• Home  /  
  • Learn  /  
  • प्रसव के बाद इन अंगो को छूने से बढ़ सकती है आपकी परेशानी
प्रसव के बाद इन अंगो को छूने से बढ़ सकती है आपकी परेशानी

प्रसव के बाद इन अंगो को छूने से बढ़ सकती है आपकी परेशानी

13 Apr 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

  गर्भवती होना किसी भी महिला के लिए ख़ुशी और चुनौती से भरा वक़्त होता है, प्रसव पीड़ा को झेलकर शिशु को जन्म देना माँ के लिए दूसरे जन्म से कम नहीं है। प्रसव के बाद महिलाओं को अपना खास ख्याल रखना होता है, और ना सिर्फ खाने का बल्कि साफ़-सफाई व् अन्य छोटी-छोटी पर महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होता है। एक माँ बनने के साथ-साथ एक महिला की ज़िम्मेदारियाँ भी बढ़ जाती है उन्हे अपने शिशु का ख़ास ख़याल रखना होता है क्यूंकि प्रसव के बाद कुछ भी इधर-उधर होने से माँ और शिशु दोनों के लिए खतरा हो जाता है। इसलिए, माँ को ऐसा कुछ काम नहीं करना चाहिए जिससे कि उनके साथ-साथ उनके बच्चे को भी संक्रमण का खतरा हो, और संक्रमण ना सिर्फ खाने से बल्कि कभी-कभी छूने से भी होता है क्यूंकि कभी-कभी प्रसव के बाद कुछ महिलाएं अपने शरीर के कुछ अंगों को बार-बार छूती हैं जिससे कि सबसे अधिक इंफेक्शन फैलने का खतरा हो सकता है ।

 

 

  नीचे हम बता रहे हैं की कौनसे ऐसे अंग है जो आपको प्रसव के बाद बिल्कुल नहीं छूने चाहिए और जिसका आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए।

टांको को ना छुएं

अगर आपका शिशु सी-सेक्शन से हुआ है तो ज़ाहिर सी बात है की आपको काफी परेशानी और असहजता होगी और बार-बार आपका ध्यान आपके टांको पर ही जाएगा पर इस वक़्त आपको खुद को कंट्रोल करना चाहिए और आप ध्यान रखें की आपका हाथ आपके टांको पर ना जाए। अगर आप टांको को गलती से खरोंचते या छूते हो तो इससे आपकी तकलीफ और बढ़ सकती है और इतना ही नहीं इससे आपके शिशु को भी इन्फेक्शन हो सकता है। इसलिए कोशिश करें आप टांको को सूखा और साफ़-सुथरा रखें और शिशु को छूने से पहले हाथ अच्छे से साफ़ रखें।

प्राइवेट पार्ट को छूने से बचें 

यदि आपको नॉर्मल डिलीवरी हुई है तो इसमें हम समझ सकते हैं की आपको योनि में काफी दर्द का सामना करना पड़ता है और इसके साथ-साथ रक्तस्राव की समस्या और ज़्यादा असहजता बढ़ाती है। इसलिए डॉक्टर आपको एंटीसेप्टिक क्रीम भी देते हैं जिससे आप दर्द को कम कर सकते हैं। परन्तु, याद रहे की आप अपनी योनि को साफ़ रखें और उसके बाद अपने शिशु को छूने से पहले हाथ ज़रूर धोएं नहीं तो आपके शिशु को संक्रमण होने का खतरा हो सकता है और इतना ही नहीं योनि को साफ़ करने से पहले भी अपने हाथ साफ़ कर लें ताकि आपके टांकों में कोई इन्फेक्शन ना हो। आप गरम पानी से नहा भी सकती हैं या एंटीसेप्टिक ड्रॉप गरम पानी में डालकर नहा सकती हैं जिससे आपको दर्द से आराम भी मिलेगा और इन्फेक्शन का खतरा भी कम होगा।

स्तनों का ना छुएं 

प्रसव के बाद स्तनपान कराने से स्तन में दर्द की समस्या या सूजन हो सकती है जिस कारण आप उनको छूना या मालिश करना चाहेंगी पर ऐसा करने से बचें क्यूंकि आपका शिशु पूरी तरह से आपके दूध पर निर्भर करता है और अगर आप ऐसे वैसे हाथों से अपने स्तन को छुएंगी आपके हाथ के अन्देखे कीटाणु आपके शिशु तक पहुंचकर उन्हें बीमार कर सकते हैं। अगर आपकी तकलीफ ज़्यादा है तो आप साफ़ गुनगुने पानी से अपने स्तन की सिकाई कर सकती हैं जिससे आपको आराम मिलेगा।

नाक ना छुएं

यह आपको थोड़ा आश्चर्यजनक और अटपटा लग सकता है पर यह सच है, अगर आपको ज़ुकाम की समस्या है और अगर आप नाक को हाथ लगाती हैं तो आपके कीटाणु आपके शिशु तक आसानी से पहुँच सकते हैं और आपका शिशु भी बीमार हो सकता है। हालांकि शिशु माँ के दूध पर निर्भर रहता है इसलिए अगर माँ को कुछ परेशानी होती है तो शिशु को भी उससे गुज़ारना पड़ सकता है, परन्तु अगर आप नाक छूकर अपने शिशु को छुएंगे तो यह परेशानी शिशु तक जल्दी पहुँच सकती है और शिशु की तकलीफ और बढ़ा सकती है।

इसलिए यह ज़रूरी है की आप प्रसव के बाद इन जगहों को ना छुएं क्यूंकि इससे आपको और आपके शिशु दोनों को खतरा हो सकता है। 

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop