बच्चों के संपूर्ण विकास के महत्वपूर्ण माइलस्टोन

cover-image
बच्चों के संपूर्ण विकास के महत्वपूर्ण माइलस्टोन

मां के गर्भ से ही बच्चे के विकास की नई अवस्था की शुरुआत होती है। गर्भ में आने के बाद 9 महीने तक बच्चे का संपूर्ण विकास मां के पेट में ही होता है। जन्म के बाद शिशु का शारीरिक और मानसिक विकास किस तरह से होता है आइये जानते है।

 

  • जन्म लेने के बाद शिशु सबसे पहले रोना शुरु करता है यह बच्चे के विकास की पहली अवस्था होती है। जन्म लेते ही शिशु का रोना एक अच्छा संकेत होता है।
  • 3 से 6 महीने के दौरान शिशु संकेत देना शुरु करता है, जैसे कि हंसना, रोना, हाथ पैर चलाना। यह विकास की वह अवस्था होती है जब बच्चा अपने आस-पास के लोगों को पहचाना और समझने लगता है। इस दौरान शिशु के दांत निकलना शुरु होते है और शिशु का सिर सही आकार लेने लगता है।
  • 7 से 12 महीने में शिशु घुटनों के बल चलना, दाल का पानी, केला खाना, और अन्य ठोस पर्दाथ पर निर्भर रहता है। 12 महीने यानी कि एक साल के अंदर बच्चा खाने के स्वाद को समझने लगता है।
  • 1 साल से 4 साल यह बच्चों की विकास की वह अवस्था है जब बच्चा बोलने की शुरुआत करने लगता है। इसके अलावा खाने में रुचि लेना शुरु करता है, 2 साल के अंदर बच्चा पूरी तरह से चलना और दौड़ना शुरु करता है। इस समय बच्चों को रोजाना दांत ब्रश करने की आदत डालना, पॅाटी ट्रेनिंग देना भी बेहद आवश्यक होता है।
  • 3 साल में बच्चा गिनती सीखना, नए शब्द बोलना, बातों को समझना लगता है। 4 साल की अवस्था में बच्चा स्कूल जाने लगता है जहां पर नए दोस्त बनाना अपने काम स्वंय करना। सही गलत को समझने की शुरुआत इसी उम्र से होती है।
  • 5 से 8 साल में बच्चा परिपक्वव हो जाता है विकास की इस अवस्था में बच्चा सही गलत का निर्णय लेना सीखने लगता है। इस दौरान आपको बच्चों का अच्छा दोस्त बनना चाहिए, बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में अच्छी तरह से बताना और समझाना अवश्य चाहिए।
  • 8 से 13 साल यानी कि सबसे कठिन समय पैरेंटस के लिए होता है। क्योंकि यहीं से किशोरावस्था की शुरुआत होने लगती है। बच्चा जिद्दी होने लगता है अपनी मनमानी करना पंसद करता है। ऐसे समय में बच्चों से संयम से बात करनी चाहिए उनके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए।

 

बच्चों के विकास के यह माउलस्टोन एक अच्छी परवरिश में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। बच्चों को सही तरीके से समझाना बच्चों के सामाजिक विकास के लिए भी आवश्यक है।

#balvikas #growthmilestones
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!