क्या आपका घर है नवजात के लिए सुरक्षित

cover-image
क्या आपका घर है नवजात के लिए सुरक्षित

नवजात शिशु के जन्म के बाद पैरेंटस की लाइफ में जिस तरह के बदलाव आते हैं। वैसे ही हमें अपने घर में बदलाव करने पड़ते हैं। क्योंकि शिशु 6 महीने बाद घुटनों के बल चलना शुरु करते हैं। एक जगह शिशु नहीं रुकते हैं। इसलिए शिशु के हिसाब से आपका घर सुरक्षित होना चाहिए। छोटे बच्चे किसी भी चीज को पकड़ने के लिए बहुत उत्सुक रहते हैं। लेकिन बच्चों के लिए यही उत्सुकता परेशानी बन सकती है। इसलिए घर में हर छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है।

  • घर में बिजली के स्विच बोर्ड को आप सेलो टेप से कवर करके रखे।
  • कमरे में सीसीटीवी कैमरा अवश्य लगाए। अगर आप दूसरे कमरे में हैं तो कम से कम अपने शिशु की एक्टिविटी को फोन में देख सकती है।
  • घर में कांच का सामान शिशु की पहुंच से दूर रखे।
  • जब शिशु घुटनों के बल चलना शुरु करते है तो घर में हर जगह भागते रहते हैं। इसलिए घर की साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखे। क्योंकि शिशु कभी भी नीचे से उठा कर खा लेते हैं। इसलिए इस बात का ध्यान रखे कि फर्श पर ऐसा कुछ ना हो जो शिशु के लिए सेफ नहीं है।
  • अगर आप हाईरइजिंग बिल्डिंग में रहते हैं या फिर आपके घर पर 1 या 2 फ्लोर हैं। तो आपको काफी ध्यान देने की जरुरत है। सबसे पहले बालकनी को कवर अवश्य कराए। दरवाजों पर सेफ्टी लॅाक लगवाए, बालकनी में बच्चे को कभी अकेला नहीं छोड़े।
  • घर में गर्म पानी फर्श पर नहीं रखे। क्योंकि अक्सर नवजात उत्सुकता वश किसी भी चीज को छूने की कोशिश करते हैं।
  • बरसात के मौसम में कीड़े- मकोड़े बहुत आने लगते है। इसलिए बरसात में शिशुओं को फर्श पर नहीं चलने दे। कोशिश करे कि बच्चा वॅाकर मे ही घूमे।
  • सुई-आलपीन,चाकू यह सब चीजे बच्चों की पहुंच से एकदम दूर रखे।
  • दवाइंया, फिनाइल की बोतल, सैनेटाइजर को ऐसी जगह नहीं रखे जहाॅं बच्चा पहुंच हो।

इन सब बातों का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है। क्योंकि बात हमारे बच्चों की सुरक्षा की है घर में छोटे से बदलाव आपके बच्चे के लिए सुरक्षित होंगे।

#childsafety
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!