बच्चों के साथ फ्लाइट के सफर को कैसे बनाए आसान

cover-image
बच्चों के साथ फ्लाइट के सफर को कैसे बनाए आसान

नवजात बच्चों के साथ लंबी फ्लाइट में सफर करना आसान नहीं होता है। क्योंकि अक्सर नवजात शिशु फ्लाइट में रोना शुरु कर देते है। जिसकी वजह से सहयात्रियों को भी परेशानी होती है। अगर आप भी अपने शिशु के साथ फ्लाइट का सफर करने जा रहे हैं तो यह टिप्स आपके बड़े काम की है।

अगर आपका बच्चा नवजात यानी कि 1 से 6 महीने या फिर 1 साल का है तो आपको इन बातों का आवश्यक ध्यान रखना चाहिए।

  • आप चाहे इंटरनेशनल फ्लाइट में या फिर घरेलु में यात्रा कर रहे हो। बच्चों के लिए आप फूड, मेडिसन ले जाने की इजाजत एयरलाइंस देती है।
  • सबसे पहले बच्चे के लिए अलग से बैग तैयार करे जिसमें मेडिसन, फॅार्मूला मिल्क, डायपर, वाइप, टॅाय, मुलायम कपड़े अपनी जरुरत के हिसाब से पैक कर ले।
  • बच्चे ज्यादातर फ्लाइट के टेक आफ और लैंडिग के दौरान रोना शुरु कर देते है जिसकी वजह है कान में दर्द। क्योंकि उड़ान के समय कान के मध्य वाले हिस्से पर तेजी से दबाव पड़ता है। इसलिए इस समस्या से निपटने के लिए बच्चों के कान में रुई लगा दे। अगर बच्चा पानी पीता है तो गुनगना पानी पिलाते रहे, कोशिश करे इस दौरान बच्चा सो जाए।

 

 

  • फ्लाइट में बच्चे के लिए कैंडी, टॅाफी मीठी चीजे अवश्य रखे इससे बच्चे को फ्लाइट में होने वाली Ear Popping यानी कि कानों में झनझनाहट होना इस समस्या से आराम मिलेगा।
  • फ्लाइट के दौरान उल्टी होना आम समस्या है, इसलिए अगर आपका बच्चा 1 से 6 महीने या फिर एक साल का है। तो घबराएं मत आप बच्चे को पानी पिला सकती है इसके अलावा थपकी देते रहिए। इसके अलावा डॅाक्टर ऐसी बहुत सी मेडिसन की सलाह देते हैं जो उल्टी बंद करने में लाभदायक होती है।
  • 6 महीने के बच्चे ज्यादातर रोने लगते हैं ऐसे में आप बच्चे का मन बहलाने की कोशिश करिए। घरेलु फ्लाइट 2 से 3 घंटे की होती है इसलिए बच्चों को संभालने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती है।
  • इंटरनेशनल फ्लाइट 8 से 9 घंटे की हो सकती है इसलिए ऐसी फ्लाइट में बच्चे को संभालना मुश्किल हो जाता है। इसलिए आपको पूरी तैयारी करने होगी। कोशिश करिए ट्रेवल करने के कुछ घंटे पहले बच्चे को मत सुलाएं। बच्चे को खेलने दे 1 साल के बच्चे के लिए फ्लाइट में ट्रेवल करना और कठिन होता है क्योंकि ऐसे बच्चे बैठते नहीं है। इसलिए आप बच्चे के फेवेरट टॅाय, कलरिंग किट ऐसी चीजे साथ ले सकते हैं।
  • 1 से 2 साल के बच्चे फ्लाइट को लेकर एक्साइटेड रहते है इसलिए बच्चों का मन बहलाने के लिए फ्लाइट के दौरान बातें करते रहे।
  • बच्चे के फेवरेट स्नैक्स हमेशा साथ रखे आप चाहे तो घर का बना खाना भी साथ ले सकते हैं।

अपनी फ्लाइट के सफर को आसान बनाने के लिए इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। इन बातों का ध्यान रखकर अपनी यात्रा को मजेदार बनाए।

#babytravel
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!