धनतेरस पूजा का समय और क्या खरीदना होता है शुभ

cover-image
धनतेरस पूजा का समय और क्या खरीदना होता है शुभ

दीवाली आने में कुछ ही समय बाकी है, दिवाली से पहले धनतेरस आता है। धनतेरस के दिन धन के देवता कुबेर और यम देवता की पूजा होती है। धनतेरस कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। इस बार धनतेरस 2 नवंबर, मंगलवार के दिन है। धनतेरस का दिन किसी भी खरीदारी और निवेश के लिए बहुत शुभ माना जाता है। पुरानी मान्यताओं और परंपराओं के अनुसार, इस दिन जो भी खरीदा जाता है उससे हमेशा लाभ होता है। धनतेरस के दिन सबसे ज्यादा सोना-चांदी खरीदने की परंपरा है। कहा जाता है कि इस दिन सोना-चांदी की खरीदारी करना सबसे शुभ होता है। बहुत से लोग धनतेरस वाले दिन शेयर मार्केट में पैसा लगाते हैं।

 

धनतेरस की पूजा का शुभ मुहूर्त

2 नवंबर को प्रदोष काल शाम 5 बजकर 37 मिनट से रात 8 बजकर 11 मिनट तक का है। धनतेरस की पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 6.18 बजे से रात्रि 8 बजकर 14 मिनट तक है। धनतेरस के दिन पूजा करने का विधान अपनी परंपराओं और मान्यताओं के अनुसार है। धनतेरस की सबसे ज्यादा रौनक बाजारों में देखने को मिलती है। क्योंकि इस दिन बहुत से लोग बर्तन खरीदना शुभ मानते है।

आइये जानते हैं कि धनतेरस के दिन क्या खरीदना शुभ होता है।

  • झाड़ू खरीदना धनतेरस के दिन बहुत शुभ मानते हैं।
  • धनतेरस के दिन बहुत से लोग नया खाता खोलते हैं।
  • लक्ष्मी गणेश की प्रतिमा खरीदना भी इस दिन शुभ होता है।
  • सोने चांदी की खरीददारी और नए कपड़े भी खरीदना शुभ होता है।

किसी भी त्योहार से जुड़ी हुई परंपरा आज से नहीं बल्कि सदियों से चली आ रही है। इन परंपराओं के पीछे वैज्ञानिक कारण भी होते है। दीवाली का त्यौहार खुशियां बांटने का आप सभी को धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएं।

#dhanteras
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!