• Home  /  
  • Learn  /  
  • योनि स्त्रावvaginal discharge द्वारा जानिए महिलाओं में किन दिनों सर्वाधिक कामोत्तेजना होती है
योनि स्त्रावvaginal discharge द्वारा जानिए महिलाओं में किन दिनों सर्वाधिक कामोत्तेजना होती है

योनि स्त्रावvaginal discharge द्वारा जानिए महिलाओं में किन दिनों सर्वाधिक कामोत्तेजना होती है

14 Apr 2022 | 1 min Read

Tinystep

Author | 2578 Articles

चौंकियेगा नहीं अगर हम आपको बतायें की आपके योनि स्त्राव में आपकी fertility और सेक्स चाहत का राज़ छुपा है। प्रकृति ने ऐसी रचना की है जिसके माध्यम से शरीर यह संकेत देता है की कब उसमें सर्वाधिक प्रजनन क्षमता होती है। इसके अनुसार स्त्री-पुरुष के मिलन से एक नन्ही सी जान का निर्माण होता है।

योनि स्त्राव(vaginal discharge) से sex desire कैसे पता चलता है?

महिला जब बच्चा पैदा करने योग्य हो जाती है तब उसमें माहवारी के रूप में महत्वपूर्ण लक्षण दिखाई देने लगता है। इसके अतिरिक्त उसके स्तन और कूल्हे का आकार बढ़ जाता है। कमर लचीली हो जाती है और महिलाओं की बगल की गंध भी बढ़ जाती है।

अब अगर आपने ध्यान न दिया हो तो हम आपका ध्यान इस बात पर केंद्रित करना चाहेंगे की इन सभी के अतिरिक्त महिलाओं में योनि से स्त्राव होता है। इसे vaginal discharge कहते हैं।

यह सफ़ेद रंग का गंधहीन स्त्राव होता है। यह प्रत्येक दिन निकलता है। फर्क सिर्फ इतना है की प्रतिदिन इसकी रंगत, चिपचिपाहट और स्थूलता( thickness) और टेक्सचर में बदलाव आता है।

इसके लिए आप नीचे दी गई चार्ट को पढ़ सकती हैं।

इस चार्ट के मुताबिक महिला के मासिक धर्म(ovulation days) को चार वर्गोँ में बाँटा गया है।

1. pre-ovulatory phase: इसमें महिला की योनि से कोई स्त्राव नहीं आता है और उसकी पैंटी सूखी रहती है। इसलिए पुरुष लिंग को अंदर लेने में दिक्कत होती है क्योंकि महिला को प्राकृतिक lubrication नहीं मिलता।

2. Fertile phase: इसमें महिला की योनि से सफ़ेद या क्रीमी स्त्राव निकलता है। इसकी मात्रा काफी होती है और छूने पर फैलता है।

3. Highly Fertile phase: इसमें महिला की योनि से सर्वाधिक स्त्राव निकलता है। यह पानी जैसा ही तरल होता है। आसानी से चिकनाहट देता है। इस दौरान महिला को पुरुष के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने में दिक्कत नहीं होती क्योंकि उसकी योनि प्राकृतिक चिकनाहट पैदा करती है।

4. Post-ovulatory phase: इसमें महिला की योनि से स्त्राव निकलता तो है, परन्तु वह गाढ़ा और सख्त सा होता है। वह लचीला और चिकना नहीं होता है। इस दौरान महिला में माँ बनने का मौका कम हो जाता है।

Fertile और Highly Fertile phase दिनों में महिला का गर्भ धारण करने की अधिक गुंजाईश सर्वाधिक होती है।

इसलिए अगर आप कैलेंडर की तारीकों को फॉलो नहीं कर पा रहीं हैं तो योनि स्त्राव पर नज़र रखें। उसे छू कर महसूस कीजिये और उसके अनुसार पति के करीब आइये।

इस पोस्ट को अन्य लोगों के साथ शेयर करने में शर्माइये नहीं 🙂

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop