नवजात शिशु के नाखून कैसे काटें?

नवजात शिशु के नाखून कैसे काटें?

4 Apr 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

नवजात शिशु के स्वास्थ्य के साथ ही उसकी साफ-सफाई का भी ध्यान रखना चाहिए। इन दोनों के ही लिए नवजात शिशु के नाखूनों को समय-समय पर काटा जाना जरूरी है। कई बार तो नवजात शिशु के नाखून उसके खुद के शरीर पर खरोंच लगा देते हैं। 

ये सब देखकर नए पेरेंट्स सोचने लगते हैं कि आखिर इतनी छोटी उंगलियों के नाखूनों को कैसे और कब काटा जाए। ऊपर से नवजात शिशु के नाखून काटने का तरीका भी अलग होता है। अब आप इस परेशानी को भूल जाएं और इस लेख में नवजात शिशु के नाखून काटने की सही उम्र और तरीका जान लें।

किस उम्र से नवजात शिशु के नाखून काटने चाहिए? 

शिशु थोड़े लंबे नाखूनों के साथ ही जन्म लेते हैं। लेकिन, शिशु के पैदा होने के एक-दो दिनों में ही के नाखूनों को एक-दो दिन में नहीं काटना चाहिए, क्योंकि इस दौरान उनके नाखून बहुत मुलायम होते हैं। शिशु के पैदा होने के चार हफ्ते यानी करीबन एक महीने बाद उसके नाखून हल्के सख्त होने लगते हैं। इस दौरान डॉक्टर की सलाह पर ध्यान से नवजात के नाखून काट सकते हैं। 

दरअसल, गर्भ में होते ही शिशु के नाखूनों की ग्रोथ शुरू हो जाती है। जब गर्भस्थ शिशु 22 हफ्ते का होता है, तो उसके नाखून उंगलियों के अंत तक पहुंच जाते हैं। उसके बाद 38 से 40वें हफ्ते तक गर्भस्थ शिशु के नाखून फिंगर टिप्स से आगे आने लगते हैं। बच्चा अगर बडे़ नाखूनों के साथ पैदा हुआ है, तो उसको खरोंच से बचाने के लिए उसे अच्छे से कपड़े में लेपटकर रखें। साथ ही नवजात के हाथों में दस्ताने भी पहना सकते हैं।

नवजात शिशु के नाखून
नवजात शिशु के नाखून / स्रोत – मैक्सपिक्सल

नवजात शिशु के नाखून काटने का तरीका? 

अक्सर माता-पिता के मन में सवाल आता है कि नवजात शिशु के नाखून कैसे काटें। इस सवाल का जवाब हम आगे लेकर आए हैं। यहां हमने विस्तार से नवजात शिशु के नाखून काटने का तरीका बताया है।

  • नवजात शिशु के नाखून काटने के लिए ऐसी जगह को चुनें, जहां अच्छी रोशनी आती हो।
  • अब उस जगह पूरे आराम से बैठ जाएं। पोजिशन सही करने के बाद अपने एक हाथ की तर्जनी (Index) उंगली, मध्यमा (Middle) उंगली और अंगूठे से नवजात की उंगली को पकड़ें।
  • फिर उस हाथ के अंगूठे से शिशु के नाखून की स्किन को पीछे की तरफ खींचें या दबाएं। इससे स्किन को कटने से बचाया जा सकता है।
  • उसके बाद नाखून को शिशु के नाखून काटने के लिए बनी कैंची से सावधानीपूर्वक काटें। इसके लिए बेबी नेल क्लिपर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • नाखून काटने के बाद देखें कि कोई नाखून नुकीला या खुरदुरा न हो। 
  • ऐसा होने पर नेल फाइल या एमरी बोर्ड से नाखून के नुकीले व खुरदरे भाग को ठीक करें। 

नवजात शिशु के नाखून काटने का सही समय क्या है?

नवजात शिशु के नाखून काटने का सबसे सही समय शिशु की गहरी नींद में होना है। नवजात शिशु के नाखून सोते समय काटने से उसके हिलने-डुलने से उंगली को लगने वाली चोट और नाखून काटने में होने वाली दिक्कत से बचा जा सकता है। इसके अलावा, शिशु को नहलाने के बाद भी नाखून काट सकते हैं। 

इस समय शिशु के नाखून नरम हो जाते हैं और उन्हें काटना आसन होता है। इस दौरान किसी अन्य व्यक्ति की भी मदद लें, क्योंकि अगर शिशु अपना शरीर हिलाएगा तो उसे बेबी नेल क्लिपर या नाखून काटने वाली कैंची से चोट लग सकती है।

नवजात के नाखून काटना क्यों जरूरी है?

  • नाखून काटना इसलिए जरूरी है, क्योंकि नवजात शिशु के नाखून से उसके शरीर में खरोंच लग सकती हैं।
  • शिशु मुंह में अपनी उंगलियां डाल लेते हैं। ऐसे में हाइजीन बनाए रखने और उन्हें नाखून संबंधी संक्रमण से बचाने के लिए नाखून काटना जरूरी है।
  • कपड़ों में शिशु के नाखून फंसकर उन्हें दर्द दे सकते हैं।
  • नाखून काटकर शिशु को बीमारियों से बचाया जा सकता है। दरअसल, बच्चों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है और नाखून के जरिए पेट तक पहुंचने वाली गंदगी से बच्चे बीमार हो सकते हैं।
नवजात शिशु के नाखून
माँ की गोद में बैठा हुआ छोटे बच्चा / स्रोत – अनस्प्लैश

छोटे बच्चों के नाखून कितने समय बाद दोबारा काटे जा सकते हैं?

नवजात शिशुओं के नाखून की ग्रोथ काफी जल्दी होती है। इसी वजह से उनके नाखून को दोबारा सही समय पर काटना जरूरी है। बताया जाता है कि एक हफ्ते बाद ही छोटे बच्चों के नाखून बढ़ जाते हैं और उन्हें काटना पड़ सकता है। ऐसा न करने पर नवजात अपने नाखूनों से खुद को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

नाखून काटते समय कट लग जाने पर क्या करें? 

नवजात शिशु के नाखून काटते समय खरोंच या चोट लग जाए, तो तुरंत रूई के एक टुकड़े से उस जगह को दबा दें। ऐसा करने से खून निकलना बंद हो जाएगा। अगर खरोंच हल्का है और खून नहीं निकल रहा है, तो उस जगह को ऐसे ही छोड़ दें। नवजात शिशु की उंगली पर बैंडेज बिल्कुल न लगाएं। बड़े घाव पर डॉक्टर से सलाह लेकर स्टेराइल गौज पैड बांध सकते हैं।

अब आप समझ ही गए होंगे कि नवजात शिशु के नाखून किस उम्र में काटे जा सकते हैं और नाखून काटने का तरीका क्या है। बस तो शिशु के चेहरे को खरोंच से बचाने और हाइजीन को बनाए रखने के लिए समय-समय पर उसके नाखून काटते रहें। हैप्पी पेरेंटिंग!

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop