नींबू से लाइए ज़िन्दगी में ताज़गी

अपने रोज़ के भोजन में नींबू कि कुछ बूँदें डालने से कई बीमारियों से बचा जा सकता है |

 

जब भी आप खट्टे नींबू के बारे में सोचते हैं तो आपके मन में पहला एहसास क्या आता है ? बहुत से लोगों को ताज़ा और खुशबूदार एहसास होता होगा | पर नींबू की करामात यहीं तक सीमित नहीं है | एक साधारण से नींबू में कई सारे फायदे होते हैं जो कि आपकी सेहत पर एक सकारात्मक प्रभाव डालते हैं |

 

आइये देखते हैं नींबू आपके लिए क्या क्या कर सकता है |

 

नींबू का रस शरीर को क्षारीय बनाता है

 

मानव शरीर के अधिकतर रस और एन्ज़ाइम्स क्षारीय होते हैं और शरीर का मेटाबोलिज्म श्रेष्ट तभी होता है जब उसका भीतरी वातावरण क्षारीय हो | सभी प्रकार का पका हुआ भोजन, मांस, अनाज, इत्यादि उस वातावरण को अम्लीय अथवा एसिडिक बनाते हैं | परन्तु नींबू शरीर में तठस्थता बनाता है क्षारीय और अम्लीय वातावरण के बीच में और यह एक भ्रान्ति है कि नींबू से शरीर और अम्लीय हो जाता है |

 

तो यदि अगली बार आपको बेचैनी महसूस हो रही है या तबियत ठीक नहीं लग रही तो एक दो नीम्बुओं का रस पी जाइये वह भी बिना पानी के, क्यूंकि पानी उसे पतला कर देता है | उसे पीने के बाद आपको अंतर साफ़ स्पष्ट हो जायेगा |

 

नींबू में प्राकृतिक तौर पर विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है |

 

नींबू में प्राकृतिक तौर पर विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है |

 

एक पूरे कच्चे नींबू में विटामिन सी की रोज़ाना ज़रुरत का 139 प्रतिशत विटामिन सी मौजूद होता है | विटामिन सी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को सशक्त करता है और मुक्त मूलकों (फ्री रेडिकल्स ) को तठस्त करता है |

 

नींबू से आपकी त्वचा में चमक आती है

 

विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है और जब इसे इसकी प्राकृतिक अवस्था में खाया जाए या फिर मला जाए तो यह सूर्य की रौशनी और प्रदूषण से रूखी हुई त्वचा को ठीक करता है, झुर्रियां कम करता है और त्वचा को स्वस्थ बनाता है | त्वचा की समर्थन प्रणाली, कोलेजन, को बनाने में कोलेजन की काफी उपयोगिता है |

 

नींबू हमारे शरीर में वसा (आयरन) के समावेश को भी बढ़ाता है

 

यदि आपके शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी है अथवा रक्त कम है तो अपने रोज़ के भोजन में नींबू का थोड़ा सा रस डाल कर खाना शुरू कीजिये, आप शीघ्र ही समस्या से निजात पा लेंगे | आप भोजन के बाद भी नींबू का रस पी सकते हैं | यह आपके लिए काफी बेहतर होगा |

 

 

नींबू ह्रदय, रक्तवाहिका और सांस की परेशानियों से भी मुक्त करता है

 

यदि किसी को अस्थमा है या फिर लगातार खांसी और ज़ुकाम की समस्या रहती है अथवा रक्तचाप से जुड़ी परेशानी है तो नींबू के रस का थोड़ा अधिक सेवन आपकी काफी मदद कर सकता है |

 

दी रीम्स बायोलॉजिकल अईओनाइज़ेशन थ्योरी (आर बी टी आई) के मुताबिक नींबू विश्व के एकलौता ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसके कण (आयन) में नेगेटिव चार्ज होता है | जबकि बाकी और पदार्थों में पोस्टिव चार्ज होता है | जब यह दोनों नेगेटिव और पॉसिटिव चार्ज आपस में मिलते हैं तो उससे हमारी कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती है जिससे हमारा शरीर काफी स्वस्थ रहता है |



सावधान: गौरतलब है की नींबू पानी पीते समय उसमे शक्कर और नमक का प्रयोग अधिक ना करें अन्यथा उसके नुक्सान फायदे से कहीं अधिक होंगे | कोशिश यही होनी चाहिए की नींबू के रस को बिना पानी या किसी और चीज़ में मिलाये ही पी लेना चाहिए

#momhealth #hindi #swasthajeevan
स्वस्थ जीवन

Leave a Comment

Comments (9)



786 786

बिलकुल सही समय पर आया यह लेख!

Ruth

बहुत खूब लिखा गया है

Annu

Nice information...

Supriya Mulay

Exactly Right

Sukhnandan Gadhave

बहुत सुंदर लिखा है भाई

Avinash Kumar

बहुत खूब लिखा गया है

paras jain

Agar sardi aksar bani rehti h tab bhi nimbu ka ras le sakte h kya

Mohini Shrawan Pawar

Garam pani me nibu milakar har roj khali pet pine se kya hoga.

Jaikumar Bholane

इससे मुझे बहुत मदद मिली!

Recommended Articles