कर सकते हैं। इसके साथ ही वह खर्चा भी कम कर सकते हैं।

 

कॉबिनेशन वैक्‍सीन में निम्नलिखित बीमारियों से सुरक्षा मिलेगी:

 

पोलियो: पोलियो एक वायरस के कारण होने वाली एक अत्यंत संक्रामक बीमारी है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, 200 में से 1 संक्रमण सदा बने रहने वाले पैरालिसिस की ओर जाता है। इन बच्चों में से, 5-10% बच्चों की मृत्यु तब होती है जब उनकी सांस की मांसपेशियां सामान्य रूप से काम करना बंद कर देती हैं।

पर्टुसिस: पर्टुसिस या हूपिंग यानी कुकुरखांसी बच्चे से बच्चे में आसानी से फैलती है। शिशुओं को यह खांसी चार से आठ सप्ताह तक सहन करनी पड़ती है।

डिप्थीरिया: डिप्थीरिया एक संक्रामक बीमारी है, जो गले और ऊपरी वायुमार्ग को संक्रमित करती है। यह अन्य अंगों को प्रभावित करने वाले टॉक्‍सिन का उत्पादन करती है। यह बीमारी 5 से 10 फीसदी मामलों में जानलेवा है, साथ ही इसमें बच्चों की मृत्य दर ज्यादा होती है।

टिटनेस: टिटनेस एक चिकित्सा स्थिति है, जो स्‍केलेटल मसल फाइबर को नियंत्रित करने वाली तंत्रिका कोशिकाओं को प्रभावित करती है। इसकी वजह से जबड़ा जाम हो जाता है, जिससे मुंह खोलना और निगलना असंभव हो जाता है।

हेपेटाइटिस बी: यह एक वायरल संक्रमण है जो लीवर पर हमला करता है। यह तीव्र या क्रोनिक हो सकता है।

हिब (हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप बी): हिब एक बैक्टीरिया है जो पांच साल से कम उम्र के बच्चों में गंभीर निमोनिया, मेनिन्जाइटिस आदि का कारण बनता है। हिब को रोकने में टीके मददगार हो सकते हैं। सुझाव दिया जाता है कि शॉट को प्रारंभिक अवस्था में प्रशासित किया जाना चाहिए।

इन समयों में जब स्वास्थ्य सर्वोपरि है, तो 6 बीमारियों से लड़ने के लिए कॉम्‍बिनेशन वैक्‍सीन किसी प्रकाश की किरण से कम नहीं। जब आपका शिशु 0-2 महीने का हो जाए, तो अपने पीडियाट्रिशियन से 6 बीमारियों के लिए कॉम्‍बिनेशन वैक्‍सीन के बारे में बात करें।

To know more...

Disclaimer: Issued in public interest by GlaxoSmithKline Pharmaceuticals Limited. Dr. Annie Besant Road, Worli, Mumbai 400 030, India. Information appearing in this material is for general awareness only. Nothing contained in this material constitutes medical advice. Please consult your physician for medical queries, if any, or any question or concern you may have regarding your condition. Please consult your Paediatrician for the complete list of Vaccine preventable diseases and the complete vaccination schedule for each disease .Please report adverse event with any GSK product to the company at india.pharmacovigilance@gsk.com. This article has been produced on behalf of GSK by Times Internet’s Spotlight team.

NP-IN-INH-OGM-200074, DOP Aug 2020

logo

Select Language

down - arrow
Rewards
0 shopping - cart
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!