जानिए क्या है Gestational Diabetes क्यों कंट्रोल करना है जरुरी

cover-image
जानिए क्या है Gestational Diabetes क्यों कंट्रोल करना है जरुरी

एक माॅं के लिए गर्भावस्था बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है। इस दौरान हर एक महीना काफी चुनौती भरा होता है। प्रेगनेंसी के दौरान शारीरिक और मानसिक बदलाव होना सामान्य है। इस दौरान शुगर का सही बैंलस होना भी जरुरी है। अगर यही शुगर बढ़ जाए तो यह जेस्टेशनल डायबिटिज बन जाती है। जो गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए ठीक नहीं है। लेकिन सही समय पर अगर शुगर को कंट्रोल कर लिया जाए तो इसका खतरा कम हो जाता है।

आइये जानते है Gestational Diabetes क्या है और कैसे इसे कंट्रोल करे

Gestational Diabetes यानी कि प्रेगनेंसी के दौरान वह समय जब शुगर की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है। इसकी वजह होती है गर्भावस्था में इंसुलिन हार्मोन का नहीं बनना। जिन्हें शुगर नहीं हो उनको भी डायबिटिज होना का आशंका रहती है।

 

 

 

 

 

Gestational Diabetes के वजह से क्या खतरा हो सकता है

  • बच्चे का आकार सामान्य से ज्यादा बड़ा होना।
  • शिशु में भी टाइप 2 डायबिटिज की संभावना रहना।
  • समय से पहले डिलावरी होना।
  • प्रीक्लेम्पसिया यानी कि हाई ब्लड प्रेशर होना का खतरा।

प्रेगनेंसी में शुगर को कंट्रोल करना बेहद आवश्यक है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान ऐसी जंक फूड, कोल्ड डिंक्र, चॅाकलेट, पैकेट फूड ऐसी चीजों का सेवन नहीं करे। इस तरह की डायबिटिज का खतरा 28 वें सप्ताह में ज्यादा रहता है। इसलिए इस दौरान शुगर टेस्ट अवश्य कराए। तनाव मुक्त रहे और हेल्दी चीजों का सेवन करे।

 

#garbhavastha #gestationaldiabetes
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!