गर्भावस्था के दौरान कब्ज के क्या हैं प्राकृतिक उपचार?

cover-image
गर्भावस्था के दौरान कब्ज के क्या हैं प्राकृतिक उपचार?

मल के गुजरते समय दर्द और डर का एहसास है ?

 

इससे पहले कि आप कुछ गोलियों को खाएं, इनमें से कुछ उपायों पर गौर करें और प्राकृतिक उपचारों को जानें :

 

अपने तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं। यह सादे पानी, ताजे फल या फलों के रस के गूदे और फाइबर के साथ (बिना चीनी के), सब्जी सूप, सब्जियों के रस या नारियल पानी के रूप में हो सकता है। यदि आप अधिक सादा पानी नहीं पी सकते हैं, तो इसमें निम्बू निचोड़ें । चाय, कॉफ़ी, शक्कर के पेय, जूस पैक , कोला से सख्ती से बचना चाहिए!

 

 

कच्चे, ताजे फल और सब्जियों के रूप में अपने आहार में अधिक फाइबर जोड़ें। ड्राई फ्रूट्स या भीगे हुए ड्राई फ्रूट्स भी ऊर्जा और फाइबर दोनों के बेहतरीन स्रोत हैं। वास्तव में, 5-10 किशमिश को एक कटोरी पानी में भिगो दें और सुबह उन्हें सबसे पहले खाएं।

 

दही और छाछ जैसे प्रोबायोटिक्स आंत को स्वस्थ रखने और कब्ज को रोकने में सहायता के लिए बहुत फायदेमंद हैं। वे स्वस्थ और उपयोगी बैक्टीरिया होते हैं जो स्वस्थ पाचन को बढ़ावा देते हैं और कब्ज से भी छुटकारा दिलाते हैं। कोशिश करें और हर दिन एक कटोरी दही खाने में शामिल करें। दूध से बचें क्यूंकि यह पचाने के लिए एक जटिल प्रोटीन है!

 

 

आप फाइबर सप्लीमेंट लेने के बारे में अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं, अगर आहार से मिलने वाला फाइबर पर्याप्त नहीं है। हालांकि, वे गैस और सूजन का कारण हो सकते हैं।

 

 

विशेषज्ञ की देखरेख में प्रसवपूर्व व्यायाम और हर रोज 20 मिनट पैदल चलना भी ऐसी चीजें हैं जो मदद कर सकती हैं।

 

यदि आपको अपने फाइबर और पानी का सेवन बढ़ाने के बाद भी मल  त्याग करने में मुश्किल जारी रहती है या, यदि आप मल पास करते समय दर्द या खून बहने का अनुभव करते है, तो दवा के लिए अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

 

यह भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान कब्ज के लिए सुरक्षित आयुर्वेदिक उपचार

 

#babychakratamil
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!