• Home  /  
  • Learn  /  
  • बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाना है, तो आजमाएं ये 7 टिप्स
बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाना है, तो आजमाएं ये 7 टिप्स

बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाना है, तो आजमाएं ये 7 टिप्स

5 Apr 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

‘थैक्यू या धन्यवाद’ शब्द को मैजिक वर्ड कहा जाए तो गलत नहीं होगा। इस एक ‘धन्यवाद’  शब्द से विनम्रता और व्यावहारिकता दोनों ही झलकती है। अक्सर पेरेंट्स सोचते हैं कि इस अहम शब्द को बच्चों की आदत में कैसे शामिल करें। आपके इस सवाल का जबाव हमने बच्चों को धन्यवाद कहना कैसे सिखाएं, इस भाग में दिया है। यहां इस विषय से जुड़े कई अहम टिप्स मौजूद हैं, जिनकी मदद से आसानी से बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाया जा सकता है।

बच्चों को धन्यवाद कहना कैसे सिखाएं ? बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाने के लिए टिप्स

  1. शब्द का मतलब समझाएं – बच्चों में थैंक्यू बोलने की आदत डालने के लिए सबसे पहले उन्हें इस शब्द का मतलब बताना होगा। जी हां, बहुत से बच्चों को धन्यवाद शब्द का मतलब ही नहीं पता होता। उन्हें बताएं कि यह शब्द सिर्फ तब इस्तेमाल नहीं किया जाता, जब कोई चीज पसंद आती है या कुछ अच्छा लगता है। 

    यह बात स्पष्ट करें कि किसी के द्वारा की गई छोटी-से-छोटी कोशिश को नोटिस करने का ही असल मतलब धन्यवाद और थैंक्यू (thank you) कहना है। थैंक्यू का इस बात से कोई लेना देना नहीं है कि सामने वाले द्वारा की गई मदद, गिफ्ट या कोई अन्य चीज आपको कितनी पसंद आई है। ये बात साफ होने के बाद बच्चे खुद थैंक यू शब्द का इस्तेमाल करने लगेंगे।
  1. भावनाओं के बारे में बात करें – हर कोई चाहता है कि उसका काम सामने वाले के द्वारा सराहा और देखा जाए। किसी के लिए भी कुछ भी करने वाले के मन में हमेशा बस यही भाव रहता है। बच्चे को इन भावनाओं के बारे में बताएं। उन्हें कहें कि जब कोई किसी काम की सराहना करता है, तो सामने वाले को कितना अच्छा लगता है।

    इस दौरान उदाहरण दें कि जब आपकी तारीफ मम्मा-पापा या कोई और करता है, तो आपको जितना अच्छा लगता है, उतना ही सामने वाले को धन्यवाद शब्द से अच्छा लगता है। उन्हें कहें कि वो थैंक्यू कहकर सामने वालों को खुशी के एहसास जैसा नायाब तोहफा दे रहे हैं। इससे बच्चे को बच्चों को थैंक्यू कहना सिखाने में मदद मिलेगी।
बच्चों को थैंक्यू कहना कैसे सिखाएं
धन्यवाद कहती तस्वीर / स्रोत – पिक्साबे
  1. याद दिलाते रहें – किसी भी काम की आदत डालने के लिए प्रैक्टिस से बेहतर कुछ नहीं। ये बात बच्चे को थैंक्यू (thank you) कहने की सीख देते समय भी लागू होती है। बच्चों को याद दिलाएं कि वो मैजिकल वर्ड क्या है, जो मैंने आपको कल सिखाया था। उनसे फिर वो शब्द दोहराने के लिए कहें। अच्छी आदतें (good habits) सीखने में समय लगता है, इसलिए समय-समय यह बच्चे को याद दिलाते रहें।
  2. रोल मोडल बनें – बच्चों को धन्यवाद कहना सिखाना है, तो आपको खुद उनका रोल मॉडल बनना होगा। बच्चे अपने बड़ों को देखकर खूब जल्दी सिखते हैं और उनकी नकल भी उतारते हैं। ऐसे में आपको खुद घर के छोटे-बड़े कामों कोई मदद करे, तो उसे थैंक्यू बोलना होगा। फोन पर बोत करते हुए यह शब्द कहना होगा। इससे बच्चा इस शब्द की अहमियत को समझेगा। बच्चा अगर कभी कोई सामान आपको दे, तो उसे मुस्कुराकर धन्यवाद या थैंक यू बोलें। इससे ये शब्द धीरे-धीरे बच्चा भी इस्तेमाल करने लगेगा।
  1. सराहना करें – कभी भी बच्चा थैंक्यू कहे, तो उसकी सराहना जरूर करें। उसे शाबाशी देते हुए कहें कि आप बहुत अच्छे से चीजें सीख रहे हैं। इस दौरान उसे प्यारी-सी किस दे सकते हैं या प्यार से गले लगा सकते हैं। इसके अलावा, उसे थैंक्यू (thank you) शब्द का इस्तेमाल करने के लिए कभी-कभी उसकी मनपसंद चीज भी दे सकते हैं। लेकिन इसकी ज्यादा आदत न डलाएं, वरना बच्चा सिर्फ लालच के चलते ही थैंक्यू कहेगा या हर बार वो आपसे थैंक्यू के बदले किसी चीज की मांग करने लगेगा। 
बच्चों को थैंक्यू कहना कैसे सिखाएं
मुस्कुराती छोटी बच्ची / स्रोत – फ्रीपिक
  1. बुनियादी चीजें समझाएं –  बच्चे को हमेशा कहें कि हमेशा गिफ्ट या किसी भी तरह की मदद से बढ़कर वो मदद करने व गिफ्ट देने वाला होता है। इंसान को चीजों से कभी नहीं आंका जाना चाहिए। इस दौरान रोल प्ले कर सकते हैं। बच्चे को एक बॉक्स में डालकर एक बोरिंग-सा गिफ्ट दे दें। जैसे कि पेंसिल, दस्ताने, मौजे कुछ भी जो उसके पास पहले से हो। उसके बाद उसे वो बॉक्स खोलने के लिए कहें।

    जब बच्चा बॉक्स खोल ले, तो उसे समझाएं कि यहां ये गिफ्ट ज्यादा मायने नहीं रखता है। बल्कि सामने वाले की कोशिश की ज्यादा वैल्यू है। उसे कहें कि आपको ये गिफ्ट पसंद नहीं आया है, तो आपको आय लव दिस गिफ्ट कहने की जरूरत भी नहीं है। हां, लेकिन सामने वाले द्वारा की गई कोशिश के लिए आपके चेहरे पर एक मुस्कान रखते हुए धन्यवाद कहना जरूरी है। 

    बच्चे को बताएं कि आपको कोई भी ऐसा गिफ्ट देता है, तो उसे पहले से नहीं मालूम होगा कि आपको ये पसंद नहीं आएगा। उसने अपनी तरफ से आपके लिए बेस्ट करने की कोशिश की है। बस उसी कोशिश के लिए आपको धन्यवाद शब्द का इस्तेमाल करना है। बच्चे को बताएं कि वो इस दौरान गिफ्ट लेते हुए कह सकते हैं कि मेरे बारे में इतना सोचने के लिए धन्यवाद।
  1. सब्र रखें –  व्यक्तित्व में चारचांद लगाने वाले थैंक्यू जैसा शब्द कहना बच्चे एक ही दिन में नहीं सीख जाते। दरअसल, अच्छी आदतें (good habits) सीखने में वक्त लगता है, इसलिए थोड़ा सब्र रखें। ऊपर बताए गए तरीकों से आप बच्चे को थैंक्यू कहने की आदत डालने की कोशिश करेंगे, तो वो समय के साथ हर किसी को थैंक्यू जरूर कहेंगे। अगर बच्चा थैंक्यू न बोले, तो उसपर गुस्सा न करें। उसे प्यार से चीजें समझाते रहें।

थैंक्यू, धन्यवाद, आभार, थैक्स जैसे शब्द भले ही छोटे हैं, लेकिन इनका प्रभाव सामने वाले पर काफी अच्छा पड़ता है। इसी वजह से बच्चों को थैक्यू कहने की आदत डलवाना जरूरी है। इससे बच्चे की पर्सनेलिटी भी बेहतर होती है और सबको उसका व्यवहार भी पसंद आता है। किसी के प्रति कृतज्ञता को प्रदर्शित करने वाले ये शब्द असल में बच्चों के ही व्यक्तित्व को उभारते हैं।

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop