bacchon ke veh 4 foods jo utne paushtic nahi hai jitne vo dikhte hai

bacchon ke veh 4 foods jo utne paushtic nahi hai jitne vo dikhte hai

22 Apr 2022 | 0 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

आपके बच्चे ने आखरी बार हरी सब्ज़ी कब खायी थी ? यही कारण है कि हम उन सभी कंपनियों को प्यार करते हैं जो पौष्टिक खाद्य पदार्थों के नाम पर हमारी सहायता करने का प्रयास करते हैं। यह फूड आइटम देखने में और स्वाद में बहुत स्वादिष्ट होते हैं और अब आपको अपने बच्चे के पीछे खाना लेकर भागने की ज़रूरत नहीं पड़ती ।

आइये देखें पौष्टिकता का दावा करने वाले ये आहार क्या वाक़ई इतने ही पौष्टिक है ?

 1. रेडीमेड जूस / स्पोर्ट्स ड्रिंक

आमतौर पर बच्चे शारीरिक गतिविधि के दौरान सूर्य की कड़ी रोशनी में  बहुत अधिक समय बितातें हैं, इसलिए यह मानना ​​स्वाभाविक है कि उनकी ऊर्जा स्तर को बनाए रखने के लिए उन्हें कुछ ऐसा चाहिए, जो उन्हें हाइड्रेटेड रखें और यह सुनिश्चित करें कि वे बहुत अधिक शरीर का नमक न खोएं। आप जानकर चकित रह जायेंगे कि रेडीमेड  जूस में बहुत अधिक चीनी और आर्टिफीसियल स्वीटनर्स होते हैं जो ज़्यादा मात्रा में बच्चों के लिए हानिकारक हैं। इसी तरह, स्पोर्ट्स ड्रिंक्स में बहुत अधिक अस्वास्थ्यकर पदार्थ होते हैं जैसे चीनी और फ़ूड कलर्स। इसे ज़्यादा मात्रा में और नियमित लेने से बच्चो का वज़न बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है | बच्चों के लिए रेडीमेड जूस और स्पोर्ट्स ड्रिंक की कम मात्रा आप ख़ुद तय करें और इनके नियमित प्रयोग से बचें |

2. ग्रैनोला बार्स

यह आश्चर्य की बात है कि कैसे एक अनाज का बार अपौष्टिक हो सकता है? खैर, कठोर सच्चाई यह है कि ज्यादातर ग्रेनोला और अनाज के बार्स इन दिनों शक्कर से भरे होते हैं, उन्हें स्वादिष्ट बनाने के प्रयास में निर्माता, चॉकलेट और अन्य मीठे पदार्थ मिलाते हैं और साथ ही अन्य समस्या यह है कि वे कॉर्न सिरप जैसी पदार्थों का भी उपयोग करते हैं, ताकि उन्हें एक साथ जोड़ा जा सके| ‘फलों’ के नाम पर सूखे फलो को शामिल किया जाता है जो कि पहले से ही अधिकांश पोषक तत्वों को खो दिए होते हैं। शक्कर और अन्य मीठे पदार्थ इसकी पौष्टिक गुणता को नगण्य कर देतें है

3. किडस योगर्ट 

दही ज़्यादातर बच्चों को पसंद नहीं होती। चीनी की समस्या सामान्य रूप से सभी दही के साथ नहीं है, बल्कि यह किड्स दही के साथ है। समस्या यह है कि किड्स योगर्ट के नाम से लोकप्रिय इस विशिष्ट दही में बहुत अधिक शक्कर और आर्टिफीसियल फ्लेवरिंग होता है जो कि बहुत अपौष्टिक हो सकता है। उन्हें सामान्य दही देनी चाहिए। यह उनके लिए भी पौष्टिक है,क्योंकि यह कैल्शियम और प्रोबायोटिक्स (प्रोबायोटिक्स पेट के बैक्टीरिया का लाभकारी रूप हैं, जो प्राकृतिक पाचक रस और एंजाइमों को प्रोत्‍साहित कर पाचन अंगों को ठीक तरह से काम करने में मदद करता है।)प्रदान करता है |

 4. क्रैकर्स और रोटी

क्रैकर्स और रोटी अन्य नाश्ते से ज़्यादा स्वस्थ लगते हैं सही? बहुत ज्यादा चीनी की बहुत कम संभावना है? गलत। बच्चों के बहुत सारे क्रैकर्स आर्टिफीसियल स्वीटनर्स और रिफाइंड आटे से बनते हैं। इस के साथ समस्या यह है कि, सबसे पहले, चीनी और दूसरी बात, यह बहुत ज़्यादा पोषण प्रदान नहीं करता | इसी तरह, सफेद रोटी

(मैदे की रोटी ) भी ज्यादा पोषण नहीं देती | आप सफ़ेद या मैदे की रोटी का सही विकल्प गेहूं के क्रैकर्स और रोटी में पा सकतें हैं | आप यह सुनिश्चित करें कि आप बच्चे को जो खिला रहीं हैं वह वास्तव में पौष्टिक हो । ऐसे बहुत सारे खाद्य पदार्थ हैं जो दिखते कुछ और हैं ,और होते कुछ और हैं। आप जो भी खाद्य पदार्थ   खरीदें उसमें चीनी की मात्रा की जाँच कर लें और ध्यान रखें कि भोजन वास्तव आपके बच्चे को सही पोषन दे रहा हो |

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop