ek gyarah mahine ke bacche

ek gyarah mahine ke bacche

21 Apr 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

एक 8 महीने और 11 माह के बच्चे के भोजन चार्ट में कोई बड़ा अंतर नहीं है | सिर्फ एक अंतर रहता है कि जो खाना 8 महीने के बच्चे को माँ को खिलाने में डर लगता था अब वही खाना 11 महीने की उम्र के बच्चे के रोज़ के मेनू का हिस्सा बन जाता है | बच्चा इस उम्र में ठोस खाना खाता है और नियमित आहार लेने में बहुत कम उपद्रव करता है। वास्तव में, शिशु अब हर बदलाव का आनंद लेता है और उसे स्वीकार करता है। अगर बच्चा आहार में बदलाव लाने में समय लेता है तो आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है | कुछ बच्चे परिवर्तनों के अनुसार बदलनें में समय लेते हैं। माता-पिता के रूप में हमें थोड़ा धैर्य रखना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चे को सही पोषण मिले जो कि बच्चे के विकास के लिए बहुत जरुरी है |

नीचे दिए गए आहार चार्ट माता-पिता को ये बताता है कि उन्हें अपने 11 महीने के बच्चे को पोषण देने के लिए कब और क्या खिलाना चाहिए ? सिर्फ इसलिए कि आपका बच्चा लगभग अब एक वर्ष का है, इसका मतलब यह नहीं है कि आप उसे स्तनपान कराना छोड़ दें। स्तनपान शिशु के मेनू का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, जब तक कि वह 12 महीने का ना हो जाए |

1. सोमवार

हफ्ते की सुबह की शुरुआत बच्चे को स्तनपान के साथ कराएं और दलिया या खिचड़ी नाश्ते में दें। माता-पिता को यह ध्यान रखना चाहिए कि दोपहर में शिशु को स्तनपान करवाना चाहिए | दोपहर के भोजन में दाल और चावल खिलाना चाहिए | शाम के समय किसी भी तरह का फल शाम का सबसे अच्छा नाश्ता हो सकता है। अपने बच्चे को रात के खाने में पनीर डोसा खिलाएं और देर रात स्तनपान कराएं |

2. मंगलवार

सुबह के शुरुआत स्तनपान से करें | सब्ज़ी डोसा या इडली से बच्चे का नाश्ता कराएं | बीच सुबह की भूख स्तनपान से दूर करें | दिन के खाने में दही और चावल दें और पका हुआ गाजर ,आलू का सलाद शाम को खिलाएं| रात के खाने में ओट और केले की दलिया दें और आखिर में माँ के दूध के साथ दिन को समाप्त करें |

3. बुधवार

बच्चो की यह उम्र एक अच्छा समय है जब उन्हें मज़ेदार खाने जैसे मैक्रोनी और चीज़ दी जा सकती है | सुबह के स्तनपान कराने के बाद इन दोनों को बच्चे को नाश्ते में खिलाएं |  दिन में मूंग दाल की खिचड़ी खिलाएं और शाम को केले का पैनकेक शामिल करें (जो बच्चों को बहुत पसंद है )और रात का खाना और मज़ेदार हो सकता है उन भरे हुए पराठों के साथ ! इन सभी खानों के साथ सुबह और रात का स्तनपान शामिल होना चाहिए |

4. गुरूवार

सुबह स्तनपान कराने की दिनचर्या दोहराएं | डोसा के बैटर में रागी का प्रयोग करें या नाश्ते के लिए हरे चने का डोसा बनाएं। दोपहर के भोजन और नाश्ते के बीच बच्चे को स्तनपान कराएं | चावल और सांभर के साथ  दोपहर के भोजन को सरल रखें | शाम के नाश्ते के लिए सेब और गाजर का सूप रखें। कार्बोहाड्रेड की मात्रा शरीर में बनाये रखने के लिए चावल की जगह रोटी हल्की सब्ज़ी के साथ दें | सोते समय स्तनपान कराएं |

5. शुक्रवार

सुबह के रूटीन में बच्चे को स्तनपान को पहले की तरह जारी रखें | बाद में नाश्ते के लिए अपने बच्चे को गेहूं के पेनकेक्स या गेहूं डोसा का सेवन कराएं । दोपहर या रात के खाने के लिए मिक्स चावल या इडली / स्टीम्ड डोसा दें और शाम के नाश्ते में एक गिलास सेब का मिल्कशेक दीजिये | हम जानतें है कि अब आपको बताने की जरुरत नहीं है कि सुबह और रात के समय आपको अपने बच्चे को स्तनपान कराना है |

6. शनिवार

सुबह में स्तनपान कराने के बाद रोटी और आमलेट के नाश्ते के साथ सप्ताहांत शुरू करें। दोपहर के खाने के लिए अपने बच्चे को मसले हुए घी चावल के साथ अंडे की भुर्जी दें | आपका बच्चा अब इतना बड़ा है कि प्रोटीन से भरे खाने का आनंद भी ले सकता है और पचा भी सकता है | शाम के समय उसे किसी भी फल का शेक और दही का आनंद लेने दें और रात के खाने में किसी भी तरह के डोसा को शामिल करें | लेकिन ध्यान रहे कि आप सुबह और रात के स्तनपान कराना ना भूलें |

7. रविवार

रविवार की सुबह अपने बच्चे को स्तनपान कराने के बाद उसे उपमा खिलाएं | दोपहर के भोजन के लिए खिचड़ी सही है तभी जब आपने अपने बच्चे को सुबह के नाश्ते के और दिन के खाने के बीच स्तनपान कराया हो | शाम के नाश्ते में अपने बच्चे को मसला हुआ पनीर दें अगर उसे वो पसंद है | रात के खाने में ब्रेड उपमा दें और खाने के बाद रात्रि का स्तनपान कराने के बाद बच्चे को सुलाएं।

चाहे आप अपने बच्चे को ठोस आहार खिलाने में आनंद लेतीं है और आपका बच्चा भी इन नए खानों को पसंद करता हो पर आप इन खानों को मैश करना ना भूलें | यह सच है कि अधिकांश बच्चों के इतनी उम्र तक दांत आ जाते हैं जो उन्हें ऐसे खानों को चबाने में मदद करते हैं, लेकिन आपको हमेशा सावधान रहना चाहिए कि कहीं आपका बच्चा खाना को निगल ना ले और उसे घुटन न हो जाये |

आपको हमारी शुभकामनाएं और हैप्पी पेरेंटिंग!

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop