• Home  /  
  • Learn  /  
  • इन 10 टिप्स के मदद से पैरेंट्स बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को कर सकते हैं कम
इन 10 टिप्स के मदद से पैरेंट्स बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को कर सकते हैं कम

इन 10 टिप्स के मदद से पैरेंट्स बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को कर सकते हैं कम

18 Feb 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 279 Articles

बोर्ड की परीक्षाएं आते ही बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस होने लगता है। किसी बच्चे को पास होने की टेंशन, तो किसी बच्चे को बोर्ड एग्जाम में टॉप करने की चिंता। ऐसे में बच्चों में बोर्ड परीक्षा की तनाव को कम करने के लिए पेरेंट्स को भरपूर सहयोग करना चाहिए। माता-पिता बच्चे को परीक्षा के दौरान तनाव से छुटकारा कैसे दिला सकते हैं, इसके बारे में हम इस लेख में बता रहे हैं। यहां आप बच्चों में बोर्ड परीक्षा के तनाव से मुक्ति के उपाय पढ़ेंगे। 

बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस कम करने के 10 उपाय 

पेरेंट्स किस तरह से बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को दूर कर सकते हैं, इसके लिए यहां पर 10 उपाय बता रहे हैं। ध्यान रखें कि माता-पिता को बच्चों में बोर्ड परीक्षा के तनाव से मुक्ति के उपाय को गंभीरता से लेना चाहिए, ताकि बच्चा बोर्ड परीक्षा का तनाव कम से कम महसूस करे और पढ़ाई के स्तर को बढ़ा सके।

1. बच्चों का सपोर्ट करना

बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को कम करने के लिए सबसे पहले पेरेंट्स को यह सीखना चाहिए कि उन्हें अपने बच्चे को सपोर्ट किस तरह से करना चाहिए। बोर्ड की परीक्षा के लिए बच्चा कैसा टाइम टेबल बना रहा है या उसको किस विषय पर अधिक ध्यान देना चाहिए, इसमें बच्चे का सहयोग करना जरूरी होता है। अगर बच्चा किसी विषय में बहुत ज्यादा कमजोर है, तो बच्चे की इच्छानुसार व अपनी सुविधानुसार ट्यूशन भी भेज सकते हैं।

2. बच्चे पर पढ़ने का दबाव न डालें

अगर बच्चों में बोर्ड परीक्षा की तनाव को कम करना चाहते हैं, तो ध्यान रखें कि हर समय बच्चे को पढ़ने के लिए फोर्स न करें। पढ़ाई के साथ-साथ बच्चे को ब्रेक लेने का समय दें। यानी बच्चे को खेलने, मनोरंजन करने या कुछ निजी कामों को भी उसके अनुसार करने दें। इस दौरान बस ध्यान रखें कि बच्चा लंबे अंतराल के लिए पढ़ाई से ब्रेक न लें।

3. बच्चे से खुलकर बात करना

बच्चे में परीक्षा में तनाव के कारण क्या हैं, इसके बारे में पेरेंट्स को बच्चे से खुलकर बात करनी चाहिए। अगर बच्चा खुलकर परीक्षा से जुड़ी अपनी परेशानियों के बारे में बताए, तो उसमें बोर्ड परीक्षा के तनाव को आसानी से कम करने में मदद मिल सकती है।

4. बच्चे के सोने का समय तय करना

बच्चों में बोर्ड परीक्षा की तनाव उनकी नींद की गुणवत्ता को खराब कर सकती है। यही वजह बच्चे में परीक्षा में तनाव के कारण को और भी अधिक बढ़ा सकती है। ऐसे में बोर्ड परीक्षा के दौरान पढ़ाई व खेल-कूद के साथ ही, बच्चे के सोने के घंटों को भी तय करें। भरपूर नींद लेने से बच्चा न सिर्फ परीक्षा के दौरान तनाव से छुटकारा पा सकता है, बल्कि अच्छी नींद ब्रेन फ्रेनेश का भी काम कर सकती है। इससे बच्चा पढ़ाई पर अच्छे से ध्यान लगा सकता है।

5. बच्चे से सकारात्मक बातें करना

बच्चे को बोर्ड परीक्षा के तनाव से कैसे ठीक करें, इसका एक उपाय है बच्चे से सकारात्मक बातें करना। दरअसल, अगर पेरेंट्स बच्चे से बोर्ड एग्जाम के बारे में सिर्फ सकारात्मक बातें ही करेंगे, तो इससे बच्चे के मन में भी बोर्ड की परीक्षा को लेकर सकारात्मक विचार आ सकते हैं, जिससे वह परीक्षा का दबाव कम से कम महसूस कर सकता है। 

6. घर के माहौल को शांत बनाएं

अगर घर में आशांती का माहौल होगा, जैसे – बात-बात पर झगड़े होना या बहुत शोर-शराब होना, तो इससे बच्चे के मन में तनाव बढ़ सकता है। इसलिए, माता-पिता इसका ध्यान रखें कि परीक्षा के दौरान घर में लड़ाई-झगड़ा या शोर-शराबा न हो। इससे बच्चे को पढ़ने के लिए एक शांत और सकारात्मक परिवेश मिलेगा।

7. बच्चे की तुलना न करें

अपने बच्चे को बोर्ड परीक्षा के तनाव से कैसे ठीक करें, अगर इसके लिए उपाय ढूंढ रहे हैं, तो ध्यान रखें कि अपने बच्चे की तुलना किसी अन्य बच्चे से न करें। हर बच्चा अपने आप में खास और अलग हो सकता है। अलग-अलग विषयों में उनका स्तर भी एक-दूसरे से अलग हो सकता है। वहीं, अगर माता-पिता अपने बच्चे की तुलना अन्य बच्चे से करेंगे, तो इससे बच्चे का मनोबल कमजोर हो सकता है।

8. बच्चे से न रखें अधिक अपेक्षाएं

बच्चे से अधिक अपेक्षाएं रखना भी उनमें परीक्षा में तनाव के कारण की एक वजह बन सकती है। ऐसे में पेरेंट्स को अपने बच्चे से अपेक्षाएं कम से कम ही रखनी चाहिए। उन्हें बच्चे की क्षमता के अनुसार ही उसका आंकलन करना चाहिए और बच्चे को बोर्ड परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए दवाब नहीं देना चाहिए। अगर बच्चे को अच्छे नंबर लाने के लिए दबाव देंगे, तो इससे बच्चे में एग्जाम स्ट्रेस हो सकता है।

9. बच्चे के स्वास्थ्य का ध्यान रखें

अगर बच्चे को कोई बीमारी है या उसका स्वास्थ्य खराब है, तो यह उसमें तनाव होने के जोखिम को बढ़ा सकता है। इसलिए, माता-पिता को अपने बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए, ताकि बच्चे में परीक्षा में तनाव के कारण को कम किया जा सके। बच्चे के लिए स्वास्थ्य आहार व उसकी जरूरी दवाओं के खुराक का ध्यान रखना चाहिए।

10. बच्चे की मदद करना

बच्चों में परीक्षा में तनाव के कारण कई हो सकते हैं, जिस वजह से बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस के सटीक कारण को समझना संभव नहीं हो सकता है। ऐसे में पेरेंट्स को अपने बच्चे के अधिक करीब रहते हुए, पढ़ाई से लेकर अन्य स्थितियों में बच्चे की मदद करनी चाहिए। अगर बच्चा किसी विषय में कमजोर है, तो वह उसकी तैयारी कैसे करे, इसके लिए जरूरी सुझाव दे सकते हैं या फिर खुद बच्चे के साथ बैठकर उसे वह विषय समझने में मदद कर सकते हैं।

बच्चे परीक्षा के तनाव से कैसे बचें, इसके लिए पहला कदम माता-पिता को ही उठाना चाहिए। दरअसल, बच्चे घर पर रहकर पेरेंट्स के साथ ही सबसे अधिक समय व्यतीत करते हैं। ऐसे में माता-पिता को अपने बच्चों में एग्जाम स्ट्रेस को कम करने का पहला सहारा बनना चाहिए। इस लेख में छात्रों पर परीक्षा का तनाव कैसे दूर करे, इसके लिए कई उपाय बताए गए हैं, जिन्हें पेरेंट्स फॉलो कर सकते हैं। साथ ही पेरेंट्स खुद के बोर्ड एग्जाम का अनुभव बच्चे के साथ साझा कर सकते हैं। इससे बच्चे को बोर्ड परीक्षा के प्रति सकारात्मक सोच का अनुभव हो सकता है।

#childeducation #stress #childhealth

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop