• Home  /  
  • Learn  /  
  • क्या माँ बनने का मतलब अपने असली अस्तित्व को ख़तम कर देना? क्या अब आप जवान नहीं रहे?
क्या माँ बनने का मतलब अपने असली अस्तित्व को ख़तम कर देना? क्या अब आप जवान नहीं रहे?

क्या माँ बनने का मतलब अपने असली अस्तित्व को ख़तम कर देना? क्या अब आप जवान नहीं रहे?

13 Apr 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

वक़्त का पता ही नहीं चला और ना जाने कब आप माँ-माँ करते खुद माँ कहलाने वाले हैं। आपको अंदाज़ा भी नहीं है पर यह कितनी बड़ी खुशनसीबी है। ज़रा उनसे पूछें जो माँ कहलाने के लिए तरस रहें हैं।

असल बात यह है की यह जितनी बड़ी ख़ुशी है उतना ही बड़ा बदलाव।हम आमतौर पर ध्यान नहीं देते पर आप एक नई जान को इस दुनिया में लाने जा रही हैं। वह जान जो आपकी जिम्मेदारी है। वह जान जो आपका अंश है। वह जान जो आपका और आपके प्यार का प्रतिक है। यह नन्ही सी दुनिया आपको माँ कहकर जल्द ही बुलाने वाली है।

पर क्या इन सब में आप खुद को कहीं खो रही हैं? क्या आपको कभी कभी ऐसा महसूस होता है की आपके जीने के मायने बदल रहे हैं? क्या आपको ऐसा लगता है की आप खुद पर ध्यान नहीं दे पा रही हैं ? क्या ऐसा लगता है की ज़िन्दगी में आपका अस्तित्व काम हो रहा है ?

जो लोग पहले आपका नाम जपते थे वह अब आपका प्यार शिशु से बाँट लेंगे।क्या आपके पति सिर्फ आपके नहीं रहे?

दिमाग में ऐसे ख्याल आना स्वाभाविक है और हम यह समझते हैं।

यह लेख बस इसलिए लिखा है ताकि मैं आपको बता सकूँ की शिशु को जन्म देने की प्रक्रिया में खुद को न खो दें। यह प्रक्रिया आपकी ज़िन्दगी का एक हिस्सा है। ज़िन्दगी आगे चलती रहेगी। आपको आज भी मनचाहे कपडे पहनने का, अपनी माँ की गोद में सर रखकर सोने का, अपने पिता से ज़िद करने का, पति के साथ एकान्त समय बिताने का पूरा अधिकार है। 

आप आज भी उतनी ही जवान हैं और आपकी एक खुद की दुनिया है जिसमें वह शिशु एक बहुत अहम् भूमिका निभाएगा और वह शिशु की अपनी दुनिया है जिसमें आप एक अहम् भूमिका निभाएंगी।

माँ बनते बनते अपने अंदर के बचपने को मत खो दें बल्कि अपने शिशु के साथ अपने बचपन को दोहराएं।दुनिया में लोगों की ज़िन्दगी में आपकी जगह कोई नहीं ले सकता फिर चाहे वह आपका शिशु क्यों ना हो।

लोग अक्सर यह सोचते हैं की उनके शौक अब सब ख़तम क्यूंकि अब जो भी हैं वह शिशु का है। हम समझते हैं आपकी ज़िन्दगी में शिशु का महत्तव पर आपके शौक, आपकी ज़िन्दगी, आपके लोग बस आपके हैं और यह शौक पूरे आपको ही करने हैं।

शिशु के आगमन को यौवन का अंत न समझें बल्कि एक नई खुशहाल शुरुआत समझें। आपका इस दुनिया में अस्तित्व दोगुना हो गया है।

दुनिया में हो रही इस गलती के लिए लोगों को जागरूक करें।

 

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop