• Home  /  
  • Learn  /  
  • भारत के ऐतिहासिक स्मारक के इतिहास से बच्चों को कराएं रूबरू
भारत के ऐतिहासिक स्मारक के इतिहास से बच्चों को कराएं रूबरू

भारत के ऐतिहासिक स्मारक के इतिहास से बच्चों को कराएं रूबरू

14 Apr 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 406 Articles

भारत एक संस्कृति समृद्ध देश है। भारत को भारत के ऐतिहासिक स्मारक के लिए भी जाना जाता है। पूरे देश में कई ऐसे प्रसिद्ध स्मारक हैं, जिनका निर्माण तब किया गया था, जब हमारे देश पर राजाओं का शासन हुआ करता था। उस समय तैयार किए गए भारत के ऐतिहासिक स्मारक का अपना अलग-अलग इतिहास है। 

यदि आप अपने बच्चों को इतिहास पढ़ाना चाहते हैं, तो उन्हें भारत के ऐतिहासिक इमारत दिखाने ले जा सकते हैं। इससे बच्चा ज्यादा अच्छे से हेरिटेज साइट्स के इतिहास के बारे में समझेगा। इस लेख में आपको भारत के कुछ प्रसिद्ध स्मारक और इमारतों की सूची दे रहे हैं, जिन्हें हर माता-पिता को अपने बच्चों के साथ जरूर देखने जाना चाहिए।

भारत के ऐतिहासिक स्मारक की लिस्ट 

यदि आप अपने बच्चे को भारत की संस्कृति व इसके इतिहास के बारे में समझाना चाहते हैं, तो फेमस हेरिटेज मॉन्यूमेंट्स को दिखाने से बेहतर तरीका कुछ नहीं हो सकता है। इससे बच्चे इतिहास को को बेहतर समझेंगे और इसे याद भी रखेंगे। लेख में नीचे 5 ऐसी हेरिटेज साइट्स के बारे में बता रहे हैं, जो भारतीय संस्कृति और इतिहास के मायने दर्शाती हैं। चलिए जानते हैं भारत की 5 ऐतिहासिक इमारतों के बारे में।

1. ताज महल, आगरा

भारत के ऐतिहासिक स्मारक
भारत के ऐतिहासिक स्मारक – आगरा / चित्र स्रोतः फ्रीपिक

भारत की शान ताजमहल उत्तर प्रदेश के आगरा में यमुना नदी के तट पर स्थित है। इसकी गिनती दुनिया के सात अजूबों में की जाती है। करीबन हर इतिहास में इसका जिक्र आपको आसानी से मिल जाएगा। इसे सन् 1632 से लेकर 1648 के बीच में मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी प्यारी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया था।

ताजमहल में मुमताज के मकबरे को सफेद संगमरमर और गुंबदों के साथ इंडो-इस्लामिक वास्तुकला के अनुसार बनाया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ताजमहल को तैयार करने में 20 साल लगे थे। इसके निर्माण कार्य में 22 हजार मजदूर लगे थे।

2. इंडिया गेट, दिल्ली

भारत के ऐतिहासिक स्मारक
भारत के ऐतिहासिक स्मारक – इंडिया गेट / चित्र स्रोतः फ्रीपिक

भारत के ऐतिहासिक इमारत यानी फेमस हेरिटेज साइट्स में एक नाम दिल्ली के इंडिया गेट का है। इंडिया गेट को ब्रिटिश सरकार ने पहले विश्व युद्ध के दौरान शहीद हुए 84,000 भारतीय सैनिकों की याद में बनवाया था। इसे सन् 1921 में सर एडविन लुटियन नामक एक अंग्रेज ने डिजाइन किया था। संगमरमर और सैंडस्टॉन से तैयार 42 मीटर ऊंचा इंडिया गेट का डिजाइन पेरिस के आर्क डी ट्रायम्फ जैसा है। 

3. कोणार्क सूर्य मंदिर, ओडिशा

ऐतिहासिक इमारत में शामिल कोणार्क सूर्य मंदिर को 13वीं सदी में ओडिशा में राजा नरसिंह देव के शासनकाल के दौरान बनाया गया था। यूनेस्को ने कोणार्क सूर्य मंदिर को 1984 में विश्व धरोहर में शामिल किया था। यह खूबसूरत मंदिर अद्भुत शिल्पकारी के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर की बनावट रथ के रूप में की गई है। इसमें 12 पहियों को 7 घोड़े खींचते हुए नजर आते हैं। सामने से देखने में ऐसा प्रतीत होता है जैसे खुद सूर्यदेव इस रथ पर बैठे हों। 

कोणार्क सूर्य मंदिर के बारह पहिये साल के बारह महीनों को प्रदर्शित करते हैं। वहीं, सात घोड़े हफ्ते के सात दिन दर्शाते हैं। बच्चों के साथ एक बार कोणार्क मंदिर जरूर होकर आएं।

4. गेटवे ऑफ इंडिया, मुंबई

भारत के ऐतिहासिक स्मारक
भारत के ऐतिहासिक स्मारक – गेटवे ऑफ इंडिया / चित्र स्रोतः फ्रीपिक

भारत में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले ऐतिहासिक इमारत में एक नाम गेटवे ऑफ इंडिया का भी है। इसे देश की शान माना जाता है। यह साउथ मुंबई के समुद्र तट पर स्थित है। हर रोज लाखों लोग गेटवे ऑफ इंडिया देखने जाते हैं। 

इस शानदार आर्किटेक्चर स्ट्रक्चर की नींव 1911 में तब रखी गई थी, जब ब्रिटेन के राजा किंग जॉर्ज पंचम और रानी क्वीन मेरी पहली बार मुंबई आए थे। इसका निर्माण भारत में प्रवेश करने व बाहर जाने वाले दरवाजे के रूप में किया गया था। अंग्रेज जब भारत छोड़कर गए थे, तो उनके जहाज यही से गए थे।

5. चारमीनार, हैदराबाद

भारत के ऐतिहासिक स्मारक
भारत के ऐतिहासिक स्मारक – चार मिनार / चित्र स्रोतः फ्रीपिक

भारत के ऐतिहासिक स्मारक का चारमीनार निजामों के शहर हैदराबाद के बीचो-बीच स्थापित है। इस शानदार हेरिटेज साइट को लेकर कहा जाता है कि इसका निर्माण एक जानलेवा महामारी के खात्मे की याद में किया गया था। कुतुब शाही वंश के 5वें सुल्तान मोहम्मद कुली कुतुब शाह ने इस शानदार स्मारक को बनवाया था। इतिहासकार बताते हैं कि हैदराबाद शहर के ले आउट की शुरुआत चारमीनार से ही की गई थी।

इस लेख में आपने भारत के ऐतिहासिक स्मारक के बारे में जाना। तो अब सोच क्या रहे हैं आने वाली छुट्टियों में बनाएं इन हैरिटेज साइट्स का प्लान और बच्चों को इतिहास से रूबरू कराएं। उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड सर्कल में शेयर करना न भूलें

like

8

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop