• Home  /  
  • Learn  /  
  • होली 2022 : बच्चों के लिए अपनाएं ये टिप्स, नहीं पड़ेगा त्वचा और बालों पर बुरा प्रभाव
होली 2022 : बच्चों के लिए अपनाएं ये टिप्स, नहीं पड़ेगा त्वचा और बालों पर बुरा प्रभाव

होली 2022 : बच्चों के लिए अपनाएं ये टिप्स, नहीं पड़ेगा त्वचा और बालों पर बुरा प्रभाव

10 Mar 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

होली में उड़ते गुलाल, रंग-बिरंगे गुब्बारे, पिचकारी, लोगों का एक दूसरे से गले मिलकर बधाई देना, ये सब बच्चों को खूब भाते हैं। ये माहौल देखते ही बच्चे एक दूसरे को रंग लगाने, पिचकारी से भिगाने के लिए दौड़ पड़ते हैं। लेकिन इस दौरान बच्चों को रंगों से खेलने में जितना मजा आता है, उतनी ही तकलीफ बाद में त्वचा, बालों और आंखों को होने वाले नुकसान से होती है। इससे खेली हुई होली का पूरा मजा किरकिरा हो जाता है।

अगर आप चाहते हैं कि होले के रंगों का मजा बाद में बच्चों को सजा जैसा न लगे, तो उनके बालों, आंखों और त्वचा का होली खेलने से पहले और बाद में खास ध्यान रखना होगा। इसके लिए आप इन होली टिप्स की मदद ले सकते हैं।

होली स्किन एंड हेयर केयर टिप्स – Precautions for Holi

होली का रंग बच्चों की कोमल त्वचा पर कई तरह के नुकसान पहुंचा सकता है। इनसे बच्चों को बचाने के लिए होली स्किन एंड हेयर केयर टिप्स को अपना सकते हैं। हम लेख में आगे होली 2022 खेलने से पहले और होली खेलने के बाद बच्चों के लिए अपनाए जाने वाले सभी टिप्स के बारे में बताएंगे। इससे होली का रंग छुड़ाना भी आसान लगेगा और बच्चों को रंगों से होने वाला नुकसान की तकलीफ भी नहीं सहनी पड़ेगी।

होली खेलने से पहले और बाद में ऐसे रखें आंखों, बालों व त्वचा का ख्याल

हैप्पी होली 2022 बोलते हुए गुलाल एक दूसरे के गाल में लगाने से पहले होली के दिन अपने बच्चे की त्वचा का ख्याल रखने के लिए इन टिप्स को अपनाएं। त्वचा के साथ ही बालों और आंखों पर भी ध्यान दें। नीचे इन सभी टिप्स के बारे में एक-एक करके बताया गया है।

होली में बच्चों की त्वचा की देखभाल – Holi Precautions for Skin

precautions before playing holi in hindi
होली खेलते बच्चे / स्रोत – मैक्स पिक्सल

1. मॉइस्चराइजर – बच्चे की त्वचा का ख्याल रखने के लिए होली का त्योहार मनाने से पहले उसकी स्किन पर बेबी सेफ मॉइस्चराइजर लगाएं। इससे चेहरे पर रंग को चिपकने से रोका जा सकता है।

2. सनस्क्रीन – स्किन को मॉइस्चराइज करने के बाद बच्चों के लिए सुरक्षित सनस्क्रीन का उपयोग जरूर करें। बच्चे धूप में होली खेलते हैं और सनस्क्रीन के इस्तेमाल से उन्हें सूरज की हानिकारक किरणों से बचाया जा सकता है। इसके लिए धूप में निकलने से 30 मिनट पहले बच्चे के चेहरे और हाथों पर सनस्क्रीन लगाएं। सनस्क्रीन बच्चे की त्वचा का ख्याल रखेगा और उसे धूप से होने वाले नुकसान से बचाएगा।

3. नारियल का तेल – पैर, गर्दन और शरीर के अन्य हिस्से में नारियल का तेल अच्छे से लगा दें। इससे बच्चे की स्किन पर रंग लगने के बाद भी अच्छे से छूट जाते हैं। नारियल के तेल से थोड़ी देर बच्चे की मालिश करें और फिर उसे कपड़े पहना दें। कान और गर्दन के हिस्से में तेल लगाने के बाद वैसलीन भी लगाएं। ऐसा करने से रंग और भी तेजी से छूटता है।

4. पूरी आस्तीन के कपड़े – होली का त्योहार मनाने के लिए बच्चे घर से निकलें, इससे पहले यह सुनिश्चित करें कि उन्होंने पूरी आस्तीन के कपड़े पहने हैं। इससे त्वचा को होने वाले नुकसान से बच्चों की स्किन और भी सुरक्षित रहती है।

5. होठों पर लिप बाम लगाएं – होली खेलते समय बच्चों को भेजने से पहले माता-पिता होठों की त्वचा को भूल जाते हैं। ध्यान दें कि रंगों में मौजूद हार्श केमिकल की वजह से होंठ फट सकते हैं। ऐसे में बच्चों के होठों पर बेबी सेफ लिप बाम जरूर लगाएं

6. पानी में नींबू की बूंदें – होली खेलने के बाद बच्चे के शरीर से होली का रंग छुड़ाने के लिए पानी में नींबू की थोड़ी बूंदें मिला लें। इससे रंग छुड़ाने में आसानी होगी। संभव हो, तो नहाते समय सामान्य पानी का उपयोग करें।

कुछ रंग ऐसे होते हैं, जो गुनगुने व गर्म पानी के कारण और पक्के हो जाते हैं। साथ ही केमिकल युक्त रंगों से बच्चे की स्किन पर एलर्जी हो जाती है। उसपर जब गर्म या गुनगुना पानी पड़ता है, तो दर्द का एहसास होता है।

होली में बच्चों के बालों की देखभाल – Holi Precautions for Hair

holi precautions for skin and hair
होली खेलते बच्चे / स्रोत – अनस्प्लैश

1. तेल लगाएं – बोलों को रंगों से बचाने के लिए तेल लगा लें। तेल को बालों की जड़ में लगाने से बचें। जड़ में अगर तेल होगा, तो अगर स्कैल्प पर रंग पहुंचता है, तो वो तेल के साथ हेयर फॉलिकल्स तक पहुंच सकता है। जड़ के थोड़े नीचे से सीरों तक बालों में तेल लगाएं।

2. बाल अच्छे से बांध दें – तेल लगाने के बाद बालों को अच्छे से बांध लें। खुले और उड़ते बाल उलझते हैं और पूरी तरह रंगों से लबालब हो जाते हैं। ऐसे में बाल बंधे हुए रहेंगे, तो सुरक्षित रहेंगे।

3. सिर ढकने के लिए कपड़ा या स्कार्फ – बालों को बांधने के बाद सिर को किसी कपड़े, रुमाल, स्कार्फ या फिर किसी अन्य कपड़े से अच्छे से ढक दें, ताकि रंग बालों तक न पहुंच पाए।

4. शैम्पू और कंडीशनर – होली का त्योहार अच्छे से मनाने के बाद बच्चे के बाल को शैम्पू से धो दें। एक बार शैम्पू करने के बाद बाल साफ न हों, तो दोबारा शैम्पू लगाएं। इससे बाल में फंसा हुआ रंग निकल जाएगा। इसके बाद बालों पर कंडीशनर लगाएं और फिर बाल सूखने के बाद नारियल तेल से अच्छे से मसाज कर लें। इस बार आप जड़ों पर भी तेल लगा सकते हैं।

होली में बच्चों की आंखों की देखभाल – Holi Precautions for Eyes

precautions during holi - होली पर सावधानियां
होली के रंगों से भरा आसमान / स्रोत – अनस्प्लैश

1. सनग्लास पहनाएं – आंखें बहुत नाजुक और अनमोल होती हैं। होली में उड़ने वाला और एक-दूसरे पर फेंका गया रंग इनमें चला जाए, तो काफी परेशानी होती है। यहां तक की आंखों की रोशनी जाने का भी खतरा रहता है। इसलिए बच्चों की आंखों को होली के रंगों से बचाने के लिए सनग्लास पहनाएं।

2. आंखों के आसपास क्रीम की मोटी परत लगाएं – होली खेलने के लिए बच्चे को तैयार करते समय उसकी आंखों के आसपास क्रीम की मोटी परत लगा दें और फिर ऊपर से वैसलीन लगाएं। ऐसा करने से उस जगह पर रंग नहीं छिपकेगा।

कई बार बच्चे के आंखों के नीचे की त्वचा पर लगे रंग को छुड़ाने के लिए उसे नहलाते समय पेरेंट्स उस जगह को इतना रगड़ देते हैं कि आंखों को नुकसान पहुंच जाता है। ऐसा करने से इस गलती से बचा जा सकता है।

3. रंग निकालते समय आंखों को बंद करने के लिए कहें – होली खेलने के बाद आंखों के आसपास के हिस्से को साफ करते समय बच्चे को आंखें बंद रखने के लिए कहें। इसे इधर-उधर का रंग उसकी आंखों पर नहीं जाएगा।

4. आंखों को पानी से अच्छे से धोएं – बच्चे को नहलाने के बाद उसे आंखें खुली हुई रखने के लिए कहें और तीन से चार बार उसमें पानी मारें। ऐसा करने से अगर आंख के अंदर किसी भी तरह का रंग या कचरा होगा, तो वो बाहर निकल जाएगा।

होली खेलने के बाद अपनाएं ये जरूरी टिप्स – Precautions for Holi

  • बच्चे को पानी और दूसरे तरल पदार्थ पिलाते रहें।
  • होली के रंग साफ करने के लिए केमिकल युक्त साबुन का इस्तेमाल न करें। इसकी जगह माइल्ड क्लींजर उपयोग में ला सकते हैं।
  • बच्चे के हाथ और पैर के नाखूनों को एक मुलायम ब्रश से साफ करें।
  • रंग छुड़ाने में दिक्कत हो रही है, तो थोड़ी देर उस जगह पर वैसलीन लगाकर मल लें।
  • नहाने के बाद भी बच्चे की स्किन में नारियल का तेल लगा दें।
  • स्किन पर किसी भी तरह के इंफेक्शन के लक्षण दिखें, तो डॉक्टर से संपर्क करें।
  • कुछ पक्के रंगों को कान के पीछे या अन्य जगहों से छूटने में एक से दो दिन लग जाता है। ऐसे में धैर्य रखें।

होली का त्योहार खुशियां मनाने और बांटने का है। होली में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न रंगों के चलते बच्चों का यह पसंदीदा त्योहार कहलाता है। इस दौरान हानिकारक रंगों से दूर रहकर आप दूसरों की स्किन, त्वचा और आंंखों को बचा सकते हैं। होली का त्योहार मनाने के लिए कुदरती रंगों का उपयोग करने सबसे बेस्ट होता है।

इस त्योहार में आप खुद भी फूलों से बने हर्बल गुलाल का उपयोग करें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। इससे आप अपनी और दूसरों की होली को खुशहाल और सुरक्षित बना सकते हैं। हां, खुद को और अपने बच्चों को सिंथेटिक रंगों के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए लेख में बताए गए हैप्पी होली टिप्स को भी जरूर आजमाएं।

हैप्पी होली 2022!

संबंधित लेख :
बच्चों के लिए घर में कैसे बनाएंगे रंग-बिरंगे नेचुरल रंग (natural holi colours)
होली स्पेशल हेल्दी रेसिपीज: 5 मिठाइयां होली में बच्चों को ऐसे रखें कोरोना से बचाकर (holi sweets recipes in hindi)
होली के अवसर पर शायरी और बधाई संदेश (holi wishes in hindi)


Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop