• Home  /  
  • Learn  /  
  • प्रेग्नेंसी पिलो (गर्भावस्था के लिए तकिया) के प्रकार और फायदे
प्रेग्नेंसी पिलो (गर्भावस्था के लिए तकिया) के प्रकार और फायदे

प्रेग्नेंसी पिलो (गर्भावस्था के लिए तकिया) के प्रकार और फायदे

17 Feb 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। इस समय उनके खाने-पीने से लेकर उठने-बैठने और सोने के तरीके को लेकर ध्यान देना होता है। ऐसे में गर्भवती महिला को आरामदायक मुद्रा में सोने के लिए प्रेग्नेंसी पिलो का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। क्या है प्रेग्नेंसी पिलो और कितना फायदेमंद यह गर्भवती महिलाओं के लिए होता है, यह समझने के लिए इस लेख को पढ़ें। यहां प्रेग्नेंसी पिलो से जुड़े सारे सवालों के जवाब मौजूद हैं।

प्रेग्नेंसी पिलो क्या है और इसका इस्तेमाल कब करना चाहिए?

प्रेग्नेंसी पिलो एक ऐसा तकिया होता है, जिसे खासकर गर्भावस्था के दिनों में आराम पहुंचाने और आसान बनाने के लिए तैयार किया जाता है। इसलिए, इस तकिए को मैटरनिटी पिलो भी कहा जाता है। यह तकिया सामान्य तकिये से बड़ा और ज्यादा आरामदायक होता है, जो गर्भवती को सोते समय सभी तरफ से सपोर्ट देता है।

मैटरनिटी पिलो का उपयोग कभी भी किया जा सकता है। लेकिन, अधिकतर महिलाएं इसे दूसरी या तीसरी तिमाही के बाद ही इस्तेमाल करती हैं। दरअसल, दूसरी और तीसरी तिमाही में पेट का आकार बढ़ जाता है, जिसे सहारा देने के लिए प्रेग्नेंसी पिलो का इस्तेमाल करते हैं।

प्रेग्नेंसी पिलो के फायदे

मैटरनिटी पिलो का इस्तेमाल करने पर गर्भवती को कई लाभ हो सकते हैं। इन फायदों में ये शामिल हैं :

  1. दर्द कम करने में सहायक – प्रेग्नेंसी के समय नींद में शरीर के किसी एक भाग पर भार पड़ने पर दर्द हो सकता है। इस दर्द को कम करने में प्रेग्नेंसी पिलो मददगार माना जाता है। दरअसल, यह पेट, पीठ, घुटने और हिप्स को आराम देता है, जिससे शरीर का दर्द कम लगने लगता है।
  2. पोजीशन को ठीक करे – यदि प्रेग्नेंसी के समय गलत मुद्रा में सोते हैं, तो इससे पेट पर दबाव बढ़ सकता है। पेट पर दबाव बढ़ने से शिशु का समय से पूर्व जन्म होने का खतरा बढ़ जाता है। इस जोखिम को दूर करने और महिला की सोने की पोजीशन को सुधारने में प्रेग्नेंसी पिलो मददगार साबित हो सकता है, क्योंकि इस तकिए को महिला के शरीर में हुए बदलाव को ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है। इससे सोने की मुद्रा ठीक रहती है।
  3. अनिद्रा की समस्या से छुटकारा – अधिकतर महिलाओं को प्रेग्नेंसी के समय ठीक से नींद नहीं आती है। इससे महिला के स्वास्थ्य पर हानिकारक असर हो सकता है। ऐसे में मैटरनिटी पिलो नींद को बेहतर करने में मदद कर सकता है। दरअसल, इसे इस्तेमाल करने पर शरीर रिलैक्स हो जाता है, जिससे नींद की गुणवत्ता बेहतर हो सकती है।
  4. रक्त संचार बेहतर करे – गर्भावस्था के समय शरीर के रक्त संचार को बेहतर करने में प्रेग्नेंसी पिलो मदद कर सकता है। इस संबंध में प्रकाशित रिसर्च की मानें, तो प्रेग्नेंसी पिलो गर्भवती को प्रोन पोजीशन (इस पोजिशन में महिला छाती को थोड़ा-सा साइड करके और बैक को ऊपर की ओर करके होरिजेंटली लेटती हैं) में सोने में मदद कर सकता है। इससे पेट वाले भाग में ठीक तरह से रक्त संचार हो सकता है।

प्रेग्नेंसी पिलो के प्रकार और उपयोग के तरीके

बाजार में कई तरह के प्रेग्नेंसी पिलो उपलब्ध है। इनके आकार और बनावट के तरीकों के आधार पर प्रेग्नेंसी पिलो को कुछ भाग में बांटा जा सकता है।

  • यू (U) आकार का तकिया – इस तकिये का आकार यू की तरह होता है, जिसे पीठ के बल सोने वाली गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। यह तकिया दिखने में उल्टे ‘यू’ की तरह लगता है। यह तकिया काफी बड़ा होता है और शरीर को पीठ, सिर, पैर, पेट सभी तरफ से सपोर्ट देता है। इस तकिये का ‘यू’ वाला कर्व आकार सिर के तरफ रखा जाता है।

Pregnancy Pillow U shape

  • सी (C) आकार का तकिया – गर्भावस्था के समय सी शेप पिलो का इस्तेमाल करना भी एक अच्छा विकल्प होता है। यह तकिया पेट, पीठ, पैर और सिर को सहारा देता है। इस तकिये का एक भाग सिर की तरफ लगाकर पीठ से कर्व करके दोनों पैरों के बीच में लाया जाता है।

Pregnancy Pillow C

  • फुल लेंथ प्रेग्नेंसी पिलो – यह तकिया लंबा और हल्का कर्व वाला होता है। इस तकिए को लिपटकर यानी कडल (Cuddle) करके सोने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इससे पेट पर पड़ने वाला दबाव कम हो सकता है। किसी एक तरफ करवट लेकर सोने वाली गर्भवती महिलाओं के लिए इसे अच्छा माना जाता है। इस लंबे से तकिये को हाथ के नीचे और पैर के नीचे रखकर हग करके सोया जाता है।
  • वैज (Wedge) पिलो – वैज पिलो छोटा होता है, जिसे प्रेग्नेंसी में ही नहीं बल्कि प्रसव के बाद भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। वैज पिलो बाजार में दो आकार में उपलब्ध है। एक गोलाकार और दूसरा त्रिकोणीय यानी राउंड और ट्राइएंगुलर शेप में। इस आरामदायक तकिये को शरीर की जरूरत के हिसाब से सिर के नीचे, पैर के नीचे, पेट के बगल में, पीठ को सहारे देने के लिए और हाथ के नीचे रखा जा सकता है।

प्रेग्नेंसी पिलो के चयन का तरीका

प्रेग्नेंसी पिलो का चयन महिला अपनी सुविधा, जरूरत और परेशानी के अनुसार कर सकती है। हर तरह का तकिया शरीर के अलग-अलग हिस्सों को रिलैक्स करके राहत पहुंचाता है। गर्भावस्था से समय कुछ बातों को ध्यान में रखकर ही प्रेग्नेंसी पिलो का चयन करना चाहिए। इसके चयन के समय ध्यान रखने वाली चीजों के बारे में नीचे कुछ बिन्दुओं के माध्यम से जानिए।

  • अच्छे मटेरियल से बने तकिए का चयन करें।
  • तकिया मुलायम और आरामदायक होना चाहिए।
  • महिला को तकिये का चयन अपनी लंबाई के अनुसार करना चाहिए।
  • ऐसा तकिया चुनना चाहिए, जिसका कवर बदला जा सके।
  • एलर्जी के जोखिम से बचाने वाले हाइपोएलर्जेनिक प्रेग्नेंसी पिलो को खरीदना अच्छा माना जाता है।
  • बजट और प्रेग्नेंसी पिलो से मिलने वाली सुविधा के हिसाब से तकिये का चुनाव करना चाहिए।

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर को पर्याप्त आराम देना चाहिए। इसके लिए सही तरह से सोना और बैठना जरूरी है, जिसमें प्रेग्नेंसी पिलो काफी हद तक मदद करते हैं। मैटरनिटी पिलो के फायदे देखते हुए कई डॉक्टर इन्हें इस्तेमाल में लाने की सलाह भी देते हैं। बस तो प्रेग्नेंसी पिलो का चयन अपनी आवश्यकता के हिसाब से करें। तभी प्रेग्नेंसी पिलो के फायदे गर्भवती महिला को महसूस हो सकते हैं।

#garbhavastha #pregnancycare

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop