• Home  /  
  • Learn  /  
  • क्या पैरेंट बनने के बाद सब कुछ बदल जाता है
क्या पैरेंट बनने के बाद सब कुछ बदल जाता है

क्या पैरेंट बनने के बाद सब कुछ बदल जाता है

7 Jan 2022 | 1 min Read

प्रिया की शादी-शुदा जिंदगी बहुत अच्छी चल रही थी। प्रिया और उसका पति अतुल दोनों ही अपनी जिंदगी में काफी खुश थे। शादी के दो साल बाद प्रिया मां बनी, सब कुछ सही चल रहा था। प्रिया अपनी बेटी को संभालने में बिजी थी। वह चाहती थी, उसका पति अतुल भी बराबर की मदद करे। लेकिन अतुल हर बात पर कहता कि यह मेरा काम नहीं है तुम संभालो। इन सभी बातों की वजह से दोनों में आपसी तनाव होना लगा। इसकी वजह से प्रिया डिप्रेशन में जानी लगी।

ऐसा अक्सर एक कपल के बीच में होता है, इसकी सबसे बड़ी वजह यह है। कि बहुत से पति यह सोचते हैं, कि पिता बनने के बाद उनकी जिम्मेदारी सिर्फ बच्चे को डॅाक्टर तक ले जाने की होती है। क्योंकि एक बच्चे को जन्म देने के लिए दोनों की बराबर की भूमिका है। तो फिर परवरिश में क्यों ना हो, इसलिए पैरेंट बनने के बाद एक कपल के बीच में टकराव होने लगता है।

इसलिए इन बातों का ध्यान अवश्य रखें।

  • डिलीवरी के बाद एक मां का शरीर तो कमजोर हो ही जाता है। साथ ही वह मानसिक तौर से भी अवसाद में जाती है। इसलिए अपनी पत्नी का पूरा सहयोग करे, उसको यह एहसास दिलाये कि आप हर पल साथ है।
  • बच्चे के डायपर बदलना हो या नहलाना हो, आप भी इस काम की बराबर की जिम्मेदारी ले।
  • कभी अपनी वाइफ से बोलें कि तुम अपने लिए कुछ समय निकालों, मैं संभाल लूंगा सब कुछ।
  • पैरेंट तो आप है ही साथ ही आप एक कपल भी है। इसलिए अपने रोमांटिक पलों के लिए भी समय निकाले।

यह बातें है तो बहुत छोटी है, लेकिन अपनी एक कपल के तौर पर एक दूसरों को काफी सहयोग देती है। इसलिए अपने बीच के तनाव को दूर करे, और अपने बच्चे की परवरिश में बराबर की भूमिका निभायें।

#parentinggyaan #familyandrelationships

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop